दोस्त की बीवी बच्चे की चाहत में चुदी-2

Dost ki biwi bacche ki chahat me chudi-2

फिर एक दिन ऐसा हुआ कि मेरा दोस्त ऑफिस की तरफ से दो दिन के लिए टूर पर चला गया. उसने जाते समय मुझसे कहा कि यार मेरे घर पर तेरी भाभी अकेली है … उसका ख्याल रखना.
मैंने ओके कहा.

दोस्त चला गया तो मैंने भाभी को फोन किया.
कुछ देर बात हुई, तब मैंने कहा- आपके पतिदेव मुझसे आपका ख्याल रखने का कह गए हैं. मेरी कोई जरूरत हो तो बताओ.
भाभी बोली- हां मुझे आपकी जरूरत है … आज रात को मेरे घर आ जाना.
मैंने कहा- आज कोई ख़ास काम करवाना है क्या?
भाभी बोली- जब तुम्हें सब मालूम है, तो क्यों पूछ रहे हो.

मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा था कि x bhabh मुझे रात को अपने घर में बुला रही है.

मैं रात को मोटरसाइकिल से भाभी के घर पहुंचा और घर के बाहर ही रुककर उसे कॉल किया.
भाभी ने मुझसे कुछ देर के बाद आने का बोला. उस समय रात को दस बज रहे थे.

एक घंटे बाद मैंने फिर से फोन किया, तो भाभी बोली- दरवाजा खोल रही हूँ. फिर फोन करूंगी … तुम बिना शोर किये अन्दर आ जाना.

मैंने ओके कहा और उसके घर से कुछ दूर अपनी बाइक को एक जगह टिका दिया.
उसी के बाद कुछ देर बाद भाभी ने दरवाजा खोल कर मुझे कॉल किया कि आ जाओ … मैंने दरवाजा खुला छोड़ दिया है.

मैं बाइक को बिना स्टार्ट किये खींचता हुआ इधर उधर देखता हुआ उसके घर के बाहर आ गया. दरवाजा खुला हुआ था. मैंने बाइक को अन्दर करके दरवाजा बंद कर दिया. आस पास एकदम सन्नाटा था शायद मुहल्ले सब लोग सब सो गए थे.

मैं भाभी के घर में जाकर सीधा उसके बाथरूम में घुस गया और हाथ मुँह धोकर भाभी के रूम में आ गया.

भाभी लाल रंग के गाउन में  devar bhabhi porn video की तरह बहुत सुंदर लग रही थी. मैं उसके करीब गया और उसको किस करने लगा. भाभी मुझे सहयोग करने लगी.

मैंने उसके गाउन को उतार दिया. अब मेरे सामने भाभी रेड कलर की ब्रा और पैंटी में थी. मैं उसे किस करते हुए मजा ले रहा था. साथ ही मैं उसके मम्मों को भी दबा रहा था.

भाभी भी मुझे किस करने में साथ देने लगी थी. मैंने इशारा किया, तो भाभी मेरी शर्ट की बटन खोलने लगी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बर्थडे पर भाभी ने अपनी चूत गिफ्ट दी- 2

मैंने अपनी शर्ट और पैंट को उतार कर बाजू सोफे पर फेंक दिया. इसके बाद मैंने भाभी को बिस्तर पर चित लेटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया. मैं भाभी के दूधिया मम्मों को दबाने लगा. उसका एक हाथ अपने हाथ से पकड़ कर अपने अंडरवियर के अन्दर डाल दिया.

भाभी मेरे लंड को सहलाने लगी.

फिर मैंने भाभी और अपने सारे कपड़े उतार दिए. अब हम दोनों नंगे हो गए थे. मैं भाभी की चूचियों को चूसने लगा और हल्के हल्के से दांतों से काटने लगा. भाभी मस्त होकर मेरे बालों पर हाथ फेरते हुए कुछ बड़बड़ा रही थी.

भाभी- आह जल्दी डालो जी … मुझे बच्चे के लिए चुदना है.
‘हां मेरे लंड से ही तुझे बच्चा मिलेगा.’

मैं उसकी बात का जवाब देते हुए धीरे से नीचे आ गया और उसके पेट पर sex video bhabhi devar के जैसे किस करते हुए उसकी चूत तक पहुंच गया. मैंने भाभी की टांगों को खोला और चूत को किस किया. साथ ही चुत के आस पास के इलाके को किस किया.

इससे भाभी एकदम से गरमा गई और मादक सिसकारियां लेने लगी. उसने एक हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया और कहा- तुम्हारा तो मेरे पति के लंड से डबल है … मुझे इसका स्वाद लेना है.

उसकी बात सुनकर मैंने  69 की अवस्था ले ली. हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए. अब ileana sexy भाभी मेरा लंड चूस रही थी … और मैं उसकी चूत को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा था.

भाभी ने चुत को चूसने से मना कर दिया … तो मैंने एक उंगली को उसकी चूत में डाल दिया और अन्दर बाहर करने लगा.

भाभी- आह xxx devar अब मत तड़पाओ … जल्दी से मेरी चूत में अपना लंड डाल दो.

मैं सीधा हो गया और मैंने अपना लंड एक बार भाभी के मुँह में डाल दिया और कहा कि इसको चिकना कर दो.

भाभी मेरा लंड चूसने लगी.

वो लंड ऐसे चूस रही थी … मानो बहुत भूखी हो.

