भाभी को चोदकर सहारा दिया

Bhabhi ko chodkar sahara diya

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम प्रिन्स है, मेरी यह पहली स्टोरी है, में लुधियाना पंजाब का रहने वाला हूँ. अब में आपका समय ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ. ये बात 6-7 महीने पहले की है, हमारी गली में एक न्यू कपल शिफ्ट हुआ था. भैया की उम्र 35 साल और भाभी की उम्र 29 साल थी, उन दोनों का नेचर काफ़ी अच्छा था, वो दोनों गली के बच्चों से बहुत प्यार करते थे.

मेरी फेमिली और वो दोनों कुछ ही दिनों में उनकी फेमिली से काफ़ी घुल मिल गये थे. अब उनको कोई भी काम होता तो वो मुझे ही बुलाते थे, उनके कोई बच्चा नहीं था तो भाभी मुझे बड़े प्यार से बुलाती थी. फिर एक बार भैया को उनके काम के सिलसिले से एक हफ्ते के लिए मुंबई जाना था तो भैया ने मुझे भाभी का ध्यान रखने को कहा. तो मैंने उन्हें हाँ में जवाब दिया और कहा कि में भाभी का आपकी तरह ध्यान रखूँगा. अब मेरी यह बात सुनकर वो दोनों हँसने लगे थे, फिर मेरे पूछने पर उन्होंने मेरी बात टाल दी.

फिर अगले दिन में सुबह भैया को ट्रेन में बैठाकर वापस अपने घर आ गया, तो जब दोपहर के 12 बजे थे. फिर मुझे भाभी का कॉल आया कि प्रिन्स ज़रा आना तो, मुझे कुछ काम है. फिर में उनके घर पर चला गया, फिर मैंने देखा तो भाभी के घर का नल टूट गया था और भाभी पूरी भीगी हुई थी, उन्होंने लाईट कलर का सलवार कमीज़ पहना हुआ था और वो बहुत सेक्सी लग रही थी और गीली होने के कारण उनकी अंदर की बॉडी साफ़-साफ़ दिख रही थी. अब मेरी नज़र उनसे हट ही नहीं रही थी, फिर भाभी ने कहा कि क्या हुआ?

मैंने कहा कि कुछ नहीं भाभी. तो भाभी ने कहा कि ज़रा प्लमबर को बुला दो, तो में जाकर प्लमबर को लाया और नल ठीक करवाया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  अमेरिकन भाभी की चुदाई

फिर में वापस जाने लगा तो भाभी ने कहा कि रूको चाय पीकर जाओ. तो मैंने मना कर दिया और कहा कि में चाय नहीं पीता, तो भाभी ने कहा कि दूध पी लो. फिर मैंने आँख मारते हुए कहा कि किसका? क्योंकि बाथरूम के सीन के बाद मेरा नज़रिया काफ़ी बदल चुका था और शायद भाभी का भी नजरिया बदल गया था. फिर भाभी ने नॉटी सी स्माइल दी और कहा कि शाम को आ जाना हम साथ में डिनर करेंगे.

फिर में ओके कहकर रात होने का इंतजार करने लगा. फिर में रात को 8 बजे फ्रेश होकर गया तो भाभी टाईट ट्राउज़र और टी-शर्ट पहने हुई थी, वो क्या सेक्स बॉम्ब लग रही थी. में आपको भाभी का फिगर तो बताना ही भूल गया, भाभी का फिगर 32-28-30 था, जो उन्होंने मुझे बाद में बताया था. फिर भाभी ने मुझे बैठने को कहा और फिर हम बातें करने लगे.

फिर भाभी ने कहा कि डिनर लग गया है आ जाओ. फिर हमने डिनर किया और फिर भाभी ने कहा कि आज रात यहीं रुक जाओ, मुझे अकेले में डर लगता है. फिर मैंने झट से पूछा कि आपके बेबी नहीं है, तो वो दुखी हो गई और कुछ नहीं बोली और रोने लग गई. अब में उन्हें चुप कराने लगा था तो भाभी ने मुझे हग कर लिया और रोने लगी. अब में धीरे-धीरे भाभी की पीठ पर अपना हाथ फैरने लगा था. इतने में भाभी ने मुझे भूखी नज़र से देखा और कहा कि क्या तुम मेरी एक मदद करोगे? तो मैंने कहा कि हाँ भाभी बोलो क्या लाना है? तो उन्होंने कहा कि लाना नहीं है, वो अभी तुम्हारे पास ही है. फिर मैंने सोचते हुए कहा कि क्या भाभी? तो उन्होंने कहा कि बदमाश ये जो पेंट में छुपा रखा है. फिर में चुप रह गया, तो भाभी गिड़गड़ाने लगी कि मुझे बच्चा चाहिए, प्लीज हेल्प मी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  अंजली भाभी की दूसरी सुहागरात

