पलक अग्रवाल पार्ट की चुदाई कहानी 1

(Palak Agarwal ki chudai kahani 1)

हेलो दोस्तों मेरा नाम पलक अग्रवाल है
यह मरी पहली स्टोरी है तो अगर कुछ गलती हो जाए तो माफ् करिएगा।
में बरेली से हूं पर मेरी शादी हरदोई मैं हुई है मेरी शादी एक जॉइंट फैमिली में हुई है मेरी शादी को तकरीबन 12 साल हो चुके हैं जब मेरी शादी हुई तब मेरी उम्र 20 साल की थी तो आप मेरी उम्र 32 साल की है और मेरे दो बच्चे भी है.

मैं एक बहुत ही खूबसूरत महिला हूं ऐसा मुझसे सब लोग कहते हैं मेरे आस पड़ोस के लोग परिवार के लोग दोस्त रिश्तेदार शादी के 12 साल में और दो बच्चे होने के बाद मेरा शरीर पहले से ज्यादा भर गया है। 35D 28 36 यहां मेरा साइज है आप किसी भी भोजपुरी हीरोइन को सोच सकते हैं जो भरे हुए शरीर की हो वैसे ही लगती हूँ बताने के तौर पर आम्रपाली दुबे ।

यह स्टोरी में कई पार्ट्स में डालूंगी जिसे आपको पूरा मजा आए।

मैं ज्यादातर साड़ी ही पहनती हूं क्योंकि मुझे हो बहुत ही ज्यादा सेक्सी लगती है और उसमें मेरा फिगर और उभर के आता है मुझे साड़ी कमर के नीचे बांधना पसंद है क्योंकि मेरी कमर हल्की सी बाहर की ओर लटकती है और उसमें मेरी नाभि बहुत ही मनमोहक लगती है जब मैं चलती हूं तो कभी-कभी साड़ी का पल्लू हट जाने के कारण कॉलोनी के मर्द और लड़के अपनी नजरें नहीं हटा पाते हैं।
मेरा ब्लाउज भी टाइट रहता है और मैं उसे आगे से डीप बनाती हूं क्योंकि मेरे पति को ऐसे ब्लाउज पसंद है लेकिन इसका फायदा सब कोई मिलता है और किसी के देखने से मुझे खुद बुरा नहीं लगता ।

