दोस्त की नई प्यासी दुल्हन की चुदाई-3

Dost ki Nai payasi dulhan ki chudai-3

उसके बाद वापस उसको लाकर मैंने बेड पर लेटा दिया और तब हम दोनों थोड़ी देर तक ऐसे ही पूरे नंगे लेटे रहे और थोड़ी देर के बाद मैंने उसको चूमना चाटना और सहलाना शुरू कर दिया, जिसकी वजह से कुछ ही मिनट में वो भी दोबारा से जोश में आकर गरम होकर तैयार हो गई. अब हम दोनों एक बार फिर से 69 की पोज़िशन में आ गये और वो थोड़ी ही देर बाद झड़ गई तो मैंने अब उसको डॉगी स्टाइल में बैठाकर चोदना शुरू कर दिया.

दोस्तों मैंने इस बार एक ही धक्के में अपना पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया तो उसके मुहं से ज़ोर से चीख निकल गई आईईईईईइ माँ मार डाला देव, में मर गई ऊऊइईई मार डाला. अब मैंने उसके दर्द पर बिल्कुल भी ध्यान ना देकर उसके बूब्स को कसकर पकड़ा और में ज़ोर ज़ोर से अपनी तरफ से उसको धक्के मारने लगा जिसकी वजह से कुछ देर बाद उसको भी मज़ा आने लगा था. फिर करीब 15 मिनट तक वैसे ही धक्के देकर उसको चोदने के बाद मैंने तुरंत ही उसकी चूत से अपने लंड को बाहर निकालकर उसकी गांड में अपना लंड जबरदस्ती डाल दिया और उस काम को करने में मुझे बहुत मेहनत करनी पड़ी.

फिर वो अब दर्द की वजह से ज़ोर से चीख पड़ी आईईईईई ऊफफ्फ्फ्फ़ आह्ह्ह्हह्ह माँ तुमने आज मुझे मार ही डाला, में मर गई प्लीज़ देव अब तुम इसको वापस बाहर निकालो, चाहो तुम दोबारा मेरी चूत में अपना लंड डाल दो, लेकिन इससे बाहर निकालो, वरना आज में मर ही जाउंगी, क्योंकि मैंने इससे पहले कभी गांड में लंड नहीं लिया, इसलिए मुझे ज्यादा दर्द हो रहा है प्लीज अब बस भी करो.

दोस्तों मैंने उसकी एक भी बात ना सुनी और में उसके दोनों कूल्हों पर अपनी मजबूत पकड़ को बनाए हुए लगातार वैसे ही धक्के मारता ही गया और मुझे ऐसा करने में बड़ा मज़ा आ रहा था और थोड़ी ही देर में वो धीरे धीरे शांत होती चली गई.

मैंने उससे पूछा कि तुम्हे अब कैसा महसूस हो रहा है? तब उसने कहा कि पहले मुझे बड़ा दर्द हुआ, लेकिन अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा है आज तुमने मुझे इस चुदाई से पूरी तरह संतुष्ट कर दिया है और ऐसा सुख मुझे आज पहली बार मिल रहा है. तुम्हारे लंड में बहुत ताकत है और यह बहुत देर तक टिका रहकर धक्के देकर बड़ा मज़ा देता है और मेरे पति तो कुछ देर धक्के देकर झड़ने के बाद मुझे प्यासी ही छोड़कर सो जाते है, उन्होंने मुझे ऐसा चुदाई का सुख कभी नहीं दिया. मुझे तुम्हारे जैसे दमदार लंड की कब से तलाश थी जो आज पूरी हो चुकी है.

अब तुम ही मेरी चूत के राजा और मेरे इस जिस्म के असली मालिक हो, में तुमसे हमेशा ही ऐसी चुदाई की उम्मीद करती हूँ, प्लीज मुझे तुम हमेशा ऐसे ही खुश रखना और में तुम्हे अपनी चुदाई के लिए कभी भी मना नहीं करूंगी. दोस्तों इस तरह से मैंने उसको पूरी तरह से खुश करके उसकी गांड और चूत दोनों में अपने लंड को डालकर चुदाई के पूरे मज़े लिए और फिर मेरे लंड का पूरा वीर्य एक बार फिर से मैंने उसकी चूत में ही निकाल दिया, जिसकी वजह से बड़ी खुश नजर आने लगी और में उसको देखकर मन ही मन बड़ा खुश था.

