दुबई में बेटे के साथ मनाया हनीमून-3

(Dubai Me Bete Ke Sath Honeymoon- Part 3)

मेरी माँ बेटा सेक्स कहानी के पहले भाग
दुबई में बेटे के साथ मनाया हनीमून-1
में आपने पढ़ा कि मैं अपने जवान बेटे से अपनी कामवासना बुझाना चाहती थी. हम दोनों घूमने के लिए दुबई आ गये और मैंने अपने बेटे को अपनी वासना प्रदर्शित भी की. मेरा बेटा भी मेरी ओर, मेरी जवानी की ओर आकर्षित था लेकिन ज्यादा आगे नहीं बढ़ रहा था. शायद हमारे माँ बेटे के रिश्ते की शर्म के कारण! इसी कारण मैं भी ज्यादा खुल नहीं पा रही थी.

दुबई में पहले दिन हमने शौपिंग की, मूवी देखी, बीच पर घूमे, फिर हम घर आ गए.
फिर मैंने डिनर बनाया और हमने डिनर किया।

फिर हम रूम में आ गए और लेट गये. मैं आज भी पैंटी में थी और रोहण सो गया और मैं फिर आज उदास होकर सो गयी. मैं उदास थी क्योंकि मेरे इतना कुछ करने के बाद भी रोहण अपनी ओर से कुछ नहीं कर रहा था. मैं चाहती थी कि रोहण मेरे साथ थोड़ी जबरदस्ती करे!
लेकिन वो शायद हमारी हिन्दुस्तानी सभ्यता के कारण संकोच कर रहा था.

मैं सुबह उठी तो मैंने फिर वही देखा रोहण ने मेरे बूब्स को मुख में ले रखा था और एक हाथ से दबा रखा था. मुझे गुस्सा आ गया और मैंने सोच लिया था कि आज मैं रोहण से चुदवा कर रहूंगी।
मैं फ्रेश हो गयी और रोहण भी… हमने ब्रेकफास्ट किया.

और तब मैंने रोहण से कहा- रोहण, मेरे बदन में बहुत दर्द हो रहा है तुम मेरी वैक्स और मसाज कर दोगे?
रोहण ने कहा- ओके माँ!
फिर मैं वैक्स का समान ले आयी अपने बैग से और मैं बाहर स्विमिंग बेड पर लेट गयी.

मेरे बेटे ने मेरी वैक्स शुरू कर दी, पहले उसने मेरी नंगी टांगों को वैक्स किया, फिर उसने मेरी बाजू पर वैक्स किया फिर उसने मुझसे कहा कि माँ आपको आपकी पैंटी उतारनी पड़ेगी.
मैंने कहा- बेटा, तुम ही निकाल दो!

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी माँ का दोस्तों के साथ ग्रुप सेक्स

रोहण ने मेरी पैंटी निकाल दी और फिर उसने अपना एक हाथ मेरी चूत पर रखा मेरी तो मुख से आह निकल गयी.
फिर उसने मेरी चूत भी वैक्स कर दी.

अब मैंने रोहण से कहा- अब मसाज भी कर दो!

वो आयल की बोतल ले आया और उसने मेरी मसाज शुरू कर दी. पहले उसने मेरी लेग और जांघों की मसाज की, फिर उसने मेरी बाजू हाथ मसाज कर दिया.
फिर वो मेरे बूब्स पर आ गया और उसने मेरे बूब्स भी मसाज करना शुरू कर दिया. वो मेरे बूब्स को जोर जोर से दबा रहा था. मुझे मजा आ रहा था और मैं जोर जोर से ‘आह आह आह आह…’ कर रही थी.
फिर वो मेरी चूत पर आ गया और वो मेरी चूत को भी मसाज करना शुरू कर दिया. मुझे तो जन्नत का अहसास हो रहा था.

फिर उसने मेरे पूरी बॉडी की मसाज कर दी. मेरी बॉडी धूप में एकदम शीशे की तरह चमक रही थी।

फिर रोहण बोलने लगा- मां, आप कितनी ब्यूटीफुल हो!
मैंने कहा- थैंक यू बेटा!
फिर उसने कहा- माँ, मैं आपके बूब्स को एक बार चूसना चाहता हूँ.

मैं तो मन ही मन खुश हो रही थी, मैंने कहा- बेटा, ये तुम्हारे ही हैं। तुम इनके साथ कुछ भी कर सकते हो!
वो मुझे नंगी ही अपनी गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया और मुझे बेड पर लेटा दिया, वो मेरे ऊपर आ गया और मेरे बूब्स को चूसना शुरू कर दिया उसने!
मुझे बहुत मजा आ रहा था.

रोहण मेरे बूब्स को आधे घंटे तक चूसता रहा, मेरी कामवासना पूरी जाग उठी थी, उत्तेजना से मेरे बूब्स एक दम टाइट हो गए थे और लाल भी!

