मामा माँ को चोद रहे थे बिलकुल रांड के जैसे-2

(Mama Maa Ko Chod Rahe The Bilkul Randi Ke Jaise-2)

मामा – चुप , रंडी आज तू मेरी औरत है , तू मुँह चूत और गांड तीनो में लेगी। यह बोलते बोलते वो माँ के गर्दन पे किस कर रहे थे , उनकी छाती माँ के स्टानो से चिपकी हुई थी । माँ पूरी तरह से एक ग़ैर मर्द के क़ब्ज़े में थी। मामा ने ब्लाउस के हुक पे हाथ दिया और उसे खोलने की कोशिस करने लगे , पर वो वो खोल नहीं पा रहे थे । तब उन्होंने बोला – कामिनी डार्लिंग , मैं तुम्हारा साथ सेक्स कर रहा हूँ , तुम भी कुछ को ऑपरेट करो , ऐसा तो नहीं की तुम पहली बार किसी मर्द का बिस्तर गरम कर रही हो । “Mama Maa Ko Chod”

माँ – नहीं पर ग़ैर मर्द का पहली बार ।

मामा – तुम्हारे पति से ज़्यादा मज़ा आएगा मेरे साथ ।

माँ – अच्छा , इतना कॉन्फ़िडेन्स अच्छा नहि, फिर माँ ने ख़ुद मामा को लिप्स पे किस किया

फिर माँ ने अपना ब्लाउस का हुक खोल दिया ।मामा समझ गए की आब कोई प्रॉब्लम नहीं , माँ को भी मज़ा आ रहा था

माँ के ब्लाउस खोलते ही , मामा ने अपना शर्ट और पंत उतर दिया और सिर्फ़ अंडर्वेर में में थे । उनका सरिर में बाल थे और बहुत तंडरुशत थे । माँ के ब्रा को हुक को मामा ने खोल दिया , और ब्रा को फ़ेक दिया । माँ अपने बूब्ज़ को हथो से छुपाने की कोशिश कर रही थी । मामा ने माँ को फिर से किस करना सुरु किया , माँ भी इस बार थोड़ा थोड़ा साथ दे रही थी , मामा के होंठ धीरे धीरे नीचे की जा रहे थे उन्होंने बूब्ज़ से माँ के हाथ को हटाया और एक बूब्ज़ को चूसना सुरु किया और दूसरे को दबाना । “Mama Maa Ko Chod”

माँ — आह आह दर्द होता है धीरे से दबाओ ।

मामा – धीरे धीरे आज कुछ नहीं होगा ।

इन दूध देख मज़ा आ गया , एकदम पर्फ़ेक्ट साइज़ और मीठे ।

कुछ बाद मामा उठे और अपना अंडर्वेर निकल के फ़ेक दिया , उनका लंड कर्रेब 7 इंच का था और मोटा , लंड देखते ही माँ ने आँखे बंद कर ली

मामा – क्या हुआ कामिनी लंड कभी देखा नहीं ? इसे प्यार करो । तुम्हारे लिए स्ट्रोबेरी कॉंडम लाया हूँ । यह बोल के उन्होंने कॉंडम पहन लिया । और अपना माँ के कहा चूसो , माँ मुँह नहीं खोल रही थी।

क्या हुआ कामिनी चूसो इसे । जैसे लोलिपोप चूसती थी वैसे ही । तुम्हें गंदा ना लगे इसलिए कॉंडम ले आया ।

माँ ने थोड़ा मुँह खोला तो लंड मामा ने पूरा घुस दिया । और अंडर बाहर करने लगे माँ भी को ऑपरेट करने लगी और म्म्म म्म्म की आवाज़ निकलने लगी । ठोरि डर बाद माँ ने ख़ुद मामा के ऐंडो दो चूसना सुरु किया । मामा भी आवाज़ें निकल रहे थे । आब माँ भी गरम ही चुकी थी । माँ ने ख़ुद ही अपनी लाल रंग के पेटीकोट ना नारा खोल दिया , मामा ने उसे हटा दिया , माँ सिर्फ़ पैंटी में थी , और मामा का लंड मानो लोहे का सालियाँ हो जो अंडर घुसने के लिए खरा हो । “Mama Maa Ko Chod”

मामा ने बोला पहले मैं तेरी गांड मरूँगा

माँ बोली नहीं प्लीज़ पीछे कुछ मत करो , मेरे पति ने भी ऐसा नहि करते ।

मामा बोले – मैं तेरा पति नहि हूँ मुझे औरत की गांड मरने में मज़ा आता है।

यह बोल कर उन्होंने माँ की पैंटी फ़ॉर दी , माँ की चूत एकदम शेव्ड थी । चूत देखते ही मामा बोले वाह कामिनी तूने मेरे लिए शेव करके रखा अपना चूत इसका मतलब तू भी चूदना चाहती थी , जितना भी ना ना बोल । यह बोल के मामा ने अपनी उँगलिया माँ के गांड में घुसा दी , माँ चीख़ उठी ,नहि वहाँ नहि । पर मामा कहा सुन्नने वाले थे। उन्होंने अपना लंड का तोपा थोड़ा घुसाया और धीरे दे धक्का दिया । “Mama Maa Ko Chod”