फिर मैंने भाभी से कहा कि भाभी में कैसे? तो उन्होंने कहा कि तुम मेरे साथ अंदर चलो. अब में भाभी के पीछे जा रहा था कि भाभी एकदम से मुड़ी और मुझे खींचकर बेड पर गिरा दिया और मेरे ऊपर आ कर ज़ोर-ज़ोर से किस करने लगी. अब में भी अपने होश खो बैठा और भाभी का साथ देने लगा. अब भाभी पागल हो चुकी थी जैसे किसी भूखे को रोटी मिल गई हो.

फिर भाभी ने मेरी टी-शर्ट उतार दी और मेरी पेंट में अपना हाथ डालकर मेरे 6 इंच लंबे और 3 इंच मोटे लंड को हिलाने लगी और बोली कि ये तो बहुत गर्म है ये मुझे जला देगा. फिर में कुछ बोलता, इतने में भाभी उठी और मेरी पेंट उतारकर मेरा लंड चूसने लगी, वाउ इट वाज़ ए वंडरफुल फिलिंग और कहने लगी कि ये मेरा है में ही इसे ठंडा करूँगी. फिर मैंने भाभी को धीरे-धीरे पूरा नंगा कर दिया, वाउ भाभी अंदर से एकदम गोरी थी.

अब में भाभी के बूब्स मसल रहा था और अपना एक हाथ भाभी की चूत पर ले गया था और अपनी एक उंगली को अंदर बाहर करने लगा था. भाभी की चूत एकदम टाईट थी, अब में आह आह आह आह आह कर-करके चिल्लाने लगा था. फिर भाभी बोली कि प्लीज मेरी चूत चाटो, लेकिन में उन्हें मना कर रहा था, क्योंकि मैंने कभी किया नहीं था. फिर भाभी ने मेरा सिर नीचे किया तो एक अलग सी खुशबू मेरे दिमाग़ पर चढ़ गई. अब में खुद को रोक ना सका और भाभी की चूत को चाटने लगा. भाभी की चूत पहले से ही गीली थी.

अब में ज़ोर-ज़ोर से अपनी जीभ को अंदर बाहर करने लगा था. फिर 10 मिनट में भाभी झड़ गई और फिर से मेरा लंड चूसने लगी. मेरा पहली बार था तो में भी 5 मिनट में ही झड़ गया. फिर भाभी ने फिर से मेरा लंड चूस-चूसकर खड़ा कर दिया और खुद ही अपनी टाँगे फैलाकर लेट गई और बोली कि प्लीज बना दे मुझे माँ. फिर मैंने धीरे से अपना लंड भाभी की चूत पर रखा और एक धक्का मारा तो मेरा लंड फिसल गया. फिर मैंने दुबारा से धक्का मारा तो मेरा लंड फिर से फिसल गया, भाभी की चूत भी टाईट थी और मेरा भी पहली बार था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  रांड भाभी का भोसड़ा

फिर भाभी ने मेरा लंड अपने हाथ में लेकर अपनी चूत पर रखा और धक्का मारने को कहा तो मैंने एक धक्का मारा और अब मेरे लंड का टोपा ही अंदर गया था कि भाभी की आखें फट गई और बोली कि प्लीज निकालो, लेकिन अब मुझे सेक्स चढ़ चुका था. फिर मैंने एक और झटका मारा तो मेरा आधा लंड अंदर चला गया और भाभी ने मुझे कसकर पकड़ लिया और अपने नाख़ून चुभा दिए.

फिर कुछ देर के बाद मैंने एक और झटका मारा तो मेरा पूरा लंड भाभी की चूत के अंदर चला गया. फिर भाभी ने चिल्लाते हुए मुझे 2 मिनट रुकने को कहा और मैंने 2 मिनट के बाद फिर से झटका मारा और तेज-तेज झटके मारने लग गया. अब भाभी पूरा मज़ा ले रही थी, फिर मैंने उस रात भाभी को 2 बार चोदा और सुबह अपने घर चला गया और उस हफ्ते भाभी को रोज सुबह शाम चोदकर आया और आज भाभी 5 महीने पेट से है.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!