भाभी की चूत के अंगारे

Bhabhi ki chut ke angare

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम विजय है, में गुजरात का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 29 साल है. मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है. अब में आपको अपनी एक कहानी सुनाने जा रहा हूँ, जो आज से करीब 1 महीने पहले की है. हमारे घर में मेरा बड़ा भाई (अनुज), भाभी (नेहा) और मम्मी, पापा रहते है.

मेरे भाई की शादी आज से 2 साल पहले हुई थी. में और भाभी उस वक़्त एक ही उम्र के थे. मेरा भाई एक ट्रेवल कंपनी टूर को अरेंज करता है और टूर पर जाता रहता है, वो कभी कभी तो 1 महीने की टूर पर जाता है, क्योंकि उसको टूर वालों के लिए खाना-पीना होटल आदि की व्यवस्था करनी पड़ती है. फिर एक दिन की बात है मेरा भाई टूर के साथ नेपाल गया हुआ था, वो 25 दिन का टूर था. अब घर पर में, भाभी और मम्मी, पापा थे. में एक प्राइवेट वर्क शॉप में हेड मैकेनिक हूँ.

फिर उस दिन जब में काम से घर आया तो पता चला कि मम्मी, पापा मामा के घर गये हुए थे और वो दूसरे दिन शाम को आने वाले थे. फिर जब में घर पहुँचा तो भाभी नहा रही थी, तो में हॉल में बैठ गया. अब में आपको मेरी भाभी के बारे में कुछ बता दूँ. वो 28 साल की है, हाईट 5 फुट 7, इंच रंग गोरा, फिगर साईज 36-28-39 है, वो बहुत ही खूबसूरत और सेक्सी है.

जब वो नहाकर बाहर निकली तो वो सिर्फ़ टावल में थी. अब मुझे उनके टावल में घुटनों के ऊपर गोरी-गोरी चिकनी जांघे साफ-साफ़ नज़र आ रही थी और टावल उनकी चूचीयों से थोड़ा ही ऊपर था. फिर ये देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया और सोचा कि आज तो चोद ही डालूँ. फिर में उनके पीछे-पीछे उनके बेडरूम में गया तो मैंने देखा कि वो रूम में पूरी नंगी होकर अपना बदन पोंछ रही थी और अपने बूब्स को सहला रही थी और उनकी चूची एकदम लाल हो रही थी. फिर में भी अपना लंड अपने हाथ में लेकर सहलाने लगा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  पति के सामने बीवी की घमासान चुदाई-4

फिर वो अलमारी की तरफ बढ़ी, तो तब मैंने उनकी गांड देखी उूउउफ़फ्फ़ क्या गांड थी? मैंने सोचा कि अभी जाकर बिना तेल लगाए पूरा लंड अंदर डाल दूँ. फिर वो अलमारी से ब्रा निकालकर पहनने लगी और उसकी मेचिंग पेंटी भी पहन ली. अब ब्रा पेंटी पहनने के बाद वो क्या ग़ज़ब लग रही थी? अब ब्लेक ब्रा और पेंटी देखकर तो मेरा दिमाग खराब हो गया था.

उसने पूरे कपड़े पहन लिए और रूम में आ गई. अब तक उनके बाल भी गीले थे और अब में उनको देखता ही रह गया था. तो वो बोली कि वीजू क्या देख रहे हो? तो मैंने कहा कि आज आप कमाल लग रही हो, तो वो मुस्कुराई और बोली कि तुम्हारे कहने का मतलब क्या है? तो में थोड़ा हड़बड़ा गया और हिम्मत करके कहा कि वही जो आप समझ रही हो. फिर तब मैंने देखा कि वो मुझे कुछ अजीब तरह से देख रही थी. फिर वो मेरे पास आई और बोली कि आज कुछ ज़्यादा ही नटखट दिख रहे हो.

फिर मैंने कहा कि आज आपको देखकर रहा नहीं जा रहा है. फिर वो मेरे पास आकर बैठ गई और बोली कि वीजू मेरी कमर में कुछ दर्द है, थोड़ी मालिश कर दोगे? तो मैंने कहा कि हाँ क्यों नहीं? लेकिन मुझे भूख लगी है खाना दो. फिर खाना खाने के बाद मालिश करूँगा, तो फिर उसने खाना लगाया और फिर हम दोनों ने खाना खाया और बेडरूम में आ गये.

उसने टी.वी चालू की और मुझे मालिश करने को कहा. अब स्टार गोल्ड पर “तुम” फिल्म चल रही थी, तो में धीरे-धीरे मालिश करने लगा. फिर उसी वक़्त टी.वी पर होटल वाला सीन आया, जिसमें हीरो हिरोइन के साथ फॉरप्ले करता है, तो मेरा लंड खड़ा हो गया. फिर वो बोली कि मेरे पैरो पर आ जाओ और अपने दोनों हाथों से मालिश करो, तो मैंने ऐसा ही किया.