माँ – आह मर गयी , प्लीज़ गांड से निकल लो ।

इतना बरा लंड उतने छोटे छेद में कैसे जाएगा ।

मामा ने एक ना सुनी और लंड अन्दर बाहर करते रहे. माँ भी मँजें ले रही थी … आह आह …. मम्मम म्म्म म्म जैसे आवाज़ निकल रही थी । मामा ने एक ऊँगली माँ के चूत में दाल दी । अब एक साथ गांड और चूत की चूदाई हो रही थी ।

मामा – बोल रंडी जन्नत का मज़ा आ रहा है की नहि ।

माँ – हैं रे हरमि कुत्ते बोहत मज़ा आ रहा है

दस मिनट ऐसा चलने के बाद मामा गांड मरना बंद करके अपना माल कॉंडम के अंडर ही छोड़ दिया। रुक बैथ रूम में जाते हैं फिर ठोरि डर बाद करते हैं बाक़ी का काम । यह बोल के वो और माँ बैथ रूम में धोने चले गए । माँ जब निलकी तो एक टाउल ओरा हुआ था और तन भीगा।
“Mama Maa Ko Chod”

कामिनी तू टाउल में मस्त दिखती है पर नंगी और ज़बरदस्त ।

आज तेरी चूत की प्यास मिटते हैं ।

माँ – कॉंडम किधर गया ?

मामा – वो एक ही था फ़ेक दिया । अब बिना कॉंडम के करेंगे । क्यूँ परेगनंत हो जाएगी तू ? महीना होता है ना तेरा अबि तक?

माँ – होता है ।

मामा – इसीलिए डर रही है! आज कुछ नहि होगा ।

माँ ख़ुद नंगी हो के मामा के बाँहों में चली गयी , मुझे यक़ीन नहि हो रहा था । माँ इस बार किस करते करते मामा के लंड तक पौहचि और जिब से चूसना सुरु किया,मानो कोई सच्ची रंडी हो जिसे चूसना आता हो । “Mama Maa Ko Chod”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

सायद उम्र के साथ अनुभव भी ज़्यादा होता है औरतों का ।

मामा- क्या चूसती है रे तू । तो पहले इतना नाटक क्यूँ कर रही थी ?

पति कितनी बार लेते है तुम्हारी?

माँ – ज़्यादा नहि । महीने में एक दो बार बस ।

मामा – मैं तेरा पति होता तो रोज़ चोदता ।

माँ – अब सिर्फ़ बोलेगा या करेगा भी ?

यह बोल के माँ ने सारी मर्यादा तोड़ दी थी , वो एक अनजान मर्द को अपना चूत में लंड घुसने के बोल रही थी । “Mama Maa Ko Chod”

अर्जुन अब बस घुस ही दे अपना लंड ।

पहले थोड़ा 69 कर लेते है ।

माँ ने 69 का पोसे ले लिया और अपना चूत मामा से चटवाना सुरु किया ।

ऐसा कुछ देर चलने के बाद माँ ने पानी छोड़ दिया । मामा ने चूत को धीरे से अपने दाँत से काटा तो चीख़ उठी

आह मार गयी । मार दोगे क्या ।

मामा का लंड फिर से सख़्त हो चुका था । कुछ देर चूत का रस पीने के बाद मामा ने माँ को बोला ।

कामिनी मुझे लगता है तुखे मज़ा आ रहा है एक काम तू मेरे ऊपर आ और ख़ुद चार्ज ले ।

माँ – चार्ज लेना मतलब ?

मामा – तू ख़ुद घुसा ।

माँ – समझी

माँ एक मामा के ऊपर बैथ गयी और लंड सेट कर लिए अपने चूत में । अमनी कमर को ऊपर नीचे करना सुरु किया । दोनो सिसकियाँ ले रहे थे । मामा अपने हाथों से बूब्ज़ को रहे थे । आह आह अह्हा .. फ़क फ़क जैसे आवाज़ें निकल रहे थे. मेरी माँ जो आज तक सती सावित्री थी , काम वासना ने उन्हें भी अपने आग़ोश में कर लिया. कुछ देर बाद मामा ने भी ज़ोर लगाया और माँ की फुदी फ़ॉर दी । “Mama Maa Ko Chod”

मामा ने अपना लंड माँ के चूत से बाहर निकला और अपना सफ़ेद माल थोड़ा माँ के बूब्ज़ में फेंका और बाक़ी माँ के मुँह दे दिया ।और बोला कामिनी निगल जाओ , यह निगलो गी तो मैं समझूँगा की तुम्हें पूरा मज़ा मिला । माँ में वो पूरा निगल लिया । फिर दोनो नंगे लेते रहे । शाम को जब मैं लौटे तो देखा की मामा मेरी माँ को एक दवाई दे रहे थे , शायद प्रेग्नन्सी रोकने की दवाई थी। “Mama Maa Ko Chod”