यह स्टोरी कई भाग में डालूंगी ताकि आपको ज्यादा मजा आए

अब में स्टोरी सुरु करती हूं
मेरी 3 चचेरी नंद हैं उनमें से 2 नंदो की शादी हो चुकी है ओर तीसरी को देखने रिश्ते वाले आने वाले थे
मेने उस दिन एक सुंदर और सेक्सी साड़ी पहनी थी , ब्लू कलर की साड़ी ओर उसका ब्लाउज डीप नैक था और मेरी नाभि ब बीच बीच मे पल्लू के हटने से दिख जाती थी ,
सारा कार्यकर्म एक होटल में रखा गया था
वहां सब लोग पोहच चुके थे ।
लड़के वालों की तरफ से लड़का लड़के का 1 बड़ा भाई दोस्त और उनके पिता और माता जी आए थे , हमारी ओर से में मेरी नंद मेरे 3 चचेरे देवर ओर मेरे पति मेरें ससुर ओर लड़की यानी मेरी नंद के पिता मेरे चच्चा ससुर थे ।
मेरी नंद बोहत सूंदर नही है इसलिए उसके लिए लड़का बी बेकार सा ही आया था वो दोनो भाई देखने मे काले और मोटे थे ।
जब में ओर मेरी दोरानी उनसे मिलने को गए तो वो दोनो भाई ओर दोस्त हम दोनो को घूर रहे थे मेरी दोरानी ब काफी भरे शरीर की सुंदर महिला है ।
मुझे कुछ अनुमान हो गया था कि ये परिवार ठीक नई है पर में कुछ कर नई सकती थी ।
उन्होंने लड़की को देखा और फिर decide किआ की लड़की को अकेले में देखेंगे ओर में अपनी नंद को लेके उनके पास होटल के एक रूम में गई
में जब रूम में पोहची तो वहां केवल लड़का और लड़के का बड़ा भाई और उसका दोस्त ही थे मेने पूछा कि आंटी जी और अंकल जी कहा है
तो लड़के का बड़ा भाई और उसका दोस्त बोले कि हम जवानों में बड़ो का क्या काम और उसने कहा कि लड़की को आप मेरे भाई से बात करने दीजिए और हम ब यह से पड़ोस के रूम में चलते हैं ।
में थोड़ा जिजकी पर फिर मेने कहा चलिए ठीक है चलते है ।
असल में मुझे भी मज़ा आ रहा था क्योंकि मैं यह देखना चाहती थी कि यह लोग किस तरीके के हैं मेरी ननंद के लिए यह रिश्ता सही है भी या नहीं क्योंकि वह दोनों मुझे लगातार घूम रहे थे और मैं उस दिन बहुत ही खूबसूरत लग रही थी इस तरीके से मुझे उनका घूरना पसंद भी आ रहा था फिर हम तीनों दूसरे रूम में चले गए और फिर वहां जाकर मैं सोफे पर बैठ गई और वह दोनों मेरे सामने वाले सोफे पर बैठ गए मैंने जानबूझकर अपना पल्लू हल्का सा साइड कर लिया जिससे उन्हें मेरे क्लीवेजेस दिखने लगे उनकी आंखों में तो जैसे चमक सी आ गई थी ।
अब मैं आपको हमारे बीच हुई बातचीत बताती हूं
लड़के के बड़े भाई का नाम डायमंड है और दोस्त का नाम गौतम है।
Diamond ji – हा तो पलक जी जब तक वो दोनों एक दूसरे से बात कर रहे है आइए हम ब एक दूसरे को जान ले ।

पलक :- अरे डायमंड जी पहले रिश्ता तो पक्का हो जाने दीजिए ।

गौतम- अरे पलक जी रिश्ता तो अब आप पक्का ही समझिए (और यह कहकर व डायमंड को देखकर मुस्कुरा दिया)।

पलक :- में कुछ समझी नई

डायमंड :- अरे यह पागल है इसके कहने का मतलब है कि हमें आपकी ननंद पसंद है वह तो लड़का लड़की के बात करने का रिवाज है तो तो बस वही करा रहे हैं।

गौतम ;- ओर पलक जी आपसे ब तो रिश्ता जुड़ेगा फिर मेरा और आपका मजाक का रिश्ता तो हो ही जाएगा।

पलक :- हा हा हा हा हा अच्छा तो क्या अब जमाई के दोस्तों से भी मजाक करना पड़ेगा( मैं समझ रही थी यह क्या कहना चाह रहा है लेकिन मैंने उसे कहने दिया)

बात करते वक्त दोनों की आंखें मेरे होंठ मेरे ब्लाउज और पूरे जिस्म को निहार रही थी जैसे दोनों को रिश्ता सिर्फ मेरी वजह से पसंद है।
दोस्तों यह स्टोरी लंबी होने वाली है इसलिए आराम आराम पढ़िए अभी इसमें आगे बहुत कुछ होगा

हिंदी सेक्स स्टोरी :  छोटे भाई के लंड से खेलकर चुदाई सिखाई

Agar ap logo ko story pasand aae to mujhe mail kare [email protected] par

अब आगे
Diamond :- पलक जी हमारा तो हक़ है आपसे मजाक करने का अब तो मुलाक़ात होती रहेगी कभी हम आपके यह आएंगे कभी आपको बुला लेंगे हाहाहाहा ।

Palak :- जी जरूर आप तो अब हमारे अपने है जरूर आइएगा ।

गौतम :- भाभी जी हम तो लड़के वाले है और आप लड़की वाली आप हमें क्या देंगी ( अपनी जांघों पर हाथ रगड़ता हुआ बोला)

