पूजा के बहाने तांत्रिक ने चुदाई की – Puja ke bahane tantrik ne choda

पूजा के बहाने तांत्रिक ने चुदाई की , बुझा करने वाले ने चोदा , मंत्र मारकर चोद दिया , भुत निकालने के लिए चुदवाई – Puja ke bahane tantrik ne choda , Antarvasna Sex Stories , Hindi Sex Story , Real Indian Chudai Kahani , choda chadi cudai cudi coda free of cost , Time pass Story , Adult xxx vasna kahaniyan.

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम पूजा है मेरी उम्र 25 साल का है, मैं मदमस्त जवानी को हमेशा बचा के रखी क्यों कि मैं अपनी जवानी सिर्फ अपने पति की ही ऊपर की तलाश करना चाहता हूं, कई बार ऐसा मौका आने पर मैं हमेशा से प्यार करता था, शादी हुई और बस 2 महीना तक बस चुदाई ही चुदाई, बहुत मज़े, कभी शिमला में चुदाई, कभी मनाली में चुदाई, कभी होटल में, घर की बात तो ही छोड़ दो, घर का कोई ऐसा कोंना नहीं बचा था, जहां मुझे नहीं था, और कोई जगह नहीं थी, जहां से मेरी चुदाई की थीं, वह आवाज न निकली थी, सबसे ज़्यादा मजा तो मुझे रोटी बनाने के लिए आ रहा था, मैं खड़े होक था और रो रोटी बेलती थी और मेरे पिता मुझे पीछे से साड़ी उठाने के लिए चोद रहा होगा वहाँ था मेरी ज़िन्दगी काफी हसी ख़ुशी चल रही है पर थोड़े दिन में ही मुझे मिल गया था, एक लड़की जो काम में थी

सचमु दोों में उससे कमनी ही कहती थी, वो मुझे मेरा हड का दो था, पर उसका निर्णायक सही नहीं था, मेरे पंकज को पटा का एक बार धनौली जो कि उरखंड में चले गए और रंगरेली मनाई, तब से पंकज मेरी चुदाई का जिहासा भी कमानी को ही दे आ रहा था, अब पंकज मेरे से झगड़ा भी करने लगा था, और कहने लगा तुम बहन जी टाइप हो, मॉडर्न नहीं हो, देखिए कामीनी को कैसी लगती है, यह प है, एफ़गर है, और आप खुद को आईने म देखे कै सी लगती हो, में समझ गयी

हिंदी सेक्स स्टोरी :  पंजाबी आंटी को बिच पर चोदा

पर मैं सोची की चलो अपना घर ठीक करने के लिए कुछ भी करना पड़ता है तो भी ठीक है, मैं नहा का एक कटन की साड़ी डाल के आया, मैं हर जगह राम तेरी गंगा मैली का हीरोइन जैसा दिख रहा था वह और साइड से दिख रहा था, बड़े बड़े चूचे जिन को ब्रा और ब्लॉउज में बाँध के रखती थी आज सब आज़ाद था, मैं बहुत हीक्सी लग रहा था। फिर वह तांत्रिक मेरे ऊपर भी करी कर्म काड़ा लिया और बोले जाने के लिए, और वह खुद ही मेरी साड़ी ऊपर कर दिया, बोला मुझे योनि पूजा करना है, मुझे कुछ समझ नहीं है लेकिन मैं सब कुछ करने के लिए तैयार हूं, उसने मेरे चूत्त में जल और थोड़ा सा फूल चढ़ा और मन्त्र बोला पूरे घर में होप और परवती से महक का हो, फिर से मेरे ऊपर से निकल शरीर को हाथ से सहलाया उसका हाथ मेरे स्तनों को छुड़ाया मुझे अंदर अब्ब सी गुड़गड़ी होने लगी, फिर थोड़े देर में मुझे निर्दोष बनाया, और कहा तुम मुझे किसी को चीज के लिए मना नहीं, मैं भी सोची चल रहा हूँ

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मुझे अपना सब कुछ उस तरह से सौंप दिया गया था। वह तन्त्रिक करीब 36 साल का था, वह मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया, और चोदने लगा, वो मेरे चूचियों को मुसलती हुई भद्दा भद्दा गलियां दे रही है, मैं फिर से फैलाकर चुद रहा था , मुझे भी शकुन था कि अब सब कुछ ठीक हो जायेगा, रातभर यह चलना चल रहा है चुदाई और तंत्र मंत्र, मुझे एक उम्मीद है कि सब कुछ नर्मल हो रहा है, सुबह हो गया I ने पैसे भी दिया उस तन्त्रिक को और मुझे फिर से एक बा खड़े खड़े चोद के चला गया।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी हिंदी कि पूरी कहानी-5

दूसरे दिन ही मेरे पति आने बाले, मैं मुझे सज संवर का था, ताकि मेरा पति मुझे पसंद आए, शाम करीब करीब 6 बजे घंटी बजी, मेरा पति आया, बहुत दुखी था मैं पछी का क्या बात है, तो उन्होंने कहा कि कामिनी आज मेरे सारा पैसा लेके पारावार हो गया है, मैं उसके ऊपर कम्प्लेंट किया है वह मेरे जिंदगी को बर्बाद कर दिया है, और वह मेरे सेन लिपट गया, मैं तुम्हें यह नहीं कह सकता कि यह कैसे हुआ, आपने हुआ है कि तांत्रिक की कारण स हुआ पर जो भी हुआ अच्छा हुआ।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!