क्लब में मिली सेक्सी भाभी से सेक्स-1

(Club me Mili Sexy Bhabhi se Sex-1)

मुझसे चुदने वाली लड़कियां मेरी दीवानी हो जाती थीं. एक दिन क्लब में मिली एक भाभी मुझे अपने घर ले गयी वहां मैंने सेक्सी भाभी से सेक्स किया. ये सब कैसे हुआ? मजा लें.

मेरा नाम बाबू है. मेरी उम्र 25 साल है. मैं भोपाल का रहने वाला हूं. मेरी पढ़ाई पूरी हो चुकी है और मैं जॉब के लिए नोएडा में रहता हूं.

दोस्तो, मुझे जन्म से ही एक बहुत अच्छा गिफ्ट मिला हुआ है. उससे पहले मैं आप लोगों को कुछ और बताना चाहता हूं. मेरी हाइट 5 फीट 11 इंच है. रंग गोरा है. बॉडी स्लिम है.

लड़कियां मुझसे जल्दी ही पट जाती हैं. मुझे नहीं पता मेरे अन्दर उनको ऐसा क्या दिखाई देता है लेकिन जो भी लड़की मेरे संपर्क में आती है वो मेरी दीवानी हो जाती है.

इसका श्रेय मेरे लंड महाराज को जाता है. हां दोस्तो, मेरा लंड मेरी सबसे बड़ी खूबी है. लंड का साइज ऐसा है कि किसी के छेद को भी गुफा बना दे.

अभी तक जिस भी लड़की की चुदाई मैंने की है वो मुझसे बार-बार अपनी चूत चुदाई करवाती है. मैंने कई लड़कियों की चूत को चोदन का अपार सुख दिया है. खुद भी सेक्स का भरपूर मजा लिया है.

अब मैं अपनी आज की कहानी को शुरू करने की इजाजत चाहता हूं. मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को मेरी यह कहानी पसंद आयेगी और इसको पढ़ते हुए सबके लंड व चूतें पानी छोड़ने के लिए मजबूर हो जायेंगे.

मेरे साथ यह घटना पांच-छह महीने पहले ही हुई थी. पढ़ाई पूरी करने के बाद मैं मैं अपने घर पर ही रह रहा था. मेरी गर्लफ्रेंड का नाम सौम्या है. यहां पर मैं असली नाम नहीं बता रहा हूं.

सौम्या का सेक्सी गोरा बदन ऐसा है कि कोई भी उस पर मोहित हो जाये. उसका फीगर किसी भी लड़के को पटाने के लिए एकदम परफेक्ट है. वो मुझसे प्यार करती थी और इसलिए किसी और लड़के को भाव नहीं देती थी.

गर्लफ्रेंड की पहली चुदाई जब मैंने की तो उस दिन के बाद से वो मेरे अलावा किसी को नजर उठा कर भी नहीं देखती थी. कहती थी कि मैं बहुत मस्त चुदाई करता हूं. जब हमने पहली चुदाई की थी तो उस वक्त हमारा सेक्स 15 मिनट तक चला था. इस 15 मिनट के दौरान वो तीन बार झड़ गई थी. कुछ दिन बाद ही उसकी शादी हो गई. अब मैं अकेला हो गया था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  माधुरी के मधुरस का स्वाद-1

फिर मैं भी नोएडा में शिफ्ट हो गया. वहां पर एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करने लगा. मैं पार्टी और मस्ती करने का बहुत शौकीन हूं. इसलिए कभी कभी पार्टी में चला जाता था. क्लब में भी जाना होता था.

एक बार ऐसे ही मैं क्लब में गया हुआ था. वहां पर जाकर मैं ड्रिंक कर रहा था. काफी देर हो गई थी पीते हुए. मुझे भी नशा सा हो रहा था. डांस करने के लिये सोचा मगर कोई पार्टनर तो था नहीं.

फिर मेरी नजर एक कपल पर पड़ी. एक शादीशुदा सेक्सी भाभी अपने पति के साथ बैठ कर ड्रिंक कर रही थी. मैं भी उनके पास ही चला गया. उसके पति ने कुछ ज्यादा ही पी ली थी. उसको बहुत कम होश था और वो टेबल पर सिर रख कर बैठ गया.

भाभी बोली- पार्टी का सारा मजा खराब हो गया. मुझे तो डांस भी करना था.
मौका पाकर मैंने कहा- मेरे पास भी कोई पार्टनर नहीं है, अगर आप चाहो तो मेरे साथ डांस कर सकती हो.

वो भी दारू पी रही थी इसलिए उसको भी नशा चढ़ा हुआ था. वो एक बार कहने पर ही मेरे साथ आकर डांस करने लगी. स्टेज पर जाकर मैंने उसकी कमर में हाथ डाल दिया. उसका फीगर बहुत मस्त था.

मैंने उसकी कमर में हाथ रखा हुआ था और 15 मिनट हो गये थे हमें डांस करते हुए. उसका बदन काफी शेप में था. उसके बदन को छूने से ही मेरे लंड में तनाव आ चुका था.

उसने एक शॉर्ट ड्रेस पहनी हुई थी. मेरी नजर उसके बदन के हर अंग को ताड़ रही थी. अगर वो अकेली होती तो उस भाभी की चूत को वहीं पर चोद देता मैं.

