दोस्त की माँ को दोनों ने ठोका-4

Dost ki maa ko dono ne thoka-4

मैंने उससे कहा कि तुम इसको देखकर घबराओ मत, क्योंकि अमित भी तुमको बहुत चाहता है, लेकिन कहने से बहुत डरता है उसको ऐसा कोई मौका नहीं मिल रहा था और इतने में अमित भी आगे बढ़कर अब उसकी मम्मी के बूब्स को दबाने निचोड़ने लगा था, जिसकी वजह से अब तो आंटी और भी ज्यादा सेक्स के नशे में आ गयी थी, क्योंकि आज से उनको दो दो लंड का मज़ा जो मिलने वाला था. अब अमित ने भी जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए और में नेहा की चूत को चाट रहा था और अमित उसके बूब्स को चूस रहा था और दोनों निप्पल को बारी बारी से मुहं में ले रहा था. अमित का लंड मेरे लंड से आकार में बहुत छोटा था.

अब नेहा मेरा और अमित दोनों के लंड को एक एक करके चूसने लगी, इतने में अमित ने मेरा लंड पकड़कर अपने मुहं में डाल लिया और वो मेरा लंड चूसने लगा, उसको भी मेरा लंड पसंद आ गया और अब हम तीनो ट्राइंगल में हो गये थे, में नेहा की चूत को चाट रहा था. फिर नेहा अमित का लंड चाट चूस रही थी और अमित मेरा लंड चूस चाट रहा था.

थोड़ी देर बाद मैंने मेरा लंड नेहा की चूत में डाल दिया. पहले तो मैंने उसको सीधा लेटा दिया और अमित उसके बूब्स को दबाने चूसने लगा और मैंने अपने लंड को चूत के मुहं पर सेट किया और धीरे से धक्का देकर टोपा अंदर डाल दिया तो नेहा के मुहं से आवाज़ निकल गयी उईईईईईई माँ अहह्ह्ह्हह उसकी आवाज को सुनकर अमित ने तुरंत अपने लंड को नेहा के मुहं में डालकर उसका मुहं बंद कर दिया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीपावली पर आंटी ने गुजिया खिलाई-1

उसके बाद नेहा ने मेरा लंड अपने एक हाथ से पकड़कर अपने कूल्हों को उठाकर लंड की तरफ दबा दिया और पूरा लंड चूत में डाल दिया. अब में अपने लंड को आगे पीछे करने लगा और अमित का लंड अभी भी नेहा के मुहं में ही था और नेहा अब नीचे से अपनी चूत में मेरे लंड का मज़ा ले रही थी तो ऊपर से अमित अपना लंड उसके मुहं में डालकर अब हल्के हल्के धक्के देकर उसको चोदने लगा था. आज उसको एक साथ दो लंड का मज़ा और चुदाई का पूरा आनंद मिल रहा था, जिसको पाकर वो मन ही मन बहुत खुश थी.

फिर में खड़ा होकर अपना लंड नेहा की गांड में डालने की कोशिश करने लगा, लेकिन उसकी गांड का छेद छोटा था, इसलिए वो हिलने लगी जिसकी वजह से मेरा लंड हर बार फिसलकर अपनी जगह से हट गया.

नेहा ने मुझसे कहा आईईईइ माँ उफफ्फ्फ्फ़ क्या तुम आज मेरी जान ही निकाल दोगे, मुझे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज में मर जाउंगी तुम पहले इस पर थोड़ा सा तेल लगाओ और उसके बाद अंदर डालना. फिर मैंने नेहा के कहने पर अपने लंड पर थोड़ा सा तेल लगा लिया और फिर नेहा की गांड के छेद पर भी मैंने तेल लगाया और ज़ोर से धक्का दिया, जिसकी वजह से अब नेहा बहुत ज़ोर से चिल्ला पड़ी आह्ह्हह्ह उफफ्फ्फ्फ़ में मर गई, फाड़ डाली मेरी गांड ओह्ह्ह्हह.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब में बेड पर सीधा लेट गया और मेरे ऊपर नेहा भी उसी तरह अपनी गांड में मेरा लंड डालकर लेट गयी. में अब भी धीरे धीरे धक्का लगा रहा था. तभी अमित आया और उसने अपना लंड नेहा की चूत में डाल दिया, जिसकी वजह से नेहा तो बहुत मज़े में आ गई क्योंकि अब एक लंड उसकी गांड में था और एक लंड उसकी चूत में था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Dost Ki Maa Ko Sex Punishment-3

कुछ धक्के देने के बाद कुछ ही देर बाद अमित ने अपना सफेद दही उसकी चूत के अंदर ही निकाल दिया. तभी नेहा ने उससे कहा कि तुम तो बहुत ढीले हो, दस मिनट भी नहीं झेल पाए और अब अमित लंड को बाहर निकालकर कमरे से बाहर चला गया और मैंने अपना पूरा 6 इंच का लंड पूरा का पूरा नेहा की चूत में डाल दिया, वो अब अजीब आवाज़े निकाल रही थी और में उसकी जमकर चुदाई कर रहा था. अब वो मुझसे बोल रही थी हाँ और ज़ोर से चोद मुझे अह्ह्ह्हह मेरे राजा आईईईइ आज तू तेरा पूरा लंड मेरी चूत में डाल दे उफफ्फ्फ्फ़ मुझे बहुत मज़ा आ रहा है, तू आज मेरा पूरा बदन मसल दे, वाह तुझमे बहुत दम है वाह मज़ा आ गया.

फिर करीब आधे घंटे तक मैंने उसकी चुदाई के मज़े लिए और तभी वो झड़ गयी. उसकी चूत से सफेद रंग का पानी निकल गया. फिर भी में तो लगातार धक्के देकर उसकी चुदाई करता ही जा रहा था. मैंने पूरे एक घंटे तक उसकी अगल अलग तरीकों से चुदाई के मज़े लिए और उसके बाद मेरे लंड से भी सफेद रंग का चिकना दही बाहर निकल गया और मैंने अपना वो पूरा दही अपने लंड को उसके मुहं में डालकर वीर्य को उसके मुहं में निकाल दिया और वो पूरा दही पी गयी.

उसने मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटकर चमका दिया और उसको मेरे साथ यह सभी काम करने में बहुत मज़ा आया. अब नेहा ने मुझसे कहा कि इतना मज़ा तो मुझे अमित के पापा से कभी नहीं आया, तुमने तो मुझे स्वर्ग की सेर करवा दी, तुम्हारे लंड में बहुत दम और शरीर में बहुत जोश है, तुम्हे चोदना बहुत अच्छे से आता है तुम इस काम में बहुत अनुभवी लगते हो में दोबारा भी तुमसे चुदवाने के लिए हमेशा तैयार रहूंगी, बस तुम मुझे बता देना में कभी भी तुमसे मना नहीं करूंगी और तुम मुझे कभी भी आकर चोद सकते हो.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Dost Ki Maa Ki Aggressive Chudai-1

दोस्तों उस पहली चुदाई के बाद अब हम जब भी हमे सही वक़्त मिलता है अमित में और उसकी मम्मी चुदाई करते है और सेक्स के पूरे मजे लेते है. मैंने अब तक नेहा आंटी की चूत उनकी गांड को चोद चोदकर बड़ा कर दिया है अब वो लंड लेने पर पहली चुदाई जितना चिल्लाती नहीं है, बस वो हमारे साथ अपनी चुदाई का सुख मजा लेती है.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!