कुछ पल बाद मैं भाभी के ऊपर आ गया और उसके चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगा दिया. भाभी ने अपने पैर फैला दिए. इससे उसकी चुत एकदम से किसी फूले पाव की तरह ऊपर उठ गई. मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रख कर धक्का लगाया. मेरा लंड चूत में नहीं जा सका. क्योंकि भाभी की bhabhi ke chudai चूत बहुत टाइट थी और बहुत गीली हो गई थी. लंड फिसल कर बगल में चला था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी को दोस्त बनाकर चोदा

इसके बाद भाभी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत में सैट किया और आंखों से इशारा किया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

तो मैंने जोर लगाया और लंड को अन्दर पेल दिया. उसी पल मैंने भाभी के होंठों पर अपने होंठ जमा दिए और उसको किस करने लगा. भाभी को लंड घुसने से दर्द हो रहा था वो चिल्लाना चाहती थी लेकिन मेरे होंठों के ढक्कन के होने से वो चिल्ला न सकी.

कुछ पल बाद मैंने होंठों को हटाया, तो बोली- रुक जाओ … मुझे दर्द हो रहा है. जरा आराम से करो.

मैंने ओके कहा और अब मैं धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

कुछ ही देर में चिकनाई हो जाने से लंड मस्ती से चुत में सटासट जाने लगा. अब भाभी भी पूरा जोश में आ गई थी. वो अपने चूतड़ों को ino porn ऊपर उठा उठा कर चुद रही थी.

मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और चुदाई चलने लगी.

कोई दस मिनट चुत चोदने के बाद मैंने भाभी को अपने ऊपर आने को कहा. उसे ओके कहा तो मैं नीचे लेट गया.

भाभी मेरे ऊपर चढ़ कर मेरे लंड को अपने चूत में से डालने लगी और बोली कि तुम्हारा दोस्त तो मुझे दो मिनट से ज्यादा ही नहीं चोद पाता है.

वो लंड चुत में लेकर hindi bhabhi ki chudai video के जैसे ऊपर नीचे होने लगी. मैं भाभी की चूचियों को दबा रहा था.

कुछ देर बाद भाभी की चूत से पानी निकलने लगा और वो मेरे ऊपर ही लेट गई.

पांच मिनट बाद मैं पलंग से नीचे उतरा और भाभी को भी पलंग के कोने में खींच लिया. इधर लाकर मैंने उसकी दोनों टांगों को ऊपर उठाया और उसकी चूत में लंड डाल कर तेजी से चोदने लगा.

थोड़ी देर चोदने के बाद मैंने भाभी को घोड़ी बना कर चोदा. इस तरह आधा घंटा बाद भाभी को मैंने फिर लेटा दिया और desi fuk करने लगा.

भाभी अब तक तीन बार गरम होकर ठंडी हो चुकी थी.

मैंने भाभी से कहा- मेरा होने वाला है … किधर निकालूं?
भाभी बोली- मेरी चूत में ही डाल दो … क्योंकि मुझे बच्चा चाहिए.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी नैनीताल वाली दीदी की चुदाई-4

मैंने भाभी की चूत को अपने वीर्य से भर दिया. भाभी ने मुझे अपनी बांहों में कसकर पकड़ लिया और chudai bhabi भी झड़ गई.

उस रात मैंने भाभी के साथ रात भर चुदाई की.

सुबह पांच बजे मैं भाभी के घर से निकलने को तैयार हो गया. भाभी ने दरवाजा खोल कर देखा, तो आस पास के लोग कोई नहीं उठे थे. मैं बाइक लेकर अपने घर आ गया. घर आकर मैंने भाभी को फोन किया.

वो कहने लगी कि मेरी टांगों में और बाकी शरीर में बहुत दर्द हो रहा है.
मैं बोला- आज आप आराम करो.

उस दिन ग्यारह बजे के करीब उसकी सास और ससुर घर आ गए.
उसकी सास ने भाभी की मालिश की, तब जाकर उसका दर्द कम हुआ.

अब भाभी मुझसे रोज बात करती थी. हम दोनों को जब भी मौका मिलता, bhabhi and devar sexy video वाली खूब चुदाई करते थे.

अब भाभी को मैं ही हॉस्पिटल ले जाता हूं. मुझे उसका पति अपनी बीवी को हॉस्पिटल ले जाने के लिए बुलाता है.

हम दोनों ने हॉस्पिटल जाने के बहाने होटल के रूम में भी जाकर खूब चुदाई की. जब मेरा दोस्त घर नहीं होता, तब मैंने भाभी के घर रात को भी रुक कर उसको चोदता था.

कुछ दिन बाद तो ऐसा हुआ कि मेरे दोस्त के घर रहते हुए ही मैं bihari ki chudai करने लगा था. मेरा दोस्त बहुत ज्यादा ड्रिंक करता था और नशे में धुत होकर सो जाता था. रात को जब वो सो जाता था, तो हम दोनों दूसरे कमरे में आकर चुदाई कर लेते थे.

एक दिन भाभी की मां आयी थी. उस रात को भाभी और मैं चुदाई कर रहे थे, तो ये उसकी मां ने देख लिया.

फिर क्या हुआ, मैं बाद में बताऊंगा. भाभी अभी प्रेगनेंट हो गई है. दोस्तों मेरी सेक्स कहानी बहुत लंबी है … पर एकदम सच्ची है. आपको मेरी भाभी की चुदाई की कहानी कैसी लगी … मेल करके जरूर बताएं धन्यवाद.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!