दोस्तों इस तरह से मैंने उसको उस रात में रुक रुककर करीब चार बार चोदा और दो बार मैंने उसकी गांड भी मारी और सुबह फिर से उसने मेरे लंड को चूसकर कुछ देर मेहनत करके खड़ा किया. उसके बाद वो मेरे ऊपर चढकर मेरे लंड को अपनी चूत के अंदर ले लिया, लेकिन मैंने देखा कि वो अब ठीक से अंदर ले नहीं पा रही थी क्योंकि उसको अब भी थोड़ा थोड़ा सा दर्द हो रहा था. फिर जब उसने पूरा नीचे बैठकर लंड को अपनी चूत के अंदर ले लिया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

तब मैंने नीचे से ही उसकी चूत पर धक्के लगाने शुरू कर दिए थे और वो सिसकियाँ लेते हुए कह रही थी ईईसस्स्स्सस्स वाह क्या लंड है देव, मज़ा आ गया काश तुम मुझे पहले मिले होते और मैंने तुमसे ही शादी की होती तो मुझे जीने का असली मज़ा तब आता ऊऊईईईईइ आह्ह्ह्ह मार डाला देव हाँ तुम और ज़ोर से धक्के देकर चोदो, तुम मुझे हाँ पूरा अंदर तक जाने दो और इस तरह से धक्के देकर चोदते चोदते मैंने अपना वीर्य उसकी चूत में ही डाल दिया और उसके कुछ देर बाद वो उठकर चली गई.

अब वो रसोई में जाकर हम दोनों के लिए खाना बना रही थी तब मैंने जाकर उसको दोबारा पूरा नंगा कर दिया. उसके बाद किचन स्टॅंड पर बैठा दिया और उसके दोनों पैरों को मैंने अपने कंधे पर रख लिया और फिर मैंने उसकी चूत में अपना पूरा लंड डाल दिया, वहीं पर करीब 30-40 मिनट लगातार धक्के देकर उसकी चुदाई करने के बाद हम दोनों अलग हुए और में बाथरूम में चला गया फ्रेश होकर बाहर आ गया और अब हम दोनों ने साथ में बैठकर एक ब्लूफिल्म देखी और चुदाई दूसरे नये तरीके भी सीखे और फिर हम दोनों ने उसके बाद पूरे दिनभर में करीब 6-7 बार वैसे ही जमकर चुदाई के मज़े लिए.

फिर तब वो मुझसे बोली कि आज तुमने मुझे वो चुदाई का मज़ा दिया है, जिसके सपने मैंने बचपन से देखे थे. में हमेशा ही ऐसे ही मज़े अपने पति से चाहती थी, लेकिन मेरी किस्मत खराब निकली, लेकिन अब मुझे अब तुम मिल गए हो इसलिए मुझे वो सब कुछ मिल गया है, देव में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ और तुम बहुत अच्छे हो तुम हमेशा मेरी यह इच्छा ऐसे ही पूरी करते रहना और मैंने उसको हाँ कहा, जिससे वो खुश होकर मुझे अपने गले लगाकर चूमने लगी थी.

दोस्तों इस तरह से मैंने उसको करीब दस दिन तक लगातार जमकर चोदा मैंने उसकी चुदाई के बड़े मज़े लिए जिसमें उसने मेरा हमेशा पूरा पूरा साथ दिया और हम दोनों एक दूसरे का साथ पाकर बहुत खुश थे, लेकिन उसके बाद एक दिन मेरा वो दोस्त भी आ गया, इसलिए में अपने घर आ गया और उसके बाद हम दोनों को जब भी कोई अच्छा मौका मिलता हम दोनों चुदाई करने से नहीं चूकते थे. यह काम हम दोनों ने बहुत बार मौका पाकर किया. में हर बार उसको एक अलग तरह से चुदाई के मज़े देता रहा और वो मुझसे हमेशा खुश होती रही.