लॉकडाउन में मोम की चुदाई-3

Lockdown me mom ki chudai-3

मोम – (कामुकता से भर कर) ‘आह … और ज़ोर से चूसो..’

मैं उसका एक निप्पल चूस रहा था और मेरा दूसरा हाथ उसके दूसरे मम्मे को दबोचे हुए था.

इतनी देर में उसका हाथ मेरे लोअर पर आ गया था और वो मेरे लोअर के ऊपर से ही लंड को पकड़ कर भंभोड़ रही थी.

फिर मैंने उसके निप्पल चूसते चूसते उसके पिंक लोअर के ऊपर से उसकी चूत को छेड़ना शुरू कर दिया. मैंने सीधा निशाना उसके दाने यानि क्लिट पर साधा. मैं उसकी चुत की मणि को धीरे धीरे ऊपर से सहलाने लगा. चुत ने रस छोड़ना शुरू कर दिया था. उसकी चुत का गीलापन उसके लोअर के बाहर से ही समझ आ रहा था. मेरा लंड भी प्रीकम छोड़ने लगा था. जब दो काम पिपासु मिलते हैं, तो शायद यही होता है.

अब मैंने देर नहीं की और उसके ऊपर से हट कर लोअर को नीचे सरका दिया और साथ में उसकी पैंटी को भी चुत से हटा दिया.

पेंटी हटी तो मोम की चुत की कामुक छटा मेरे सामने बिखरी पड़ी थी. हाय क्या मस्त गोरी फूली हुई चूत थी … एकदम सफाचट, बिना झांटों की बुर … मोती से चमकती बूंदों से लिपटी हुई रो रही थी.

मैं उसी वक्त पिघल गया.

मैंने उसकी चुत और मम्मो को निहारते हुए अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसके बगल में आकर लेट गया. वो मुझसे लिपट गई. मैंने उसकी गीली क्लिट पर अपना हाथ रखा और उसने मेरे लंड पर हाथ जमा दिया.

महिला पाठक अगर पढ़ रही हैं … तो उन्हें पता होगा कि चुत की गीली क्लिट को छेड़ने में कितना मज़ा मिलता है.

मैंने पक्के हरामी की तरह उसकी चुत की क्लिट को छेड़ना शुरू कर दिया और उस पर उंगली घुमाना शुरू कर दिया.

मोम – ‘आआहह … आह्ह्ह … आअहह … यस बेबी … रब इट … आआअह..’

मेरा माल यानि बिस्तर पर पड़ी नंगी मोम लंड लंड चिल्लाने लगी थी. मेरा लंड उसके हाथ में था और उसको छेड़ने का पूरा असर वो मेरे लंड पर दिखा रही रही थी. मेरे गीले लंड को वो जोर जोर से हिला रही थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेक्सी धोबन और उसका बेटा-20

हम दोनों इतने गीले हो चुके थे कि दोनों के अंगों से फच्च फच्च की आवाज़ आने लगी. जैसे ही उसकी चूत अपनी हद से ज्यादा गीली हुई, मैं तुरंत नीचे आ गया और उसकी पूरी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा. चुत पर अपने मुँह का ढक्कन लगाते हुए मैं उसकी चूत की दीवारों को अपने होंठों से चूसने लगा और फिर ज़ुबान को उसके क्लिट पर रख कर चाटने लगा.

वो अब बेहद पागल हो चुकी थी. उसने दोनों हाथों से तकिये को दबा रखा था और मुँह में चादर फंसा कर ‘उम्मह उम्मम्मम..’ की आवाज़ निकल रही थी.

मैंने चुत भंभोड़ते हुए एक पल के लिए अपना सर ऊपर उठाया और उसे मौक़ा मिल गया. उसने मुझे धक्का दे दिया और मेरे नीचे से निकल कर मुझे नीचे लेटा दिया. वो 69 की स्थिति बनाते हुए मेरे ऊपर आकर अपनी चूत मेरे मुँह पर रख दी … और लंड खुद के मुँह में भर लिया.

उसने पहली बार में ही मेरे लंड को अपने हलक तक ले लिया, जिससे पूरा लंड फिर से गीला हो गया.

आह … लंड ने उसके मुँह की गर्मी क्या पाई, मेरी एक चीख निकल गई.

अब हम दोनों एक दूसरे की हवस मिटाने में लग गए. दोनों के मुँह से ‘उम्मम उम्मम्मह..’ की आवाजें निकलने लगी थीं. हम दोनों ही चुदाई के जोश के मारे पागल थे … और थक गए थे … लेकिन रुकना नहीं चाहते थे.

मोम – थोड़ा रफ़ हो जाए?
मैं – ठीक है,
उसने अपने बैग की तरफ इशारा करते हुए कहा- उसमें सब सामान है.

मैंने उसके बैग से दो टाई निकालीं और उसके दोनों हाथ बांध दिए. उसके बैग से वाइब्रेटर निकाल कर उसे फुल स्पीड पर ऑन करके उसकी क्लिट पर रगड़ने लगा.

अब वो न रोक सकती थी … न ही हट सकती थी. वो बस चिल्ला सकती थी, जो कि वो पूरी जोर से चिल्ला रही थी.

