लॉकडाउन में मोम की चुदाई-2

Lockdown me mom ki chudai-2

सिगरेट जलाई मैंने … और एक लम्बा कश खींच कर उसकी तरफ बढ़ा दी. उसने भी कश खींचा और मेरे मुँह पर छोड़ते हुए आंख मार दी.
मैंने स्माइल कर दी.
हम दोनों की मिलकर अब तक 6 बोतल हो चुकी थीं.

ऐसा लगने लगा था कि मोम को नशा चढ़ने लगा था. वो नशे में इधर उधर डोलते हुए मेरे ऊपर झुकने लगी थी.

मोम – आज से हम दोनों पक्के दोस्त है, एक दूसरे से कोई भी बात नही छिपाएंगे, तुम मुझे मेरे नाम से भी बुला सकते हो, परन्तु तुम्हारे पापा के सामने नही,

मैंने मौके को हाथ से जाने नहीं दिया और पूछ लिया कि

मैं – आप इतनी खूबसूरत हो, शादी से पहले आपका बॉयफ्रेंड तो होगा ही.
मोम – हम्म . … था एक, लेकिन ब्रेकअप हो गया.

मैंने उसकी सेक्सी फिगर की तारीफ करना शुरू कर दी,
मैं – (डरते हुवे) तुम इतनी सेक्सी दिखती हो, फिर उसने तुमको कैसे छोड़ दिया?
उसने मेरी तरफ घूरते हुवे देखा और बोली,
मोम – ये कुछ ज्यादा नही हो रहा है, मुझे झाड़ पर मत चढ़ाओ … मैं इतनी भी सुन्दर नहीं हूँ.

मैंने थोड़ी और हिम्मत करते हुवे उनकी बात काट कर उनकी और तारीफ करना शुरू कर दी.

मैं (डरते हुवे, लेकिन जो होगा देखा जाएगा, सोचते हुवे)- क्या बात करती हो, … तुम्हारे होंठ तो देखो … कितने रसीले और लाल हैं … किसी भी मर्द का ईमान बदल सकते है.

मोम (खुश होकर बोली) – रियली?

मैं हां कहते हुए मौका देख कर कहा- हां मोम… तुम इतनी अधिक हॉट हो कि क्या बताऊं …

मोम – बोला न नाम से बुलाओ यार, अब तो हम दोस्त है,
(और नशे में मेरे तरफ झुकती सी बोली)- हां शायद इसीलिए तुम इन्हें कई दिनों से निहार रहे हो. और तुम्हे क्या लगता है, मुझे पता नही की रोज सुबह मेरे दरवाजे के बाहर क्या मिलता था,

मैं – (डरते, सहमते हुवे और एकदम अनजान बनते हुवे), क्या, किसकी बात कर रही हो, आप, सॉरी … अगर तुम्हें बुरा लगा हो तो.

मोम – आप नही तुम, और यदि मुझे बुरा लगता, तो मैं अब तक तुम्हें टोक चुकी होती.

फिर थोड़ी और हिम्मत करते हुवे, मैंने सेक्स की बात शुरू कर दी. एक दूसरे की सेक्स लाइफ की चर्चा होने लगी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  रेखा की चूत को चाटकर चोदा

मैं – अच्छा ठीक है तुम, तो तुमने अपना कौमार्य कब खोया था.
मेरे इस प्रश्न की संभवतः उन्हें आशा नही रही होगी,

मोम – (सकपकाते, शर्माते हुवे) सील अठारह साल की उम्र में ही टूट गयी थी … और तभी से मुझे सेक्स की भूख लगी रहती है.

मैंने अगले ही पल एक ऐसा प्रश्न दाग दिया, जिसकी मोम को क्या मुझे भी बिल्कुल आशा नही थी, परन्तु कैसे पूछ बैठा, पता ही नही चला,
में – तुम्हें चुदाई में कौन कौन से पोज़ पसंद हैं.

पर पता नही मोम ने कुछ भी ज्यादा प्रतिक्रिया नही देते हुवे बोली,

मोम – मुझे सबसे ज्यादा मिशनरी, डॉगी पसंद हैं … फ़ोरप्ले के लिए 69 से अच्छा कुछ नहीं है … इसके अतिरिक्त साइड से चुदने के अलावा और भी कई तरह से चुदाई करवाना पसंद है. लेकिन तेरे पापा आज तक तेरी माँ को नही भूले इसलिए हम दोनों में चुदाई नाम मात्र की होती है,

फिर वो यकायक चुप हो गई, और संभवतः ये सोचने लगी कि ये क्या बोल गई, पर अब तो वो बोल चुकी थी, और अब शायद ये सोच रही थी कि अब जो होना है हो जाये,

मोम – छोड़ सब ये बातें, तेरी लाइफ कैसे चल रही है, GF वगेरह है कोई या अपने हाथ ही,

में – है एक, लेकिन अब लॉक डाउन में वो वहाँ, में यहाँ,

हम दोनों के बीच चुदाई को लेकर इतनी खुल कर बात होने लगी थी, जैसे हम दोनों एक दूसरे से सब कुछ बता देना चाहते हों.

चुदाई की बातों ने बियर के नशे से शायद उसने गर्म होना शुरू कर दिया था. वो इसी उत्साह में मुझे बताने लगी कि

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मोम – मुझे एकदम रफ़ वाली चुदाई सबसे ज्यादा पसंद आती है, जिसमें लड़का उसे किसी रांड की तरह गाली देकर चोदे और उसके जिस्म को छेड़े और चूतड़ों पर चांटा मारते हुए चुदाई करे.