Palak :- अब तो जो आप मानेंगे देना ही पड़ेगा हम मना कैसे कर सकते हैं। (ओर में मुस्कुरा दी)

Diamond :- सोच लो पलक जी हम कुछ और मांग सकते हैं दे पाएँगी आप हाहाहाहा (ओर फिर दोनो एक दूसरे की ओर देख के मुस्कुरा दिए)

Palak :- अब क्या जान लोगे हमारी हम अपनी ननंद तो आपको दे ही रहे।

Diamond :- ननंद के साथ दहेज में आप भी आ जाइए हमारे घर मैं बहुत जगह है

गौतम :- ओर दिल मे भी ।

Palak :- जी मेरा kya करेंगे आप मैं तो शादीशुदा हूं घर के काम करवाने का इरादा है क्या मुझसे।
गौतम जी ने तो मजाक करना शुरू कर दिया गौतम जी थोड़ा कंट्रोल कीजिए(ओर में मुस्कुरा दी)

Diamond :- अरे नई आपको तो रानी बनके रखेंगे काम आपकी नंद करेगी आप ओर हम डबल बेड पर आराम करेंगे । हा हा हा हा हा क्यों गौतम।
गौतम :- जी भैया डबल बेड पे 3 लोग तो आ ही सकते है हाहाहाहा
भाबी जी आपको देख के कोई कंट्रोल कैसे कर सकता है ।

हमारे समझ में आने लगा था की बातें गलत तरफ जा रही है इसलिए मैं मुस्कुरा दी
Palak :- अच्छा-अच्छा बस बस चलिए देखते हैं उन लोगों ने बातें कर ली कि नहीं और क्या सारा मजाक आज जी कर लेंगे आगे के लिए भी तो छोड़ दीजिए।

Diamond :- हां गौतम अब बाकी की मजाक पलक जी से बैचलर पार्टी में करेंगे हाहाहाहा

गौतम :- ये आएंगी बैचलर पार्टी में

Diamond :- अरे कैसे नहीं आएंगे हमारी बात काटेंगी क्या हम लड़के वाले हैं नाराज हो जाएंगे कु palak ji

Palak(मुस्कुरा के) :- जी बेचलर पार्टी में मेरा क्या काम है ।

Diamond :+ palak जी आप डांस करेंगी न वह पे आना तो आपको पड़ेगा

Palak :- जी अच्छा चलिए मैं आ जाऊंगी
Gautam:- तो थोड़ा सा डांस भाभी जी यहीं दिखा दीजिए हम भी तो देखें क्या लटके झटके हैं लड़की वालों के

Diamond :- अरे लड़की वालों के किसे देखने हैं हमें तो केवल पलक के देखने हैं

Palak – जी

Diamond :- अरे पलक जी लटके झटके हा हा हा हा हा क्यों गौतम

Gautam :- जी भैया बिल्कुल अब तो बस इंतजार है कि जल्दी से रिश्ता पक्का हो और पलक जी का देखने को मिले , अरे डांस हा हा हा हा हा

मैं समझ रही थी कि दोनों मेरे ऊपर खोल के कमेंट कर रहे हैं लेकिन फिर भी मेरे पास मुस्कुराने के अलावा कोई और रास्ता नहीं था और मुझे मजा भी आ रहा था

Agar ap logo ko story pasand aae to mujhe mail kare [email protected] par

इतने में डायमंड जी का फोन बजा फोन पर उधर से लड़का था लड़के का नाम पंकज है

थोड़ी देर बाद पंकज जी हमारे रूम में आ गए और अपने भाई और अपने दोस्त से कहा कि जाओ आप दोनों भी लड़की से कुछ सवाल पूछ लो
तब तक मैं पलक जी से बातें करता हूं असल में पंकज भी मुझ पर ही लट्टू हो रहा था
डायमंड जी जाते-जाते बोले कि आपके होने वाले नंदोई हैं इनका तो बहुत अधिकार होता है इन्हें खुश रखिएगा

