छोटी रंडी की चूत बड़ी कर दी अपने लंड से-3

Chhoti Randi Ki Chut Badi Kar Di Apne Lund Se-3

फिर मैंने अपने लंड को दोबारा चूत के मुहं पर लगा दिया और अचानक से एक ज़ोर से धक्का मार दिया उूउइईईईईईई आईईईइ में मर गई वो बड़ी ज़ोर से चीखने लगी। उसी समय मैंने उसका मुँह अपने मुँह से बंद कर दिया और फिर मैंने अपनी तरफ से उसको धक्का मार दिया। मेरे लंड का टोपा उसकी चूत के अंदर चला गया और वो उस दर्द से छटपटाने लगी। Chhoti Randi Ki Chut

फिर उसने अपने दोनों पैरों को उतार दिया और वो अब मुझे झटकने लगी और मुझे अपने से दूर करने लगी, लेकिन वो कमसिन अपनी तरफ से कितना भी ज़ोर लगाती, उससे कुछ भी नहीं होने वाला था क्योंकि मैंने उसको अपनी बाहों में बड़ी मजबूती से जकड़ रखा था और मैंने बिना उसके दर्द की परवाह किए घच से एक जोरदार धक्का मार दिया, उसके मुहं से आह्ह्ह्हह्ह उउम्म्म्म की आवाज़ अब अंदर ही दबकर रह गयी और मेरा लंड अंदर उसकी सील को तोड़ता हुआ पूरा अंदर जाकर घुस गया। वो अब उस दर्द से बहुत छटपटा रही थी और में वैसे ही दबाव बनाते हुए कुछ देर रुका हुआ था। फिर मैंने देखा कि अब उसकी आँखो से आँसू निकल रहे थे।

अब मैंने अपना मुँह उसके मुँह से हटा दिया तो वो ज़ोर ज़ोर से आवाज करके रोने लगी थी। वो मुझसे कह रही थी आह्ह्हह् उफफ्फ्फ्फ़ में नहीं चुदवाना चाहती, प्लीज अब मुझे छोड़ दो आईई मुझे बहुत दर्द हो रहा है, में इसकी वजह से मर ही जाउंगी, प्लीज अब रहने दो इसको तुम बाहर निकालो। फिर मैंने उससे कहा कि साली रंडी अभी तो तू कुछ देर पहले मेरा लंड लेने के लिए ज़ोर ज़ोर चिल्ला रही थी कह रही थी, हाँ मुझे आप कैसे भी चोद दो, मेरी चूत को शांत कर दो और अब तू मेरे चोदना शुरू करते ही रो रही है। फिर वो रोते हुए कहने लगी आईईईई उफफ्फ्फ्फ़ नहीं मुझे नहीं पता था कि चुदाई में कभी इतना भी दर्द होगा आह्हह प्लीज मेरी चूत अब फट गयी, मुझे बहुत जल रहा है, छोड़ दो प्लीज़ वरना में मर ही जाउंगी। Chhoti Randi Ki Chut

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Baap Re!!! Kitna Bada Lund Hai Tumhara 1

फिर मैंने उससे कहा कि अब मेरा लंड तेरी इस कुंवारी चूत में जब जा ही चुका है तो में अब तेरी चुदाई करके ही तुझे छोड़ूँगा। अब में धीरे धीरे धक्के लगाकर उस कच्ची काली की चूत में अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा था और मेरा मोटा लंबा लंड उसकी टाइट चूत में पिस्टन की तरह चल रहा था। वो दर्द से करहा रही थी कि तभी मैंने धक्के देना रोक दिया और अपने लंड को वैसे ही चूत में ही रहने दिया और अब में उसके छोटे, लेकिन उठे हुए बूब्स की नन्ही सी निप्पल को अपने मुहं में लेकर चूसने लगा था और कभी में उसके होंठो को पीने लगता तो कभी उसके चेहरे को चाटने भी लगता और कभी बूब्स को मसलता और निप्पल को खींचने लगता और इस तरह आधे घंटे तक में उसको ऐसे चूसता चाटता रहा और जब मुझे लगा कि अब उसको दर्द ज्यादा नहीं हो रहा है तब मैंने अपने लंड को एक बार फिर से उसकी तंग छोटी आकार की चूत में आगे पीछे करना शुरू कर दिया और करीब दस मिनट तक उसको धीरे धीरे धक्के देकर में वैसे ही चोदता रहा और तब उसने अपने दोनों पैरों को मेरी कमर में लपेट लिया। Chhoti Randi Ki Chut

