मामी की चूत से लोड़े का मिलन-3

Mami ki choot se lode ka milan-3

अब सबसे पहले मैंने अपने दोनों हाथों से उनके कूल्हों को पकड़कर पूरा फैला दिया और तब मुझे उनकी गांड का वो बड़े आकार का छेद नज़र आ रहा था, जो बड़ा ही आकर्षक नजर आ रहा था और अब मेरा लंड उस छेद में घुसने के लिए बिल्कुल तैयार था.

मैंने अपना लंड जैसे ही उनकी गांड के छेद पर टिकाया, तो उसी समय मेरी मामी ने मेरा इरादा समझकर मुझसे ऐसा करने से मना कर दिया और वो मुझसे कहने लगी कि नहीं इसको गांड में डालने से मुझे बहुत दर्द होगा, लेकिन मेरा लंड है कि अब मानता नहीं और में उनसे बहुत बार ज़िद करने लगा.

मामी कुछ देर बाद मान गयी और उन्होंने मुझसे कहा कि धीरे धीरे डालना वरना मुझे दर्द होगा, में अब अपने लंड को लेकर तैयार हो गया और उसको में मामी की गांड में डालने लगा. में बहुत अच्छी तरह से जानता था कि मामी को दर्द हो रहा है, लेकिन मुझे तो मज़ा आ रहा था और तब मैंने महसूस किया कि उनकी गांड का छेद बहुत छोटा और टाइट भी था, इसलिए बहुत मुश्किल से अंदर जा रहा था.

मैंने भी अपना पूरा ज़ोर लगा दिया था उसको अंदर डालने के लिए और अब धीरे धीरे जगह बनती गयी और उनकी गांड कका छेद फैलने लगा, जिसकी वजह से मेरा लंड और भी ज्यादा अंदर घुसता चला गया.

अब में अपने लंड को धीरे धीरे अंदर और बाहर करता गया जिसकी वजह से मामी की चिकनी टाईट गांड में मेरा लंड बड़े मज़े कर रहा था. फिर मैंने कुछ देर बाद अपना लंड उनकी गांड से बाहर निकाल लिया और अब मैंने मामी को लेटा दिया और उसके बाद में उनके पेट पर बैठ गया और अपने लंड को दोनों बूब्स के ठीक बीच में रखकर बूब्स को सहलाने लगा और उस समय मैंने अपनी मामी से कहा कि क्या मस्त चिकने बूब्स है तो मामी मेरी बात को सुनकर शरमाने लगी और तब मैंने अपनी मामी से कहा कि प्लीज आप एक बार मेरे लंड को चूसो ना.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी चूत की ओपनिंग सेरेमनी भांजे के लंड से-2

मामी ने उस समयी मेरे लंड को पकड़ा और वो उसको अपने नरम मुलायम गालों से सहलाने लगी और तब उन्होंने मुझसे पूछा कि क्यों मुझे कैसा लग रहा है? तब मैंने कहा कि पहले आप इसको अपने मुहं में लेकर चूसो उसके बाद में आपको बताऊंगा.

अब मामी मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटने लगी और फिर वो अपने दांतों से हल्के सा काटने भी लगी थी. उसके बाद वो मेरे लंड को लोलीपॉप की तरह अपने मुहं में लेकर अपनी जीभ को टोपे पर घुमाकर चूसने लगी थी और में तो उनके ऐसा करने की वजह से मज़े में एकदम पागल हो रहा था. वो सब मुझसे सहा नहीं गया और में एकदम जोश में आ चुका था और उसी समय मैंने उनके मुहं में ही अपना वीर्य निकाल दिया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मामी मेरे वीर्य को अपनी जीभ से चाटने और मेरे लंड को चूसने लगी और फिर मामी ने मुझसे कहा कि यह तुमने क्या किया? अब में समझ गया था कि मामी मेरे लंड से अभी और भी मज़े और मेरे लंड से अपनी चुदाई करवाना चाहती है, तब मैंने उनसे कहा कि आप बिल्कुल भी घबराओ नहीं, अभी में तुम्हे और भी मस्त चुदाई के मज़े दूंगा, लेकिन तब तक मेरा लंड मुरझा चुका था इसलिए लटके हुए लंड को देखकर मामी का चेहरा भी लटक गया और वो उदास सी नजर आने लगी थी. अब में अपनी मामी के बूब्स को पकड़कर चूसने उनको दबाने लगा था और साथ ही साथ में अपनी मामी की चूत को अपनी उँगलियों से सहलाने भी लगा था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Sexy Mami Ko Jam Ke Choda

फिर मैंने छूकर महसूस किया कि मेरी मामी की उस गीली गरम चूत में अभी भी बहुत जोश बाकी था इसलिए उन्होंने भी अब जोश में आकर मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया और धीरे धीरे मेरा लंड एक बार फिर से तनने लगा था और उसका आकार अब बदलने लगा था और जैसे ही मेरा लंड थोड़ा सा खड़ा हुआ तो मेरी मामी ने उसको अपने मुहं में ले लिया और वो उसको ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी. मेरा पूरा लंड उनके मुहं में जाकर उनके गले तक छू रहा था.

तब मुझे उनकी उस हरकत से पता चला कि वो आज मुझसे किसी भी हाल में अपनी चुदाई करवाना चाहती थी और वो मेरे लंड को बार बार अपने मुहं में पूरा अंदर डालती और फिर धीरे धीरे उसको बाहर निकालती और वो मेरे लंड को इतनी ज़ोर से चूस रही थी कि उनके चूसने की आवाज भी अब आने लगी थी.

अब मेरा लंड भी उनकी चुदाई के लिए तैयार हो गया था और में भी उनके चेहरे को अपने हाथ में लेकर अपने लंड को अंदर डालने लगा था, जिसकी वजह से मुझे वाह क्या मस्त मज़ा आ रहा था. फिर मामी ने मुझसे कहा कि प्लीज अब तुम मुझे चोदो ना, मेरी इस प्यास को बुझा दो और आज अपनी चुदाई से तुम मुझे पूरी तरह से बिल्कुल ठंडा कर दो, आज तुम मुझे जमकर चोदो और फाड़ दो तुम आज मेरी इस चूत को, इसने मुझे बड़ा परेशान किया है.

तभी मैंने अपनी मामी की बातें सुनकर जोश में आकर उनको लेटा दिया और में उनकी जांघो को अपनी जीभ से चाटने लगा. कुछ देर चाटते चाटते में अब उनकी गोरी भरी हुई कमर तक पहुंच गया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामी ने मेरी शर्म को दूर किया

वो सिसकियाँ लेते हुए मुझसे बोल रही थी उफफ्फ्फ्फ़ आह्ह्ह्हह्ह प्लीज थोड़ा धीरे धीरे करो स्सीईईई मुझे बहुत दर्द हो रहा है ऊह्ह्ह हल्के हल्के धक्के दो वरना में आज इस दर्द से मर ही जाउंगी, प्लीज थोड़ा आराम से करो उससे ज्यादा मज़ा आएगा.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!