मैं समझ गई कि क्या कहना चाह रहा है और मैं मुस्कुरा कर बोली आप चिंता ना करें
उसके बाद पंकज जी मेरे सामने सोफे पर बैठ गए।

मुझे अंदाजा लग चुका था कि यह रिश्ता यह लोग केवल मेरी वजह से ही कर रहे हैं इसलिए मुझे इन्हें नाराज नहीं करना था अब मैं स्टोरी कंटिन्यू करती हूं ।

पंकज जी जो कि मेरे होने वाले नंदोई हैं वाह मेरे सामने सोफे पर बैठ गए और तब तक मेरा साड़ी का पल्लू हल्का सा और हट चुका था मुझे इसका अंदाजा तो था पर मैंने उसे ठीक करने की कोशिश नहीं करी मेरी ट्रांसपेरेंट साड़ी में से मेरी नाभि भी हल्की सी दिख रही थी तो आप पंकज जी को मेरे क्लेवेज और नाभि दोनों ही दिख रहे थे फिर उन्होंने मुझसे बात करना शुरू किया।

पंकज :- नमस्कार भाभी जी कैसी हैं आप ।
पलक :- में बिल्कुल ठीक एक दम मस्त आप सुनाइये ।
पंकज :- मस्त तो खैर आप है ही वो तो दिख रहा है ।
पलक :- अच्छा जी क्या दिख रहा है।
पंकज :- आपकी खूबसूरती और क्या ।
पलक :- जी शुक्रिया आप बी काफी हैंडसम है ।
पंकज :- जी ये तो आप हमारे सम्मान में कह रही हैं ।

बात तो पंकज ने बिल्कुल ठीक कही थी मैं उसके सम्मान में ही कह रही थी क्योंकि दिखने में तो वह बिल्कुल भी अच्छा नहीं था। लेकिन नंदोई होने की वजह से मुझे तारीफ तो करनी ही थी और यह तो उन दोनों से भी ज्यादा मजाक कर सकता था और यह किसी और मूड में ही था।

पलक :- अरे नई नई पंकज जी सच में ।

पंकज :- अच्छा तो एक खूबसूरत औरत ओर एक हैंडसम मर्द इतनी दूर कु बैठे हैं।

पलक :- अरे अरे पंकज जी आप मेरे वाले सोफा पे बेथ जाइए आके में कोई माना कर रही हु क्या।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  जूस पिलाने बाद लंड का जूस पिलाया भैया ने

मैं जिस सोफे पर बैठी थी वह 2 सीटर sofa था और मेरे कहते ही पंकज तुरंत आकर मेरे वाले सोफे पर बैठ गया जैसे मानो इंतजार ही कर रहा हो ।
पलक :- अरे अरे पंकज जि पहले रिश्ता तो पक्का हो जाने दीजिए ।

पंकज :- रिश्ता तो मैने आपको देखते ही पक्का कर लिया था । (यह बोल के वह गंदी तरह से मुस्कुरा दिया)

पलक :- मुझे देख के कु मेरी नंद को देख के करिये ।

पंकज :- अरे उन्हें देख के क्या करेंगे जब देखने के लिए आप है तो। आखिर शलेज बी आधी घर वाली होती है ।

पलक :- हाहाहाहा वो तो साली होती है ।

पंकज (मेरे जांघो पे हाथ मरते हुए) :- सलज बी होती है ।

उसका हाथ जांघों पर लगते ही मुझे एक करंट सा फील हुआ क्योंकि मैंने इसकी उम्मीद बिल्कुल नहीं की थी हालांकि मेरे इतने पास बैठकर वह लगातार चिपकने की कोशिश कर रहा था।

पलक :- ( मैंने हल्का सा गुस्से वाला मुंह बनाया) पंकज जी छुआ छेड़ी शादी के बाद करिएगा कंट्रोल करिए (और मैं मुस्कुरा दी)

पंकज :- पर आपको देखकर कैसे कंट्रोल हो सकता है भाभी जी शादी के बाद तो हम छुआ छेड़ी करेंगे ही करेंगे।