फिर मैंने अपने धक्को की स्पीड को पहले से ज्यादा बढ़ा दिया था और करीब पांच मिनट में ही उसके मुँह से उन्हह्ह्ह आह्ह्ह की आवाज़ निकलनी शुरू हो गयी और तब मैंने उससे पूछा कि क्यों तुम्हे यह सब कैसा लग रहा है मेरी जान? तो बोली कि हाँ अब मुझे दर्द नहीं हो रहा है तुम अब थोड़ा तेज़ धक्के देकर चोदो और फिर मैंने अपनी स्पीड को पहले से भी ज्यादा बढ़ा दिया और में उसके होंठ भी चूसने लगा था। वो भी मेरा होंठो को चूसने में मेरा साथ देने लगी और उसके कुछ देर बाद अचानक से उसने अपना बदन कड़ा कर लिया आह्ह्ह्हह उूउह्ह्ह्हह उईईईईईईईई करने लगी और में समझ गया था कि उसकी चूत ने अपना रस छोड़ दिया है इसलिए मैंने भी अपने धक्को की रफ्तार को बहुत तेज़ कर दिया। फिर वो झड़ने के कुछ देर बाद एकदम से सुस्त हो गयी और उसके कुछ ही समय बाद मेरे लंड ने भी अपना पानी छोड़ दिया और मैंने वो सारा गरम गरम वीर्य उसकी चूत में बहुत गहराई तक भर दिया                   Chhoti Randi Ki Chut

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  जन्मदिन का उपहार

और फिर में उस पर बिल्कुल निढाल होकर थम गया। फिर करीब दस मिनट तक वैसे ही उसके ऊपर पड़ा रहने के बाद में उठा और मैंने उसको भी उठाया और हम दोनों बाथरूम में चले गये, बाथरूम में जाकर हम दोनों ने लंड और चूत को साफ किया और में धीरे धीरे उस कच्ची कली के बदन को सहलाने लगा, जिसकी वजह से कुछ ही देर में मेरा लंड एक बार फिर से तनकर खड़ा हो गया। मैंने हंसते हुए उससे पूछ लिया क्या और भी चुदवाएगी? तो वो मुस्कुराते हुए बोली कि हाँ क्यों नहीं? अब तो तुम तुम्हारा जितना भी जी चाहे मुझे चोदो, में तो अब इस चुदाई के बाद तुम्हारी ही हो गयी हूँ और मुझे यह सब करने में बड़ा मज़ा आया। मेरी चूत को आग को तुम्हारे इस लंड ने बुझाकर इसको पूरी तरह से शांत संतुष्ट कर दिया है। Chhoti Randi Ki Chut

फिर मैंने उससे कहा कि मुझे लगता है कि तुम्हे इस चुदाई के बाद अब मेरे लंड का स्वाद लग गया है इसलिए तुम अभी तो थोड़ी देर पहले तक इतना ज़ोर से चिल्लाकर कह रही थी कि तुम्हे मुझसे दोबारा कभी चुदाई नहीं करवानी है, तुम्हे उस समय बहुत दर्द हो रहा था, तुम इस दर्द से मरी जा रही थी और अब तुम मेरा लंड लेने के लिए मेरी रंडी बन रही हो, में तुम्हे दोबारा से यह मज़े जरुर दूंगा, लेकिन इस वक़्त रात के दस बज रहे है और अब हमारा खाना खाने का भी समय हो गया है, इसलिए बाद में मज़े करेंगे इतना कहकर में उसके साथ कुछ देर नहाने के बाद बाथरूम से बाहर आ गया और उसके बाद हम दोनों ने अपने अपने कपड़े पहने और फिर कमरे से बाहर आ गए।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Bhai Ki GirlFriend Ki Chudai

दोस्तों अब हम सभी लोग एक साथ में बैठकर खाना खा रहे थे, तभी में अपने सामने बैठी संगीता को देखकर मन ही मन में सोचने लगा कि आज अगर मुझे दोबारा कोई भी अच्छा मौका मिल गया तो में आज ही इसकी चुदाई कर दूँगा। इस साली के बूब्स दिनों दिन बहुत बड़े होते जा रहे है, में इसकी चूत और गांड में अपने लंड को डालकर इन दोनों को बड़ा जरुर करूँगा, लेकिन उस दिन मेरा लंड उस कच्ची कली को पाकर पूरी तरह से तृप्त हो गया था, इसलिए चुदाई करने का मेरा कोई इतना ज्यादा मन नहीं हुआ और में खाना खाने के बाद कुछ देर उन लोगो से हंसी मजाक करने के बाद अपने कमरे में आकर सो गया । Chhoti Randi Ki Chut

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!