लेकिन इतना सब होने के बाद भी रोहण आगे नहीं बढ़ा, वो सो गया और मैं भी अपना मन मार कर सो गई.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर मैं शाम को उठी और रोहण भी! मेरा शरीर मसाज आयल से चिकना हो रहा था, मैंने रोहण से कहा- चलो हम नहाते हैं पूल में!
रोहण ने हाँ बोल दी और रोहण पूल में चला गया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेक्सी धोबन और उसका बेटा-19

मैं रोहण की पसंद की लाल रंग की ब्रा पैंटी पहन कर आ गयी और रोहण ने मुझे पूल में उतार लिया और फिर हम पूल में खेलने लगे.
अब रोहण ने मुझे आगे से उठा लिया और मेरी चूत पर पैंटी के ऊपर से ही किस कर दी.
मुझे तो जन्नत मिल गयी थी.

फिर अचानक रोहण ने मुझे गोद में उठा लिया और रूम में ले आया, मैं समझ गयी थी कि रोहण अब बस मुझे चोदने वाला है. मैं तो मन ही मन खुश हो रही थी.

रोहण ने रूम लॉक कर दिया और मुझे बेड पर लेटा दिया. अब वो मेरे ऊपर आ गया.
मैं नाटक करने लगी, मैंने रोहण से कहा- रोहण, क्या कर रहे हो?
रोहण बोला- माँ, आई लव यू! मैं आपको प्यार करना चाहता हूँ, आपको चोदना चाहता हूँ. आपके साथ शादी करना चाहता हूँ और आपके साथ सुहागरात बनाना चाहता हूँ.
मैंने कहा- बेटा, मैं तेरी माँ हूँ यह ठीक नहीं है।

फिर रोहण बोला- माँ, आप भी तो कब से प्यासी हो! और हम शादी कर लेंगे।
मैंने भी रोहण को ‘आई लव यू…’ बोल दिया और मैंने कहा- पहले तुम मुझसे प्रॉमिस करो कि हम शादी कर लेंगे?
रोहण ने ‘हाँ’ बोल दी.

फिर रोहण मुझे किस करना शुरू कर दिया और मैं भी उसका साथ देने लगी और हमारी किस 10 मिनट तक चली। इसके बाद रोहण ने मेरी ब्रा निकाल दी और मेरे बूब्स को जानवर की तरह चूस रहा था. मैं जोर जोर से ‘आह हहा आऊह हम्म… आह आह…’ चिल्ला रही थी.

फिर रोहण मेरे पूरे शरीर को किस करने लगा और फिर वो मेरी चूत पर आ गया और फिर उसने मेरी पैंटी निकाल दी.
अब उसने मेरी चूत पर किस किया और मैं तो तब ही झड़ गयी. फिर रोहण ने मुझसे अपना शोर्ट उतरवाया और मुझसे कहा- माँ, मेरा लंड चूसो!
फिर मैंने उसका लंड चूसा काफी देर तक! रोहण मेरे मुख में ही झड़ गया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  चालू शालू की मस्ती-1

अब रोहण ने मुझे लेटा दिया और मेरी दोनों टांगें खोल दी और अपना लंड मेरी चूत पर रखा, एक झटका मारा और अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया.
मेरी तो चीख ही निकल गयी और फिर रोहण ने अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया.

मेरी तो आँखों से आँसू आ गए.
फिर रोहण ने धक्के मारना शुरू कर दिया और फिर हमारी चुदाई की आवाज पूरे रूम में गूँज रही थी. मैं जोर जोर से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह आह…’ चिल्ला रही थी.

रोहण और मैं एक साथ झड़ गए और फिर हम लेट गए. फिर रोहण ने मेरी दो बार चूत मारी और दो बार गांड!
मेरे बेटे ने अपनी माँ की पूरी वासना शांत कर दी और मेरी चूत और गांड बंदर की तरह लाल कर दी थी.

फिर सुबह मैं उठी, बाथरूम में जाने लगी, मेरी चूत और गांड में बहुत दर्द हो रहा था. फिर मैं फ्रेश हो गयी और रोहण भी फिर हम दोनों रेडी हुए और फिर हमने घर में भगवान की तस्वीर के सामने आपस में शादी की, हम पति पत्नी बन गए, मैंने रोहण के पैर छुए.

और फिर हम बाहर चले गए. शाम हो गयी तो हम घर आ गए. रोहण मुझे रूम में ले गए तो मैंने देखा कि रूम बिल्कुल सुहागरात के हिसाब से सजा हुआ था. मैं तो चकित हो गयी. रोहण ने मेरे लिये यह सरप्राइज प्लान किया था.
बेड पूरा गुलाब के फूलों से सजा हुआ था.

अब पढ़ें कि हमने सुहागरात कैसे मनाई

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!