पलक :- अच्छा जी तो फिर अभी क्यों कर रहे हैं हा हा हा।

पंकज :- (उसने फिर से मेरी जांघों पर हाथ रखा और हल्का से दबा दिया और बोला ) यह देखने के लिए कि लड़की वालों के पास कितना माल पानी है।

मुझे लगा कि बार-बार विरोध करने से कहीं ने बुरा ना लग जाए और मैं यह समझ चुकी थी कि बाकी दोनों नंदोई की तरह यहां भी मेरे चक्कर में है पर अंदर से मुझे अच्छा लग रहा था और मज़ा भी आ रहा था।
इस बार मैंने अपना हाथ उसके हाथ पर रखा और उसका हाल हटाकर उसकी जांघ से रख दिया और बिना अपना हाथ हटाए पूछा।

पलक :- तो क्या रिश्ता पक्का समझे हम ।
पंकज :- एक शर्त पर
पलक :- बताइये ।

पंकज :- वादा करिए आप मेरी कभी किसी बात को मना नहीं करेंगी।

पलक :- इस बारे में तो सोचना पड़ेगा नंदोई जी।

पंकज :- तो आप की ननंद के बारे में हमें भी सोचना पड़ेगा पलक जी।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैं यहां पर आप लोगों को अपने बारे में एक बात और बता दूं मुझे डोमिनेट होना पसंद है और यह इस चीज की पर्फेक्ट सिचुएशन थी।

पलक :- जी अच्छा चलिए मान ली आपकी यह शर्त बी अब नीचे चल कर सबसे कह दीजिए कि आप को रिश्ता पसंद है।

पंकज :- मैं कैसे मान लूं कि आपने शर्त मान ली रिश्ता हो जाने के बाद आप मुकर गई तो।

पलक :- तो कैसे मानेंगे नंदोई जी।

पंकज :- एक डांस दिखा दीजिए पलक जी आपको देखकर लगता है कि आपका डांस देखकर कोई भी पागल हो जाएगा।

पलक :- अच्छा बताइए कौन से गाने पर देखेंगे।

यह सुनकर उसकी आंखों में से एक चमक सी आ गई जैसे उसे अमृत मिल गया हो।

पंकज :- मेरा फेवरेट गाना है ज़रा ज़रा महकता है आज तो मेरा तन बदन।

पलक (मैं मुस्कुराते हुए) :- आप तो बड़े नॉटी हो।

पंकज :- अब आप भी नॉटी हो जाओ मैं गाना लगा रहा हूं आप डांस दिखाओ।

में डांस करने के लिए खड़ी ही हुई थी की इतने में मेरा फोन बजा मेरे हस्बैंड का फोन था मैंने फोन पिक किया तो वह पूछ रहे थे कितनी देर क्यों लग रही है तो मैंने उनसे कहा कि बस आई रहे तो उन्होंने कहा कि तुरंत आ जाओ सब लोग आ गए हैं।

पलक :- चलिए नंदोई जी अब डांस कभी और देखेगा तुरंत नीचे जाना है।

यहां सुनकर पंकज को हल्की सी गुस्सा आ गई और Uske के चेहरे पर नजर आ रहा था मुझे डर लग रहा था कि कहीं नीचे जाकर रिश्ते के लिए मना ना कर दे

पंकज :- आपने अपना वादा पूरा नहीं किया हम से उम्मीद मत रखिएगा।

पलक :- अरे ऐसा मत कहिए अभी तो शादी तक कई बार मिलना होगा आपको डांस जरूर दिखाऊंगी तब तक रिश्ता पक्का होने की खुशी में एक दूसरे को बधाई दे देते हैं (यह कहकर में हस दी)

पंकज :- और कैसे देंगे बधाई बताइए गले लग के ।

पलक :- हां नंदोई जी अब इतना आपका अधिकार बनता ही है।

वह एक पल भी गवाही बिना तुरंत खड़ा हो गया और मेरी तरफ लपका मैं हल्का सा पीछे हुई तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और अपनी और खींच लिया

