पहले इंटरव्यू में तीन लंड के मजे-2

(Pahle interview me teen lund ke maze-2)

अतुल मेरा मुहं बेरहमी से चोदे जा रहा था और उसका लंड मेरे गले तक घुसे जा रहा था.. जिससे मुझे सांसे लेने में दिक्कत हो रही थी. नीचे वो बंदा मेरी चूत चाटे जा रहा था और वो अपनी जीभ मेरी चूत के अंदर तक घुसाकर पूरी मस्ती में मेरी चूत का स्वाद ले रहा था और मैं अब गीली होने लगी थी और इसका अहसास उसे भी हो रहा था. वो मज़े से मेरी गीली होती चूत के रस का मज़ा ले रहा था. उसने मेरी चूत के दाने को ढूँढ लिया और उसे चूसने लगा. तो मेरा हाथ खुद ही उसके सर पर चला गया और उसे दबाने लगी.

यह देखकर एक बंदा बोला कि साली को राजू का चूत चाटना बहुत पसंद आ रहा है.. देखो कैसे वो उसके सर को पकड़ के अंदर धकेल रही है.. अतुल तूने क्या मस्त माल दिलाया है हम दोस्त तेरे कायल हो गये. तो अतुल बोला कि यार हम सब मिल बाँट कर खाते है. आज इसकी चूत की सील में तोड़ूँगा और तुम सब इसे बारी बारी से चोदना. फिर एक बंदा बोला कि मुझे तो इसके बूब्स ज़्यादा पसंद है. में इसे चूसता हूँ और वो मेरे बूब्स मसलने लग गया और मेरे निप्पल को चूसने लग गया. फिर अतुल बोला कि रवि जरा कैमरा तो बाहर निकाल हम इसकी चुदाई का वीडियो बनाएँगे. तो मैंने कहा कि अतुल मेरी वीडियो मत बनाओ.. चाहो तो तुम मुझे चोद लो.. मैं कुछ नहीं कहूँगी.. लेकिन प्लीज़ रीकॉर्डिंग मत करो.. लेकिन वो कहाँ मानने वाला था. एक बंदा अलमारी से कैमरा निकाल कर मेरी चुदाई की वीडियो बना रहा था. अतुल का लंड मेरे मुहं में हरकत करने लग गया था और एक बंदा मेरी चूची चूस रहा था और दूसरा मेरी चूत चाट रहा था.

में चाहकर भी अपनी आँखे खुली नहीं रख पा रही थी.. मुझ पर धीरे धीरे मदहोशी छा रही थी. अतुल के चेहरे पर कई भाव आ रहे थे और उसका बदन अकड़ने लगा और मुझे लगा कि अब वो अपना वीर्य छोड़ेगा. फिर में उसका लंड बाहर निकालना चाहती थी.. लेकिन इससे पहले कि मैं कुछ कर पाती… अतुल ने अपना पहला वीर्य सीधा मेरे गले में उतार दिया.. में खाँसती रह गयी और उसका लंड मेरे कंठ को छू गया और उसका ज्यादातर वीर्य मेरे गले के नीचे उतार गया. उसका कुछ वीर्य मेरी नाक के रास्ते से बहकर बाहर आ गया. मैंने पहली बार उस दिन किसी का लंड चूसा था और उसका रस पिया था.. नीचे वाले बंदे ने अपनी हरकत तेज़ कर दी.. वो मेरी चूत के दाने को बहुत ज़ोर से चूस रहा था.. मेरे मन पर उसका जुनून छाने लगा था और मुझे उसका चूत चूसना अच्छा लग रहा था..

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दोस्त की बहन और मम्मी की चुदाई

मेरी साँसे तेज़ हो रही थी और मेरी धड़कन की रफ्तार दोगुनी हो गयी थी और मुझे लगा कि अब मैं स्वर्ग में हूँ और लगा कि मैं भी झड़ने वाली हूँ. मेरी चूत में हरक़त हुई और बिना किसी चेतावनी के मेरा पानी निकल गया. तो मैंने उसके सर को ज़ोर से पकड़ लिया.. उसका मुहं मेरी चूत से एक पल को भी नहीं हटा और वो बदमाश मेरी चूत का पानी ऐसे पी गया जैसे वो गंगाजल हो. फिर वो सब ज़ोर ज़ोर से हँसने लगे. तो एक कहने लगा कि राजू ने इसकी चूत का पानी निकाल दिया और अब यह चुदाई के लिए तैयार है.

फिर मैं खांसती रही और दूसरा बंदा अभी भी मेरी चूची चूस रहा था. अतुल का और मेरा पानी निकलते देख नीचे वाला बंदा भी जोश में आ गया.. वो मेरे ऊपर आ गया और उसने मेरी चूत में अपना लंड रगड़ना शुरू कर दिया. फिर उसने एक ज़ोर का झटका देकर अपना आधे से ज्यादा लंड एक ही बार में मेरी चूत में डाल दिया. उस वक्त मेरा चूत का छेद बहुत छोटा था और मैंने कभी उसमे पेन्सिल भी नहीं घुसाई थी और यहाँ पर इसने अपना मोटा मूसल जैसा लंड एक धक्के में ही पूरा का पूरा घुसेड दिया. मुझे ज़ोर का दर्द हुआ और में चिल्ला उठी साले मदारचोद मेरी चूत फाड़ दी रे तूने हरामी..