वो एकदम जोश में आकर ये सब बताए जा रही थी, जैसे कि उन पर चुदाई का बुखार चढ़ गया और अब चुद कर ही उतरेगा,

ये सब सुन कर तो मानो मेरा लंड खुश सा हो गया था. मेरा लंड खड़ा तो काफी देर से था. लेकिन अब तो और भी ज्यादा सख्त होने लगा था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Chudwane Ke Liye Mom Ne Job Kia-5

मोम – तुम्हें क्या क्या पसंद है?

में – सबसे पहले तो लड़की मेरे लंड को थूक से गीला करके पूरा अच्छे से चूसे और उसके रस को चाटे और लंड को हलक तक उतार कर चूसे.

ये सब इतनी जल्दी घट रहा था, कि कब से वो मेरे लैंड को निहार रही थी, मैंने जैसे ही इस तरफ देखा कि उसकी नजर अब मेरे खड़े हो चुके लंड से नही है रही है तो मैंने आगे बोला

मैं – मुझे चूत चाटना भी बेहद पसंद है. सबसे ज्यादा मज़ा चुत के दाने को उंगली से छेड़ने और गीला करके चाटने में आता है. मुझे परम सुख तो जब मिलता है, जब लड़की की चूत चाटो और उस समय जिस तरह से उसकी सिसकारी निकलती है … वो सुन कर मेरा लंड खड़ा होकर उसकी चुदाई करना मांगने लगता है.

तभी मोम अपने मुँह से चुत चाटने के समय होने वाली सिसकारी की नकल करके मुझसे पूछने लगी,
मोम – उफ्फ्फ … सी..ई … इस तरह से?
ये कह कर वो हंसने लगी.

इतनी खुल कर सेक्स की बातें होने से वो शायद अब गीली होने लगी थी … क्योंकि मुझे उसके पैरों में हलचल सी दिख रही थी.

मोम – जब ब्रेकअप होने की वजह से मैंने बहुत दिनों तक चुदाई नहीं की थी तो मेरी हालत बहुत बिगड़ गई थी, और मुझे बस एक लन्ड चाहिए था, इसलिए मैंने मेरे पीहर में पड़ोस के एक लड़के से चुदाई करवा लेती थी, (मोम चुदासी सी होते हुए) वही हाल आज हो रहे है,

तभी मैंने बिना कुछ सोचे , समझे बोला
मैं – आज शायद मौका मिला है … अगर तुम चाहो तो हम दोनों एक दूसरे के करीब आकर एक दूसरे की प्यास बुझा सकते हैं.

यह सुन कर उसने बियर मुँह में भर ली और मेरे पास को सरक आयी. उसने मेरे होंठों पर अपने होंठ रखे और किस करते हुए अपने मुँह में भरी हुई बियर मेरे मुँह में डाल दी. मुझे भी उसके मुँह से निकली बियर पीने में एक गजब सा नशा आ गया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बॉस की रंडी बीवी की चुदाई का सेक्सी किस्सा-1

हम दोनों आपस मे किस करने लगे. उसके बियर से भीगे हुए होंठ एक अलग ही स्वाद दे रहे थे. मैं पागलों की तरह उसके होंठों को चूसे जा रहा था. वो भी मेरा साथ दे रही थी.

अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने एक हाथ उसके चेहरे पर रखा और दूसरा उसके चूचों पर जमा दिया. मैंने जैसे ही उसके मम्मों पर हाथ रखा, उसने एक गहरी सांस ली और मुझे और जोश में किस करने लगी. मैं उसके चूचों को मस्ती से दबाने में लग गया.

वो अपने दबे हुए होंठों से ‘उम्म्म्म उम्मम्मम..’ की मादक सिसकारियां निकाल रही थी. मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से जकड़ा हुआ था, इसलिए उसकी वो मादक ध्वनि एक मस्त मद्धिम सी आवाज मुझे उत्तेजित कर रही थी. हम दोनों दुनिया से बेपरवाह, माँ बेटे के रिश्ते से बेपरवाह, होकर एक दूसरे को किस किए जा रहे थे.

तभी वो एकदम से हटी और उसने मेरी शर्ट खोल दी. मैंने भी देर न करते हुए उसकी टी-शर्ट निकाल फेंकी.

आह … उसका वो रंगीन नज़ारा … गोरे बदन पर लाल ब्रा … मेरा नशा फट गया. उसके मम्मे मेरे लंड को कठोरतम बनाए दे रहे थे.

मैंने अभी एक लोअर पहना था, जिससे मेरा लंड का जोश साफ़ दिख रहा था. अब वो सोफे से उठ कर बिस्तर पर जाकर लेट गयी और मैं उसके पीछे पीछे जाकर उसके ऊपर चढ़ गया.

मैं उसके गले को चूमने लगा.

मोम – ‘आआह्ह आह्ह्ह्ह यस्सस गो ऑन डियर..’

मैंने बड़ी शिद्दत से उसकी पूरी गर्दन को अपने होंठों से रगड़ते हुए चूमा. फिर अपने दांतों से ही उसके कंधे से उसकी ब्रा की स्ट्रिप नीचे कर दी. लेकिन मोम शायद मुझसे ज्यादा जल्दी में थी.

उसने खुद अपने हाथों से अपनी ब्रा खींच कर निकाली और दूर फेंक दी. अगले ही पल उसने मेरा सर एक निप्पल से लगा दिया. मैं भी उसके इस गुलाबी निप्पल को किसी छोटे बच्चे की तरह चूसने लगा.

बाकि कहानी अगले भाग में-

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!