फिर उसने दोनों तरफ से मेरी कमर में हाथ डाला और मुझे कस के अपने आप से चिपका लिया
मेरे शरीर में तो जैसे आग सी लग गई पर मैंने खुद को कंट्रोल किया उसे पीछे से दोनों हाथों से पकड़ लिया अब हम दोनों एक तरह से एक दूसरे की बाहों में थे मेरे बैकलेस ब्लाउज का वाह फायदा उठा रहा था।
उसके हाथ की हथेलियों मेरी पीठ पर थी और वह मेरी पीठ सहला रहा था
मुझे भी मजा आ रहा था मेरे दोनों स्तन की छाती से बहुत ज्यादा चिपक गए थे दब रहे थे ।

क्योंकि मैं साड़ी कमर से काफी नीचे बढ़ती हूं इसलिए मेरी कमर भी पीछे से खुली हुई थी उसने धीरे से अपना हाथ पीठ से मेरी कमर पर ले आया और कमर सहलाने लगा उसकी गरम सांसे मुझे अपने कानों की महसूस हो रही थी

यह सब चल ही रहा था कि गौतम उसका दोस्त उसे बुलाने कमरे में आ गया और उसने हम दोनों को ऐसे देख लिया उसके तो मानो होश उड़ गए क्योंकि वह तो मुझे छूने के लिए मरा ही जा रहा था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  शर्दी की रात में सेक्स

गौतम:- ये क्या हो रहा है ।
पंकज :- जशन मेरी शादी तय होने का
गौतम :- तो हमे ब शामिल कर लो ।

तब मुझे पता चला कि मेरा नंदोई Kitna kamina hai
पंकज ने गौतम को भी बुला लिया
और गौतम तुरंत आके मेरे पीछे से लिपट गया अब मैं उन दोनों के बीच में आ गई
वह मुझसे एकदम चिपक गया मुझे वह फील हो रहा था पूरा का पूरा उसका मु मेरे खुले कंधे पे था और अब दोनो अपने अपने शरीर का वजन मेरे ऊपर डालने लगे
ओर फिर गौतम कमीने ने मेरी कमर पे गुदगुदी करि ओर मेरी हसी निकल गई

गौतम :- इसका मतलब bhabi जी को गुदगुदी होती है

फिर पंकज ने बी करि में फिर है दी

पलक :- बस बस सबको होती है गुदगुदी तो ।

फिर मुझे लगा कि 5 minute हो चुके है कही कोई आ न जाए तो मैने कहा कि चलो अब चलते है ।

पंकज :- मेरा छोड़ने का मन नई है आपको पलक जी

गौतम :- मन तो मेरा बी नई है पर नीचे सब बुला रहे है में यही बताने aya था ।

Tab तक मेरा फोन फिर से बज गया मेरे हबी का कॉल आ गया तो में जैसे तैसे उनके बीच से निकली और फ़ोन उठाया और कहा बस पोहच गए ।

पलक :- चलिए होने वाले जीजाजी ओर गौतम जी दोबारा बुलावा आ गया ।

दोनो जानो के चेरे तो खिले हुए थे वो बोले आपके पीछे पीछे चलेंगे

तो में मुढ़ी चलने के लिए ओर वो मेरे पीछे पीछे आने लगे पीछे आते आते पंकज ने अपना मोबाइल मेरी पीठ प लगाया वो ठंडा था तो मेरी सिसकी निकल गई ओर में मुस्कुरा के बोली

पलक :- इससस क्या कर रहे है नंदोई जी

पंकज :- अब तो हमारा हक़ है ये।

यह देख के गौतम ने ब अपना मोबाइल मेरी पीठ प लगाया

पलक :- आप ब गौतम जी ?