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

धीरे से चोद अह्ह्ह.. क्या इसे अपनी माँ की चूत समझा है? अह्ह्ह उफफ मेरी चूत फट गयी. क्योंकि मेरी चूत कुवारीं थी तो मैं दर्द सहन नहीं कर पाई और ज़ोर से चीख पड़ी.. लेकिन उस वक़्त वहाँ पर उन तीनों के अलावा कोई नहीं था.. इसीलिए मेरी चीखे अनसुनी होकर रह गयी. फिर उसने और ज़ोर से मेरी चूत पर अपने लंड का दबाव डालकर अपना पूरा लंड मेरी चूत में भर दिया और वो अब अपने लंड को आगे पीछे करने लगा और में नीचे पड़ी चुदवा रही थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Delhi Ki Chudasi Ladki Ko 3 Log Milkar Shant Kar Paye

मैंने अपने दोनों पैर पूरी तरह से फैला दिए थे और राजू अब मस्ती से मुझे चोद रहा था.. पूरा कमरा हमारे चोदने की आवाज़ से गूँज रहा था.. ठप ठप ठप लगातार मेरी चुदाई की आवाज़ आ रही थी. फिर जो बंदा मेरी चूची चूस रहा था उसने अपना लंड मेरे मुहं में डाल दिया और मैं चूसने लगी और मैंने सोचा कि अब चुदाई हो ही रही है तो क्यों ना उसका मज़ा भी ले लूँ. फिर राजू ने भी चोदने की रफ्तार बड़ा दी और वो पूरे जोश से मुझे चोद रहा था.. अब मुझे भी चुदवाने में मज़ा आ रहा था.. लेकिन दर्द भी हो रहा था. फिर राजू बोल भी रहा था आज मस्त माल मिला है चोदने को.. एकदम कुँवारा माल.. कितनी टाईट चूत है इसकी? और उसका लंड मेरी चूत पर ज़ोर से धक्के लगा रहा था और तभी मेरी सील टूट गई और बहुत ज़ोर से दर्द हुआ और चूत से धीरे धीरे खून आने लगा. फिर भी मैं चिल्ला नहीं सकी क्योंकि अजय का लंड मेरे मुहं में था और में बहुत डर गयी.. लेकिन चुप रही.

यह देख अतुल हँसने लगा और बोला कि देखो साली कुतिया अजय का लंड मज़े से चूस रही है.. चुदाई के लिए परेशान थी और नौकरी खोज़ रही थी.. तू हमारी कंपनी में नौकरी कर ले और हम तुझे मोटी तनख़्वाह देंगे और रोज़ तेरी चुदाई भी करेंगे.. बोल क्या तुझे मंज़ूर है? आज तेरा अपायंटमेंट लेटर तुझे दे देते है. मेरी चूत से लगातार खून बह रहा था और अतुल ने ऊपर से मेरे दोनों हाथ पकड़ रखे थे और वो बंदा मेरी चूत लगातार चोदे जा रहा था और फिर उसने अपनी चोदने की गति बड़ा दी.. लेकिन मैं चीख नहीं पा रही थी क्योंकि राजू का लंड मेरे मुहं में था और अतुल ने मेरे हाथ पकड़ रखे थे. मेरी आँखो से आँसू निकलते गये और दूसरा बंदा मुझे दर्द देने के लिए मेरी चूची और निप्पल मसलता गया और उसे नाखूनो से नोचता गया और मेरी चूची पर उसके नाखूनो के निशान पड़ गए. उसके चोदने से में भी मस्ती में आ गयी और में भी नीचे से अपने चूतड़ हिलाने लगी और उसके हर धक्के के साथ में भी धक्के लगाने लगी. इससे वो और जोश में आकर मुझे धक्के मारने लगा और करीब 15 मिनट चोदने के बाद उसके लंड में हरक़त शुरू हुई..

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दादी के साथ बहु और बेटी की चुदाई-1

वो एक पल तो थमा फिर वो मेरी चूत में ही झड़ गया. उसका पूरा बदन अकड़ा हुआ और उसने आँखे बंद की और अपना वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया. साले ने मेरे झड़ने का इंतज़ार भी नहीं किया.. लेकिन वो कुछ पल और अंदर वीर्य छोड़ता तो में भी साथ ही झड़ जाती.. हरामी साला.. मैंने मन ही मन उसे ढेरो गलियां दी और मैं आँसू का घूंट पीकर रह गयी. उसने अपने वीर्य की आखरी बूँद तक मेरी चूत में भर दी और उसका लंड फिर मुरझाकर मेरी चूत से बाहर निकल गया. फिर उसके हटते ही अजय ने अपना लंड मेरे मुहं से निकाला और मेरी चूत में डाल दिया..

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!