दोस्त ने माँ को चूतिया बनाकर चोदा-1

Dost ne ma ko chutiya banakar choda-1

हैल्लो दोस्तों में रेहान आप सभी के चाहने वालों लिए एक जबरदस्त सच्ची घटना, जिसमे मेरी माँ की चूत और गांड चोदी गई. मेरे घर पर में, पापा और माँ रहती है. पापा का बिजनेस है और मेरी माँ ग्रहणी है और में कॉलेज के पहले साल में हूँ. मेरी माँ की उम्र 40 है और वो बहुत मस्त लगती है.

माँ के बड़े बड़े बूब्स है और पीछे मस्त गांड, सच बताऊँ तो मेरे पापा बहुत किस्मत वाले होंगे जो मेरी माँ जैसा माल उन्हें चोदने को मिला. पापा ने हाल ही में तीन महीने पहले हम सबको दिल्ली में भेज दिया और दिल्ली आने के बाद मेरी माँ का जीने का तरीका बिल्कुल बदल गया था. उनकी अब किसी से कोई बातचित नहीं होती थी और माँ पूरे दिन भर घर में बोर होते रहती थी, लेकिन मेरा दिल्ली में एकदम सही टाइम-पास चल रहा था.

मैंने एक कोचिंग में एड्मिशन ले लिया और में दिन भर घर में रहता था और मौका मिलने पर माँ को बाथरूम में नंगा नहाते हुये भी देखा करता था और मुठ मारता था. साला मेरी गांड में दम ही नहीं था जो में अपनी माँ को सेक्स के लिए तैयार करूं. दोस्तों दिल्ली में मेरा एक बचपन का दोस्त भी अपनी पढ़ाई करने आया हुआ था. वो बचपन में बहुत सीधा-साधा लड़का था, लेकिन दिल्ली आकर वो साला बहुत हरामी हो गया था.

फिर मैंने उसे एक दिन अपने घर पर बुलाया और मेरी माँ उस वक़्त बाथरूम में नहा रही थी और इस बीच मेरा दोस्त कुनाल और में आपस में बचपन की बकचोदियाँ याद कर रहे थे. फिर उससे मैंने पूछा कि दिल्ली आकर तू तो साले बहुत हरामी हो गया है, अब तक तूने कितनी लड़कियों को चोदा? वो बोला कि भाई पूछ मत यहाँ तो बस चुदाई ही चुदाई चल रही है, एक से एक अच्छी माल को में चोद चुका हूँ. बस यार एक आंटी को चोदना बाकी रह गया है, तो मैंने उससे पूछा कि साले तू इतना बड़ा हरामी कैसे बन गया? वो बोला कि बस पूछ मत भाई एक बार चूत का नशा लग जाए फिर पूछ मत, अब बस यार एक आंटी को और बजाना है. अब में बोला कि बेटे इतना आसान नहीं है, किसी आंटी को चोदना बहुत मुश्किल काम है. कुनाल अरे यार तू बस देखता जा, में जल्द ही एक आंटी की चुदाई जरुर करूँगा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मां बेटा चुदाई

फिर उसने मुझसे पूछा कि क्यों तेरा कहीं चक्कर तो नहीं चल रहा? तो मैंने कहा कि नहीं यार बस मुझे भी चोदने के लिए एक आंटी पसंद है, लेकिन में साला कैसे मामला सेट करूं, समझ में ही नहीं आ रहा? वो बोला कि तू घबरा मत, अब तेरा भाई आ गया है सब सेट हो जाएगा और तब तक मेरी माँ बाथरूम से बाहर निकली, वो बस अपनी साड़ी पहनी हुई थी और उसी से अपने बूब्स को ढकी हुई थी और वो भी आधे बाहर ही निकले हुए थे. माँ को पता नहीं था कि कुनाल उस समय घर पर आया हुआ है. फिर कुनाल ने माँ को नमस्ते कहा और माँ उसका जवाब देते हुए घबराते हुए अपने बेडरूम में चली गयी और थोड़ी देर बाद कुनाल घर से चला गया.

फिर उसने रात को मुझे कॉल किया और कहा कि यार जब से तेरी माँ को देखा है मुझे नींद नहीं आ रही है. दोस्तों में पहले बहुत गुस्सा हुआ, लेकिन फिर मैंने कंट्रोल किया और सोचा कि कुनाल ही एक ऐसा रास्ता है जो मुझे मेरी माँ के साथ सेक्स करने का सपना पूरा कराएगा. फिर कुछ देर बाद मैंने कुनाल से कहा कि यही तेरी वो आंटी होगी क्या? तो कुनाल ने खुश होते हुए कहा कि भाई अगर तू मेरी मदद करे तो पक्का हो जाएगी. फिर मैंने कुनाल से कहा कि भाई मुझे भी इसे ही चोदना है.