फिर हम लोग स्टेज से नीचे आ गये. वो कहने लगी कि मेरे पति को ज्यादा ही चढ़ गई है. आप हमें कार तक छोड़ दो. मैंने उसकी मदद की और उसके पति को कार तक लेकर गया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी और देवर की एक्सपर्ट चुदाई

कार में बैठाने के बाद मैं मुड़ा ही था कि वो बोली- सुनो यार, मुझे तो गाड़ी चलानी नहीं आती. मेरे पति गाड़ी चलाने की हालत में नहीं है. अगर आप हमें घर तक छोड़ दो तो सही रहेगा.

सेक्सी भाभी के कहने पर मैंने उसकी बात मान ली. मैं उनकी कार को चलाने के लिए राजी हो गया. हम तीनों गाड़ी में बैठ गये. उसके पति को पीछे वाली सीट पर बैठा दिया. वो मेरे बगल में बैठी हुई थी. उसकी जांघें आधी नंगी थीं.

मेरा लंड उसको देख देख कर तना जा रहा था. वो भी मुझे सेक्स भरी नजरों से देख रही थी. रास्ता वो खुद ही बता रही थी और बहाने से मेरे जिस्म को भी ताड़ रही थी.

फिर वो बोली- आपकी शादी हो गयी है क्या?
मैंने कहा- नहीं, अभी तो कुंवारा हूं.
वो बोली- तो कोई गर्लफ्रेंड?

मैंने कहा- अगर गर्लफ्रेंड होती तो मैं क्लब में अकेले क्यों आता?
वो मेरी बात पर मुस्कराते हुए बोली- हां, ये बात भी सही है.
फिर हम दोनों में ऐसे ही कुछ देर यहां-वहां की बातें होती रहीं. कुछ मिनट की ड्राइव के बाद उसका घर आ गया.

उनकी कार को पार्क किया और उसके पति को अपने कंधे पर उठा कर मैं घर के अंदर ले गया.
अंदर लेटा कर मैं वापस जाने लगा.
वो थैंक्स बोलने के लिए मेरे साथ आयी.
वो कहने लगी- रुक जाओ, कुछ खाकर चले जाना.

भाभी के सेक्सी बदन को देख कर मेरा मन भी सेक्सी भाभी से सेक्स करने को बेईमान हो चला था.
मैं बोला- भाभी, मैं रूम पर जाकर खा लूंगा.
वो बोली- आपने इतनी मदद की है. कुछ मदद मुझे भी करने दो.

मैं उसकी बात मान गया. उसके घर के अंदर मैं वापस चला गया.
वो किचन में गयी और फ्रिज से सैंडविच निकाल कर ले आयी. उसने उन पर सॉस लगाई और मेरे सामने परोस दिये.

वो मेरे साथ ही बैठ कर खाने लगी.
फिर बोली- एक बात पूछूं?
मैंने कहा- हां, पूछो.
वो बोली- तुमको मैं कैसी लगती हूं देखने में.

मैंने उसकी चूचियों को घूरते हुए हवस भरी नजरों से देख कर कहा- आपको देख कर मन करता है कि मैं आपको अपनी गर्लफ्रेंड बना लूं.
ये कहते हुए मेरा लंड एकदम से तन गया.
नशा दोनों को ही चढ़ा हुआ था. इसलिए ज्यादा होश नहीं था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Meri Chut Mein Khodne Laga Poori Bhari Bus Mein

ऐसा बोलते ही उसने मेरी जांघों पर हाथ रख दिया. मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखवा दिया. लंड पहले से ही खड़ा था. लंड को छूकर उसके चेहरे पर मुस्कान आ गयी.

बस अब तो सब कुछ अपने आप ही हो जाना था. उसने सैंडविच एक तरफ रखा और मेरी गोद में आकर बैठ गयी. हम दोनों के होंठों को मिलते हुए देर न लगी. सेक्सी भाभी से सेक्स शुरू हो गया था.

दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे. वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.
मैंने कहा- अगर तुम्हारा पति आ गया तो?
वो बोली- उसको ये भी नहीं पता कि वो कहां पड़ा हुआ है.
इतना बोल कर वो फिर से मेरे होंठों को खाने लगी.

मेरे लंड का बुरा हाल हो चुका था. उसकी गांड पर लंड बार-बार उछल कर लग रहा था.
वो बोली- इतनी पसंद हूं क्या मैं तुम्हें?
मैंने कहा- आप तो 20 साल से ज्यादा की लगती ही नहीं हो.
वो अपनी तारीफ सुन कर खुश हो गयी.

वो बोली- तुम मुझे अपनी गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बना लेते?
मैंने कहा- मगर आप तो पहले से ही शादीशुदा हो.
वो बोली- तो क्या हुआ, मेरे पति तो वैसे भी मुझमें ज्यादा इंटरेस्ट नहीं लेते हैं. रोज पीकर आते हैं. कई बार मैं बहुत अकेली हो जाती हूं.

भाभी मेरे लंड पर हाथ फिरा रही थी. चुदासी भाभी की तड़प मैं भी महसूस कर रहा था. हम दोनों के जिस्म गर्म हो चुके थे.
वो बोली- चलो, बेडरूम में चलते हैं.
और वो मुझे अपने बेडरूम में लेकर चली गयी.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!