पंकज :- मेरे दोस्त का बी तो हक़ है ।

पलक :- अब आप कह रे है तो में माना नई करूँगी ।

Tab तक हम अगले कमरे में पोहच गए और वह मेरी नंद ओर डायमंड जी हमारा wait कर रहे थे ।

डायमंड :- क्या बात गौतम बड़े खुश दिख रहे हो ।
गौतम :- बात ही ऐसी है ।
डिमांड :- हमे बी बताओ

में बीच मे बोल दी कुकी मुझे लगा कही ये कमीना मेरी नंद के सामने सब ना बोल दे ।
पलक :- अरे रिश्ता पक्का कर दिया ना पंकज जी ने इसलिए
डायमंड :- ऐसा क्या जादू कर दिया अपने पलक जी
गौतम :- अरे भैया जादू ही समझो आप तो ।
डायमंड :- तो एक बात समझ लीजिए पलक जी जादू हमपे बी करना पड़ेगा रिश्ता पक्का हम ही करेंगे ।

गौतम :- तो।डायमंड भैया ओर पलक जी यही रुकिए ओर हम सब चलते है

और इस बात पर सब हंस दिए पर डायमंड इतना क**** था की बोला

डायमंड :- पलक जी कहें तो हम रुक जाएंगे ।

पलक :- नई नई अब चलना चाहिए ओर हम सब नीचे आ गए ।

नीचे आने के बाद वह तीनों आगे चले गए और डायमंड ने मेरे कान में कहा कि जादू हमें भी दिखा दीजिएगा पलक जी रिश्ता हम ही तय करेंगे तो मैंने भी झट से कह दिया कि आपको दिखाने में कोई एतराज नहीं है बस रिश्ता होने दीजिए और मैं मुस्कुरा दी

यह सुनते ही डायमंड ने Gautam ko Awaaz Lagai

डायमंड :- ओए उन दोनों के साथ कहा जा रहा है यह आ ।
गौतम :- हा भैया बताइये
डायमंड :- अरे अब बता क्या जादू था ।
पलक :- अरे कुछ नई मजाक था ।

गौतम ने तुरंत अपना हाथ मेरी पीठ पर फेर दिया और बोला देखिए भैया यह था जादू
पलक :- इईससस, गौतम जी यह सब है क्या कर रहे है।

मेरी सिसकी सुनकर डायमंड तो पागल ही हो गया और बोला तो वहां चले जहां कोई नहीं है

गौतम :- हा चलो चलते हैं

पलक :- नई नई सब ढूंढेंगे आप लोग कंट्रोल करिए ये सब मजाक अब तो चलता ही रहेगा उतावले कु हुए जा रहे हैं

डायमंड :-एक मौका तो हमे बी मिलना चाहिए
और यह कहकर डायमंड ने अपना हाथ हमारे पूरे पेट पर फिरा दिया और मैं एकदम से पीछे हट गई

पलक :- आप लोग तो बस

डायमंड : अभी तो आपको छोड़ रहे है लेकिन बैचलर पार्टी में तो अब आपको ana ही पड़ेगा

पलक :- जी पक्का

गौतम :- हमे तो पेट पे हाथ लगाने को मिला नई

पलक :- आपको काफी कुछ मिल गया अब चलिए ।
उस रात जब रिश्ता तय करके वापस आए तो मैं पूरी रात सो नहीं पाई मुझे उन लोगों के छूने का एहसास होता रहा जैसे की वह तीनों मेरे बदन को छू रहे हो इतना तो मैं समझ चुकी थी कि अब जल्दी ही मेरे साथ कुछ होने वाला है।

अब मैं अपनी स्टोरी को यहीं रोक रही हूं मुझे मालूम है कि मेरी स्टोरी धीरे धीरे चल रही है लेकिन यह मैं आप लोगों के मनोरंजन के लिए ही कर रही हूं मैं जल्दी ही इसका का भाग 2 लेकर आपके सामने आऊंगी आप पहली वाली स्टोरी केसी लगी मुझे मेल करके बताइएगा।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..

अगली स्टोरी में आप सबको ज्यादा ना तड़पाते हुए असली मजा मिलेगा शुक्रिया।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!