मोम – “आआह अह्हह ओ माय गॉड उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह फ़क मी … नाउ प्लीज फ़क मी.’

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैं नहीं माना और वाइब्रेटर से दाने को छेड़ता रहा. फिर थोड़ी देर बाद उसने जैसे तैसे अपने आपको छुड़ाया और वाइब्रेटर मुझसे लेकर मेरे लंड के टोपे पर लगा दिया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  कामवाली की चूत का नशा

बता नहीं सकता मैं दोस्तो … लंड की कैसे माँ चुदी … आह क्या एहसास था वो!

कुछ देर बाद उसने लंड के सुपारे से वाइब्रेटर को हटाया और मेरे लंड को मुँह में भर लिया. मानो लंड को राहत मिल गई थी. वो लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी थी. पूरा लंड हलक तक डालने लगी थी, जिससे पूरा लंड उसके मुँह के रस से तरबतर हो गया था.

अब वो मेरे आंडों से खेलने लगी और फिर उन्हें भी पूरा मुँह में लेकर लंड हिलाने लगी.

मैं अब चुदाई के लिए मरा जा रहा था. मैंने उसे नीचे लेटाया और उसके दोनों पैर फैला दिए. मैं उसकी टांगों के बीच में आकर लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा. ऐसा करने से हम दोनों के रस घुल कर एक हो गए.

उसकी चूत गीली थी और बहुत बार चुद चुकी थी, तो मेरे ज़रा से झटके में एक बार में पूरा लंड अन्दर तक घुस गया.

लंड ने चुत में डुबकी मारी, तो समझ आ गया कि उसकी चूत के अन्दर समंदर जितना गीलापन था. अब मेरे लंड को उस समंदर में गोते लगाने थे. मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा … इतनी ज़ोर से कि हर शॉट में लंड उसके चूत के अंत तक चला जाता. सीधे गर्भाशय के दूसरे सिरे तक चोट मार रहा था.

मोम – ‘आआअह्ह अह्हह फ़क मी बास्टर्ड … फ़क माय पुसी..’ करके चिल्लाने लगी.

अब समय आ गया था कि उसको और मस्त करते हुए चुदाई का मजा दिया जाता. मैंने लंड बाहर खींचा और अलग हो गया. वो मेरी तरफ गुस्से से देखने लगी. मैंने वाइब्रेटर उठा कर उसकी चूत की क्लिट पर रखा और लंड से चुत चोदने लगा. वो अब सातवें आसमान पर थी.

मेरे धक्के और वाइब्रेटर उसी पागल करते जा रहे थे. कुछ वक़्त ऐसा करते करते वो बोली-

मोम – आआह्ह आअह्ह्ह फ़क मी हार्ड. और जोर से, तेरा बाप तो नही चोद पाता, तू कर दे उसकी कमी पूरी,

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Bete Ne Mujhe Chod Kar Gaand Moti Banayi

फिर मैंने उसे कुतिया बनने को कहा और वो झट से कुतिया बन गयी. मैंने पीछे से आकर उसके चूतड़ों पर एक ज़ोर का चांटा मारा और एक झटके में लंड अन्दर कर दिया. वो एकदम से लंड घुसाने से चिल्ला उठी.

मैंने लंड अन्दर करने के बाद चुदाई के वक़्त उसके चूतड़ों पर इतने चांटे मारे कि उसकी गांड लाल हो गई. उसे मज़ा भी आने लगा था.

कोई दस मिनट बाद हमारे झड़ने की बारी थी.
मोम – हाय में झड़ने वाली हूँ,

मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और हर झटके में लंड को चूत के अंत तक पेला.

वो चिल्लाते हुए भलभला कर झड़ गयी. उसकी चुत से निकले पानी से मेरा लंड पूरा गीला हो गया. मैंने लंड बाहर निकाला और उसके मुँह में माल छोड़ने का मन बना लिया.

ये मैंने पोर्न में देखा था कि कैसे लड़का अपना वीर्य लड़की के मुँह में छोड़ता है. मैंने उसको बिस्तर से खींच कर फर्श पर घुटनों के बल बैठाया और उसके मुँह में वीर्य से भरा अपना भारी लंड डाल दिया. वो एक बाजारू रांड की तरह लंड चूसने लगी. उसने जैसे ही मेरे लंड के नीचे वाले छेद पर ज़ुबान से रगड़ा, मैंने उसका मुँह पकड़ कर लंड पूरा अन्दर डाल कर झड़ गया. वो मेरा पूरा वीर्य पी गयी.

झड़ने के बाद हम दोनों कुछ देर ऐसे ही जमीन पर बैठे रहे. फिर सोफे से टिक कर बाकी की एक एक बोतल उठा कर बियर पी ली. बियर के साथ सिगरेट का मजा भी हमारी थकान में लज्जत दे रहा था.

उस रात हमने दो बार और चुदाई की, जिसमें से एक बार मैंने अपना वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया और दूसरी बार उसके चूचों पर.

फिर जो चुदाई का सिलसिला लॉक डाउन में शुरू हुआ वो आज भी चल रहा है, कई बार मोम पापा को बिस्तर में सोते छोड़ मेरे बिस्तर में मुझसे चुदी है.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!