भाई-बहन की चुदाई

दीदी की झाट वाली चुत- 2

(Didi ki Jhaaton wali Chut- 2)

आपलोगो से अभी तक पढ़ा है कि मम्मी पापा के बाहर घूमने चले जाने पर मैं और मेरी पत्नी बहन मनीषा की कैसे चुदाई की
अब आगे
उस रात हमलोग नंगे ही सो गए अगली सुबह जब मेरी नींद खुली मेरे सामने मनीषा चाय लिए खड़ी नाइटी पहनी हुई थी|
मेरे से नज़र नही मिला पा रही थी मैं पूछा क्या हुआ मनीषा तो वो कुछ नही बोली फिर हमलोग साथ बैठ के चाय पिए |
तभी वो उठ के जाने लगी मैं उसका हाथ पकड़ के बैठा दिया वो बोली नहाने जाना है रात में तुम अपना सारा माल मेरे चूची और बुर पे गिरा दिए थे जो एक दम चिपचिपा हो गया फिर हम दोनों ने साथ में नहाने चले गए मैं उसका नाइटी खोला वो अंदर कुछ नही पहनी थी मेरे सामने उसके बड़े बड़े बूब्स गोरी सी फूली हुई गांड और कसम से वो पागल कर देने वाली गुलाबी चुत जिसकी रात में सील टूट चुकी थी
मैंने देखा की उसके चुत गांड के छेद और साइड में बाल थे।

मैं बोला मनीषा ये सब साफ़ क्यों नही करती वो बोली किसके लिए करती बस मेरे को ही तो देखना था और गांड के बाल तो दिखते भी नही है मैं बोला मेरी जान मेरी चुत वाली रंडी अब तो मैं हु न अब कर लो वो बोली अब तुम्ही कर दो तुमको ही इस्तेमाल करना है मैंने वीट लिया और उसके चुत पे लगा दिया और साफ़ किया मैं बता नही सकता कि मनीषा की बिना झाट के चुत कितनी मस्त लग लग रही चुत के फुले लाल लाल होठ अंदर गुलाबी और क्या महक थी एक दम पागल करने वाली ।

Hindi Sex Story :  घमासान चुदाई का अनुभव- 2

चुत साफ़ करने के बाद मैं मनीषा से बोला मनीषा अब तुम्हारी गांड के बाल साफ़ कर देता हूं वो बोली गांड क्यों चुत से काम है न मैं बोला मेरी बीवी जान मैं तुम्हरा गांड भी मारूँगा। वो नही मैं गांड नही दूंगी मैं बहुत बार अपनी ऊँगली डाली है एक से ज्यादा नही जाता और तुम अपना मोटा सा लौड़ा डालोगे मैं मर ही जाउंगी ।मैं बोला नही धीरे धीरे करूँगा फिर वो ना बोलने लगी मैं बोला अब मैं तुम्हरा पति भी हु तुम्हारे हरएक चीज़ पे मेरा हक़ है वो कुछ नही बोली ।मैं उसको घोड़ी बना दिया एक दम लाल उसके गांड का छेद मन कर रहा था अभी लंड डाल दू मेरा लंड भी खड़ा हो गया था । मैं क्रीम लगा के तुरंत उसका गांड के बाल साफ़ किये ,मनीषा से बोला जान मेरे लंड को अंडरवियर से बाहर निकालो ।वो बैठ के मेरा पैंट खोलने लगी और मैं उसका चूची दबाने लगा वो मेरा लंड निकाल के ऊपर नीचे करने लगी फिर मैं अपना हाथ उसके चुत पे फेरने लगा और वो सिसकियां लेने लगी और मेरे लंड को मुह में लेके गिला करने लगी और मेरा लंड टाइट होते जा रहा था उसका मुह मेरे लंड से पूरा भर गया और मैं अपना दो फिंगर उसके चुत के अंदर बाहर कर रहा था फिर मैं मनीषा को डॉगी बना दिया और अपना मुह उसके गांड मे सटा के जीभ से उसका छेद चाटने लगा और वो मेरे लंड को अपने कोमल हाथो से दबाने लगी।

Hindi Sex Story :  कुंवारे भाई का कुंवारा लंड के मजे मेरी चूत में-3

मैं उसके गांड का पूरा छेद थूक से भर दिया वो बेचैन हो गयी मछली जैसे तड़पने लगी और गांड ऊपर नीचे करके बोलने लगी लगता है मम्मी पापा के आने तुम मेरे चुत का भोसड़ा बना दोगे मेरा गांड फुला दोगे और मैं उतना ही अपना जीभ उसके गांड में अंदर बाहर कर रहा था ।अब मैं अपना लंड उसके गांड के छेद पे रख दिया और धीरे धीरे घुसाने लगा उसको दर्द होने लगा वो चिलाने लगी छोड़ दो बहनचोद गांड मत मारो ।और मैं उसके चुत से निकले पानी को गांड में लगा के घुसाने लगा उसकी गांड एक दम टाइट थी मेरा लंड का बस टोपा अंदर जा रहा था मनीषा के आँख में आंसू आ गए मैंने तुरंत गांड से लंड निकाल के चुत में घुसा दिया वो आहे भरने लगी डॉगी स्टाइल में ही चोदने लगा और एक हाथ से उसके एक दम टाइट हो चुके चूची को दबा रहा था और एक से उसका मुलायम चुत सहला रहा था ताकि उसको दर्द न हो और वो आह आह आह आह आह आह चोदो चोदो चुत फाड़ दो बोले जा रही थी 20 मिनट तक अंदर बाहर करते रहने से हमदोनो पसीना से भीग गये मुझे लगा मेरा माल बाहर निकलने वाला मैं अपना लंड का टोपा उसके गांड में डाल के सारा माल गिरा दिया । मनीषा थक के वही लेट गयी मैं भी उसके ऊपर ही लेट गया।

कुछ देर वैसे ही रहने के बाद हम दोनों उठे और नहाने लगे नहाने के बाद मनीषा बोली की जब तक घर में कोई नही है खाना हम बहार से आर्डर करके खाएंगे और मेरा कपडा तुम और तुम्हरा मैं पहनूँगी । फिर मैं उसका पैंटी पहना जिससे मेरा लंड एक दम दब गया था फिर ब्रा लेंग्गिस कुर्ती सब मैं पहन लिया और वो मेरा निकर और टी शर्ट पहन ली । निकर में उसके गांड का शेप पूरा दिख रहा है।
दोस्तों अगर मेरे बहन की नार्मल फोटो चाहिए तो मुझे [email protected] पे मेल या hangouts करे।
धन्याबाद ।