पूनम दीदी की चुदाई की-2

Pooonam Didi ki chudai-2

पूनम दीदी रसोई में खड़ी हो के बार बार मुझे ही देख रही थी में भी चोरी-चोरी उन्हे देख रहा था तभी मैने चोरी से अपना टावल गिरा दिया मेरा तना हुआ लंड हवा में लहरा गया पर में दिखाने लगा की मुझे कुछ पता नही है और में फोन पर बिज़ी हूँ लगभग 10 मिनिट तक में फोन पर बात करता रहा और पूनम दीदी मेरे लंड को निहारती रही 10 मिनिट के बाद मैने फोन काट के रख दिया और एकदम से हैरान हो गया की मेरा टावल गिर गया है मैने पूनम दीदी को देखा वो शर्म से लाल हो गयी थी मैने फटाफट से टावल लपेटा और बाथरूम में चला गया नहा कर मैं कपड़े पहन कर बाहर आ गया और ड्रॉइग रूम में बैठ गया अब मुझे पूनम दीदी के रियेक्शन का इंतज़ार था वो चाय ले कर बेडरूम में आ गयी।

मेरी आँखे खुली रह गयी थी उन्होने ब्रा निकाल दी थी अब उनकी चूचीयों को मैने अपनी आँखों के सामने फिर से पाया निपल्स एकदम टाइट लग रहे थे ऐसा लग रहा था जैसे टी-शर्ट फाड़ के बाहर आ जायेगे चलते हुए जब चूचीयाँ हिल रही थी तो बस क्या बताऊँ आपको मैं तो पागल हुआ जा रहा था पूनम दीदी मेरे सामने आ कर बैठ गयी 6 साल पहले वाली घटना मेरी आँखों के सामने फिर से आ गयी पर आज मैं भागा नही मैने चाय की सीप भरी और हमारी बातचीत कुछ इस तरह शुरू हो गयी।
मैं – आई एम सॉरी पूनम दीदी टावल कब गिरा मुझे पता नही चला।
पूनम दीदी – इट्स ओके कोई बात नही ऐसा होता है कई बार तो मेरा टावल भी ऐसे ही गिर जाता है और तुम्हारे जीजा जी का भी।
मैं – सच में, अगर आपका गिर जाता है तो जीजा जी क्या रियेक्शन देते है।
पूनम दीदी – संत, इस बात को यहीं ख़त्म कर दो।
मैं – ओह! सॉरी अगेन।
पूनम दीदी – ( हंसते हुए)- स्टुपिड! में मज़ाक कर रही थी पूछो क्या पूछ रहे थे?
मैं – कुछ नही।
पूनम दीदी – अब नखरे मत करो जब मैं कह रही हूँ की पूछो।(गुस्से में)
मैं – कुछ नहीं बस में तो यह पूछ रहा था की अगर आपका टावल ऐसे गिर जाता है तो आप भी क्या सॉरी माँगते हो क्या जीजा जी से।
पूनम दीदी – नही।
मैं – तो फिर।
पूनम दीदी – वो कहते है की आज क्या हो गया है कॉलेज ऐसे ही जाओगी क्या? और मैं कहती हूँ हाँ अगर ऐसे चली गयी तो शाम तक कई लड़के मेरा धन्यवाद कर रहे होंगे।
मैं – तो जीजा जी क्या कहते हैं?

हिंदी सेक्स स्टोरी :  4 लड़को ने पेला मेरी बहन को बारी बारी

पूनम दीदी – वो कहते है उनके धन्यवाद को छोड़ो में तुम्हे धन्यवाद देता हूँ।
मैं कहती हूँ किस लिये तो वो कहते है आज मुझे सवेरे– सवेरे जन्नत के दर्शन जो हो गये हैं।
मैं- सच, ऐसा कहते है जीजू।
पूनम दीदी – हाँ, बिल्कुल ऐसे ही।
मैं – कितने लकी हैं जीजू।
पूनम दीदी – वॉट डू यू मीन?
मैं – आई मीन उन्हे रोज सवेरे आपसे इन्स्पिरेशन जो मिलती है और एनर्जी और फ्रेशनेस भी।
(फ्रेंक होते हुए)
पूनम दीदी – चुप पागल।
मैं- अच्छा में कहूँ तो पागल और अगर जीजू कहें तो?????
पूनम दीदी – वो मेरे पति हैं।
मैं – तो क्या हुआ?
पूनम दीदी – तू मेरा भाई है।

मैं – कज़िन भाई और वैसे भी कज़िन तो आपस में शादी तक कर लेते है और आप तो
पूनम दीदी – अच्छा बड़ा बोलने लग गया है तू तेरा मुँह बंद करना पड़ेगा।
मैं (हंसते हुए) – तो करो ना।
पूनम दीदी – मुझे आराम से थप्पड़ मारने लगी।
पूनम दीदी (एकदम से) – 2 इंच का लंड और बातें देखो।
मैं (में चोंक गया ) – मैने कहा यह क्या कह रहे हो?
पूनम दीदी – सॉरी।

