तेरी माँ को चोदूँ, बहन चोद

Teri ma ko chodu behan chod

हेल्लो दोस्तो,

मेरा नाम मन है और मैं हॉस्टल में रहता हूँ, मैं एक गे हूँ और मुझे चोदना और चुदवाना अच्छा लगता है।

मेरे रूम में एक और लड़का रहता है, जिसका नाम रोहित है और वो मस्त माल है।

हम दोनों कभी कभी साथ में ही सोते थे, एक दिन मैंने रोहित को गे सेक्स के बारे में बताया। उसने कहा कि चल हम भी कर के देखते हैं, वो खुले विचारों वाला लड़का था।

मैंने कहा – चलो फिर… और हम रूम में आ गए।

रूम में पहुँचते ही मैंने रोहित को बाहों में ले लिया और किस करने लगा। रोहित बोला – लोडे, रूक रूम तो बंद कर, तो मैं रूक गया और उसने जाकर रूम बंद कर दिया।

फिर हम एक दूसरे को किस करने लगे। हमारा पहली बार था, तो बहुत मजा आ रहा था।

रोहित किस करते करते मेरा लण्ड सहलाने लगा और मैं रोहित की गाण्ड मसल रहा था। बहुत मजा आ रहा था।

रोहित बोला – चल अब नंगा हो जा, बहन चोद!! !!

मैंने कहा – अब हम गालियाँ देकर ही बात करेंगे।

उसने कहा – ओके…

मैं और रोहित अब नंगे हो गए, और फिर से हम एक दूसरे की बाहों में आ गए और किस करने लगे, किस करते करते हम लेट गए।

मैंने रोहित का लण्ड पकड़ लिया और सहलाने लगा और वो मेरा लण्ड सहलाने लगा!!

मैंने कहा – माँ के लोडे, चल अब ६९ की स्टाइल में आ जा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी गांड में दो लौड़े

उसने कहा – ओके।

मैं नीचे था और वो मेरे ऊपर था…

मैं उसका लण्ड मुँह में लेके चूस रहा था। बहुत मजा आ रहा था, आआआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… और वो मेरा चूस रहा था… हम बीच बीच में एक दूसरे को गालियाँ भी देते थे…

मैं – साली, रांड़ जोर से चूस, आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… पुच्च्च्च्च्च्च…

वो – साली, रंडी चूस मेरा, आअह्ह्ह्ह्हाआअह्ह्ह्ह्ह्हाआआ…

मैं अब जोर जोर से उसका लण्ड चूस रहा था और वो मेरा!! बहुत मजा आ रहा था…

मैंने लण्ड चूसते चूसते उसकी गाण्ड में उंगली डाल दी और वो चिल्लाया, आआआह्ह्ह्ह्ह्ह्हाआआआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह…

मैं अब उसका लण्ड चूस रहा था और उसकी गाण्ड में उंगली भी कर रहा था… पूरे रूम में पुच्च्च्क…पुच्च्च… की आवाज आ रही थी…

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब लण्ड पूरा कड़क और टाइट था। मैंने कहा – चल अब असली मजे करते है!!

वो बोला – चल लोडे…

मैंने उसे लेटने को बोला और गाण्ड ऊपर रखने को बोला, तो वो उल्टा लेट गया। मैंने उसकी गाण्ड में उंगली डाल दी और हिलने लगा, वो चिल्ला रहा था – साली! रंडी, धीरे धीरे कर… आआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्हाआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह…

तेरी माँ को चोदूँ आआआह्ह्ह्ह्ह्ह… मैंने थोड़ी स्पीड कम कर दी, अब वो मजे ले रहा था, मैंने उसकी गाण्ड में दो उंगली डाल दी…

वो फिर से चिल्लाया – आआआआआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… तेरी बहन को चोदूँ… आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्हाआआआ… मजा आ रहा है, मैंने स्पीड बड़ा दी और गाली देने लगा – साली रंडी ले, तेरी माँ को चोदूँ, बहन चोद!!

फिर मैंने कहा – चल अब लण्ड डाल रहा हूँ!! !!!

तो वो डौगी स्टाइल में आ गया और मैंने लण्ड उसकी गाण्ड पर रखा और फिराने लगा। मुझे बहुत मजा आ रहा था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Dosto Ne Ki Meri Gaand Chudai

अब मैंने गाण्ड पर थूक लगाया और लण्ड छेड़ पर रखा और धीरे से धक्का दिया, तो लण्ड फिसल गया।

फिर एक हाथ से लण्ड पकड़ा और एक हाथ से गाण्ड और जोर से धक्का दिया और आधा लण्ड गाण्ड में चला गया!!

वो जोर जोर से चिल्लाने लगा – लोडे, निकाल बाहर, आआआआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… आआआअह्ह्ह्ह…

बहुत दर्द हो रहा है, तो मैं रूक गया। वो चिल्ला रहा था – आआअह्ह्ह्ह्ह्ह… साली रंडी, फाड़ दी मेरी गाण्ड… माँ की चूत… आआआह्ह्ह्ह्ह्हाआआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह…

थोड़ी देर बाद वो शांत हो गया और मैंने फिर से जोर से धक्का मर के पूरा लण्ड उसकी गाण्ड में डाल दिया!!

मेरे मुँह से भी आआआआआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह निकल गयी और वो जोर जोर से चिल्लाने लगा – निकाल, आआआह्ह्ह्हाआह्ह्ह्ह… रंडी आआअ… फाड़ दी मेरी गाण्ड… मैंने उसे कहा – धीरे बोल, कोई सुन लेगा।

मैं समझ गया कि अब उसका दर्द कम हो गया है, तो मैं अब धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा और वो आआआह्ह्ह्ह्हाआआह्ह्ह्ह… की आहें भरने लगा!!

मेरे मुँह से भी आआह्ह्ह्ह्हाआअह्ह्ह्ह… निकल रहा था… क्या गाण्ड थी, साले की!! !!

मैं अब मार रहा था और वो मजे ले रहा था… वो बोल रहा था – फाड़ दे मेरी गाण्ड… तेरी रंडी बना ले।

मैं बोल रहा था – ले लोडे, मेरी रानी, तेरी बहन की चूत, मारूँ!! !!!

अब मैंने कहा – चल अब, मेरे लण्ड पर बैठ के मरवा और मैं लेट गया और वो मेरे लण्ड पर गाण्ड रख कर बैठ गया!! अब वो ऊपर नीचे हो रहा था… फिर उसने एक उंगली मेरी गाण्ड में डाल दी – आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… मेरा लण्ड और भी कड़क हो गया, सारे रूम में आआआआआआहह… स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्श्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… ऊऊऊउफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़… की आवाज़ें आ रही थीं!!

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी की भयंकर गाण्ड मारी

मैंने लगभग २० मिनट तब उसकी गाण्ड मारी, अब मैं झड़ने वाला था। मैंने लण्ड बाहर निकाला और उसके मुँह पर छोड़ने लगा और वो सारा का सारा पानी निगल गया…

ये स्टोरी कैसी लगी, ये मुझे जरुर बताएगा…

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!