अब जैसे ही में अपने हाथ उनकी कमर से पीठ की और ले जाता था, तो तब मेरा लंड उनकी गांड को टच करता था. अब फिल्म के साथ-साथ वो भी गर्म हो रही थी और अपने हाथ से बेडशीट को मसल रही. फिर अचानक से वो पलट गई, तो में उनके ऊपर आ गिरा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दोस्त की नई प्यासी दुल्हन की चुदाई-1

फिर मैंने उसकी आँखों में देखा, तो मुझे इन्विटेशन नज़र आया और मैंने धीरे से उसके होंठ चूम लिए. फिर में उसके गालों को चूमते-चूमते उसकी गर्दन तक चला गया, तो वहाँ से मुझे उसके बूब्स की जगह नज़र आई. फिर मैंने धीरे से उसके दोनों बूब्स पर एक लंबा किस किया, तो उसके मुँह से सिसकारी निकल गई.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने उसकी साड़ी उतार दी और उससे कहा कि भाभी आप तो अप्सरा लग रही हो. तो वो बोली कि मेरी बॉडी के साथ खेलते हो और फिर भाभी कहते हो. फिर मैंने कहा कि क्या कहूँ मेरी जान? तो वो बोली कि मुझे सिर्फ़ नेहा कहो. फिर मैंने कहा कि मेरी जान नेहा और में उसकी ब्रा में से उसके बूब्स को दबाता रहा, तो वो आ आ करने लगी.

में उसके पेट को चाटने लगा और धीरे- धीरे उसकी पूरी बॉडी को चूसने लगा. अब उसे भी मज़ा आने लगा था और अब मेरा एक हाथ उसके एक बूब्स को दबा रहा था तो एक हाथ उसकी पेंटी में जाकर उसकी क्लीन शेव चूत पर रगड़ रहा था.

फिर मैंने उसका पेटीकोट उतार दिया और फिर उसकी पेंटी भी उतार दी. फिर मैंने उसकी गर्म चूत पर एक जोरदार किस किया, तो वो तड़प उठी. अब मेरे लंड का भी बुरा हाल था, अब हम लोग 69 पोज़िशन में आ गये थे. अब वो मेरा लंड लॉलीपोप की तरह चूस रही थी और अब में अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदने लगा था. अब वो आ आ कर रही थी.

मैंने अब तक उसकी ब्रा नहीं उतारी थी और में किसी भी औरत या लड़की को ब्रा के साथ ही चोदता हूँ, क्योंकि मुझे उसमें बहुत मज़ा आता है. अब मेरे दोनों हाथ उसकी गांड पर चल रहे थे. फिर अचानक से वो बोली कि तुम्हें शादीशुदा औरतों को चोदने का काफ़ी अनुभव है. फिर मैंने कहा कि मुझे शादीशुदा औरतें अच्छी लगती है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  आंटी के चूत और गांड में लंड दिया

वो बोली कि असली मज़ा तो हम लोगों में ही है, कुंवारी लड़कियां कहाँ चुदा पाती है? और तेरा तो लंड भी बहुत बड़ा है, इससे तो अच्छी से अच्छी चुदक्कड़ भी पानी माँग जाएगी. फिर हम 69 पोजिशन से अलग हुए और में उसके बूब्स चूसने लगा, तो वो अपने सीने को मेरे मुँह में दबाने लगी.

फिर में उसकी चूत में अपनी उंगली डालकर अंदर बाहर करने लगा. अब वो इतनी गर्म हो गई थी कि उसने मुझको खुद ही चोदने को कहा, तो फिर मैंने उसके दोनों पैर अपने कंधे पर रखे और उसकी चूत के मुँह पर अपना लंड रखकर रगड़ने लगा और हमारा ये फॉरप्ले का खेल करीब 40 मिनट तक चलता रहा.

में धीरे से अपना 7 इंच लंबा लंड उसकी चूत पर घिसने लगा और अचानक से एक जोरदार धक्का दिया तो मेरा 3 इंच लंड तक उसकी चूत में अंदर घुस गया और वो जोर से चीखी, लेकिन मैंने उसकी परवाह ना करते हुए फिर से एक धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड अंदर चला गया और फिर में ज़ोर-जोर से अपना लंड अंदर बाहर करने लगा और उसको लगातार 15 मिनट तक चोदता रहा.

मैंने उसको घोड़ी बनाया और उसकी कमर को पकड़कर जोर-जोर के धक्के लगाने लगा और करीब 7 मिनट तक लगातार चोदता रहा. अब जब में झड़ने वाला था तो तब मैंने उसकी ब्रा को फाड़ दिया और झड़ गया. अब वो भी शांत हो गई थी. फिर मैंने दूसरे दिन शाम तक उसको 7 बार चोदा.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!