मैं – इट्स ओके बट टेल मी इज माई लंड रियली स्माल।
पूनम दीदी मुझे घूरने लगी।
सुहान दीदी – सच कहूँ तो बड़ा मोटा है तेरा लंड तेरे जीजा का तो बिल्कुल पतला है मज़ा ही नही आता।
मैं – आपने कभी मुझसे ये बात क्यों नही की की आप जीजा जी से संतुष्ट नही हो।
पूनम दीदी – डरती थी कहीं तेरा भी छोटा निकला तो मेरा तो सपना ही टूट जायेगा।
मैं – अच्छा तभी आपने स्टोर रूम में मुझे अपनी चूचीयाँ दिखा कर मेरे लंड का अनुमान लगाना चाहती थी।
पूनम दीदी – क्या कहा तूने? चूचीयाँ बेशर्म कहाँ से सीखा ये सब ऐसे बोलते है चूचीयाँ आगे से ऐसे बोला तो तेरा मुँह तोड़ दूँगी।
मैं – अच्छा तो फिर क्या कहूँ?
पूनम दीदी – बूब्स अंडरस्टॅंड।
मैं – ओके और गांड।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी की गरम ससुराल में सभी लेडिस को चोदा-1

पूनम दीदी- बंप/बट। तुम्हारी भाषा सही करो।
मैं – ओके
पूनम दीदी – तेरी कोई गर्लफ्रेंड है?
मैं – ना टाइम ही नही मिलता।
पूनम दीदी – तभी तेरा लंड इतना अच्छा है।
मैं – लंड नहीं डिक कहो।
पूनम दीदी – ओके मेरे प्यारे भैया।
मैं – आपको पसंद है मेरा लंड ओ डिक।
पूनम दीदी – हाँ और तुझे मेरे बूब्स और बट?

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैं – बहुत मैं तो सालों से आपको फुक करने के सपने देख रहा हूँ पर आपने कभी चान्स ही नही दिया।
पूनम दीदी – तो अब चान्स है ना जिन्हे बार- बार अपनी शैतान नज़रों से घूरता रहता है आज उनसे मज़े कर ले।
मैं – तो चलो हो जाओ शुरू।

मैने पूनम दीदी की टी-शर्ट उतारी टी-शर्ट उतरते ही उनके चूचे जो हीले तो मेरा तो दिल ही बाहर निकल आया मैं उन्हे मुँह में लेकर चूसने लगा एक-एक करके दोनो को खूब दबाया और चूसा पूनम दीदी की आँखे बंद थी और मुँह से आवाज़ निकल रही थी—आआअहह, ऊऊओउूऊचह मज़ाआआ आआआअ रहा है ज़्यादा मत ज़ोर लगाओ में कहीं भागी थोड़ी जा रही हूँ फिर मैने उनके गुलाबी होठो को चूसा जीभ से जीभ लगाई और हाथों से साथ-साथ उनके चूचे दबाये उन्होने मेरी केप्री को उतार कर मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और उसे देख कर बड़ी हैरान हुई उन्होने बिना कुछ कहे उसे मुँह में ले लिया और बड़े चाव से चूसने लगी जैसे छोटा बच्चा लॉलीपोप चूसता है 25 मिनिट तक वो चूसती रही।

फिर मेरा उनके मुँह में ही छूट गया वो बोली – ये तो बिल्कुल नमकीन है मैने उन्हें बेड पर लेटाया और दोनो टांगे ऊपर पंखे की तरफ करके उनकी केप्री और पेंटी उतार दी क्या मस्त चिकनी चूत थी और वो भी गुलाबी मैं उसे चाटने लगा वो सिसकारियाँ भरने लगी ऊऊऊईईईईई आआआआअहह हहाआययययययईईई म्म्म्म ममममाओंररररर गयययययईई 20 मिनिट में वो 2 बार झड़ गयी फिर मैने उन्हें घोड़ी बना कर अपना 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटे लंड का सूपड़ा उनकी चूत के मुँह पर रखा और एकदम से पेल दिया पूनम दीदी चिल्ला पड़ी पर में कहाँ थमने वाला था उनकी चीखों से सारा कमरा गूँज गया लगभग मैने उन्हे लगातार 3 घंटे तक चोदा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामा की लड़की की चुदाई-2

3 घंटे में मेरा 4 बार और पूनम दीदी का 5 बार पानी निकला 3 घंटे बाद दोनो एक दूसरे की बाहों में पड़े- पड़े सो गये मैं उनकी चूचीयों के बीच में सर रख कर सो गया आह क्या गद्देदार मजेदार चूचियां थी और सेक्स की खुशबू पूरे कमरे में महक रही थी आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी जरूर बताएं मेल आईडी [email protected]

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!