कुनाल ने बहुत हैरान होते हुआ कहा कि साला तू मादारचोद बनेगा ही सही. फिर अगले दिन कुनाल आया और हम दोनों अपने मिशन को पूरा करने के बारे में सोचने लगे और मैंने कुनाल को सारी बातें बता दी कि माँ का यहाँ कोई पहचान वाला नहीं है, जिसकी वजह से माँ दिन भर बोर होती रहती है. फिर कुनाल बोला कि बेटा यही सही मौका है तेरी माँ की दोनों गेंदो पर में अब पक्का चौका मारूँगा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  हॉस्पिटल में सेक्स किया बुआ के साथ

फिर कुनाल अगले दिन से मेरे घर पर आने लगा और वो बहुत ही जल्दी माँ के साथ घुल मिल गया. उसने माँ की बहुत मदद की और फिर उसने माँ से पूछा कि आंटी आप यहाँ दिल्ली में रहती हो, लेकिन फिर भी बहुत शांत रहती हो, यहाँ की औरतों की लाइफ बहुत मस्त है और आप भी उनकी तरह रहो. आप दिखने में भी इतनी सुंदर हो कुछ नहीं तो फोटो शूट करवाओ. माँ क्या मतलब फोटो शूट? कुनाल हाँ आंटी में बहुत अच्छा फोटोग्राफर हूँ और आप एकदम सेक्सी लगोगी, अंकल देखेंगे तो चकरा ही जाएँगे.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर माँ पहले थोड़ा घबराई, लेकिन थोड़ी देर बाद मान गई और कुनाल को कल के लिए हाँ कर दिया और फिर कुनाल बोला कि आंटी में कल अपने केमरे के साथ आ जाऊंगा और आपके लिए एकदम मस्त मस्त हॉट वाले कपड़े भी ले आऊंगा. फिर वो बोली पागला कहीं का और हंसने लगी हाहाहा ठीक है कल मिलती हूँ. अब कुनाल ने मुझसे बोला कि कल तू माँ को बोलना कि घर से बाहर जा रहा हूँ, लेकिन तू जाना मत और घर में ही छुपा रहना और अपनी माँ की चुदाई देखना.

फिर अगले दिन मैंने माँ से बोला कि में बाहर जा रहा हूँ शाम को घर आऊंगा और यह बोलकर मैंने दरवाजा बंद करने की आवाज़ की और जल्दी से माँ के बेड के नीचे छुप गया. तभी दस मिनट में कुनाल आ गया और कुनाल को देखकर माँ बहुत खुश हो गयी. कुनाल ने माँ को फटाफट तैयार होने के लिए बोला और उसने माँ को नहाने के लिए बोला.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  चाची के साथ भाभी की चूत चुदाई

फिर माँ नहाकर पांच मिनट में साड़ी पहनकर बाहर आ गई और उस साड़ी को देखकर कुनाल बोला कि आंटी आप इसे बदल लो, में आपके लिए नयी साड़ी लेकर आया हूँ. फिर माँ दूसरे रूम में साड़ी लेकर चली गयी और उसे बदल कर आ गई, लेकिन माँ अपनी नयी साड़ी के साथ ब्लाउज ले जाना भूल गयी थी इसलिए माँ ने कुनाल को आवाज़ दी, लेकिन कुनाल ने माँ की आवाज़ को अनसुना कर दिया और उसने अपने कान में ईयरफोन लगा लिए थोड़ी देर बाद माँ बेडरूम में आ गई वो क्या मस्त लग रही थी.

दोस्तों सफेद कलर की छोटी सी ब्रा और पीछे से एकदम पूरी गांड दिखाने वाली पेंटी माँ रूम में बहुत शरमाते हुए अंदर आई और वो अब कुनाल के सामने ही अपने बाकी के कपड़े पहनने लगी और अब वो बहुत नाराज़ होकर कुनाल से बोली कि में तेरे चक्कर में तेरे सामने आधी नंगी आ गई.

फिर कुनाल बोला कि अरे आंटी वो तो वैसे भी होना है फोटो शूट में बिकिनी शॉट नहीं दिया तो फिर क्या दिया? फिर माँ उसकी बात को सुनकर बहुत हैरान होते हुए बोली कि तू क्या मुझे नंगी करके फोटो लेगा? कुनाल तो इसमे हैरानी की क्या बात है और अब मुझसे क्या शरमाना, मैंने आपको आधी नंगी तो देख ही लिया है.

 

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!