लंड की गरम मलाई चटाई गरिमा आंटी को-3

(Lund Ki Garam Malai Chatai Garima Aunty Ko-3)

फिर कुछ देर बाद में अपना मुहं उन दोनों की चूत के पास ले गया और मैंने अपनी जीभ को उनकी चिपकी हुई चूत पर फेरना शुरू कर दिया। अब में कभी गरिमा की चूत को चाटता तो कभी ज्योति की चूत को चूसता ऐसा करने में मुझे भी उनके साथ साथ बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मैंने कुछ देर बाद ज्योति को खड़ाकर दिया और में उसके बूब्स को चूसने दबाने लगा और गरिमा नीचे बैठकर मेरा लंड चूसने लगी। दोस्तों ज्योति के बूब्स आकार में बड़े होने के साथ ही बहुत कसे हुए भी थे, जिसकी वजह से मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और उसके बूब्स को चूसने पर मुझे ज्यादा मज़ा आ रहा था। “Lund Ki Garam Malai”

अब वो मुझसे बोली कि बेटा अब तुम मेरी इस प्यासी चूत पर भी थोड़ा रहम कर दो और इसको भी तुम चोदो या चाटो इसको तुम कब तक ऐसे ही तरसाते रहोगे? मैंने उसको पलंग पर लेटा दिया और में उसकी चूत को चाटने लगा। अब गरिमा मेरे दोनों पैरों के बीच में आकर नीचे लेटकर मेरा लंड चाट रही थी और में ज्योति की चूत में खोया हुआ था और इस बीच ज्योति दो बार झड़ चुकी थी, जिसकी वजह से अब उसकी चूत से बहुत सारा रस निकलने लगा। फिर वो मुझसे कहने लगी कि बेटा इसको तुम पी लो मैंने उसकी चूत का पानी अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया और नीचे में गरिमा के मुहं को चूत समझकर अपने लंड से झटके देने लगा। “Lund Ki Garam Malai”

अब गरिमा ने भी अपने मुहं को एकदम टाइट कर लिया था क्योंकि वो समझ गई थी कि में उसके मुहं को अपने लंड से चोद रहा हूँ। दोस्तों ज्योति की चूत से मुझे कुछ नशा सा हो गया था, मुझे अब ऐसा लगने लगा था कि जैसे मैंने उस समय तीन पेग पी लिए है, लेकिन अब भी मेरी जीभ उसकी चूत के अंदर थी और मेरी जीभ से ज्योति अब दो बार झड़ चुकी थी और में भी दो बार गरिमा के मुहं में धक्के देते हुए झड़ चुका था, लेकिन गरिमा मेरे पानी को पीने के बाद अब भी मेरे लंड को चाट रही थी। फिर बहुत देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद में उठकर बैठ गया, मुझे उस समय ज्योति और गरिमा उनके खिले हुए चेहरे से बहुत खुश नजर आ रही थी। “Lund Ki Garam Malai”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  अरोड़ा आंटी के साथ सेक्स्टिंग से सेक्स तक

अब ज्योति मुझसे कहने लगी वाह बेटा तू क्या मस्त मज़े देकर चूत को चाटता है? इसकी वजह से मेरी चूत तो आज से तुम्हारी जीभ की दीवानी हो गई है और अब मुझे तुम्हारा लंड नहीं तुम्हारी जीभ ही चाहिए। फिर मैंने उसको कहा कि ज्योति तेरी इस चूत ने भी मुझे बिल्कुल पागल कर दिया था, मेरा मन करता जा रहा था कि में भी इसको लगातार चाटता ही रहूँ। अब गरिमा कहने लगी कि मुझे भी तेरे इस लंड को चाटना बहुत अच्छा लगा, उसके बाद मैंने तेरे आंड को चूसा उनको मसल दिया। “Lund Ki Garam Malai”

फिर ज्योति हमारे लिए चाय बनाने के लिए उठी, उसकी चूत और उसकी गांड को देखकर मेरा लंड एक बार फिर से कुछ ही देर में तनकर खड़ा हो गया, में भागता हुआ उसके पीछे चला गया और मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया और फिर मैंने अपना तना हुआ लंड उसकी चूत में डाल दिया। अब ज्योति वहीं पर नीचे झुक गई और में वहीं पर उसकी चूत को जोरदार धक्के मारने लगा और करीब बीस मिनट तक लगातार ज़ोर ज़ोर से उसकी चूत को धक्के मारने के बाद में उसकी चूत में झड़ गया। फिर वो हंसती हुई बोली बेटा आज तो बहुत मज़ा आ गया क्योंकि आज बहुत साल के बाद मेरी चूत को तुमने मारी है, मुझे तुमने आज अपनी इस चुदाई से बड़ा खुश कर दिया है। अब मैंने उसको कहा कि चल अब तू मेरे लंड को चाट चाटकर साफ कर दे, तभी बीच में गरिमा बोली कि बेटा तेरा यह काम में कर देती हूँ और गरिमा वहीं पर तुरंत ही नीचे बैठकर मेरा लंड अपनी जीभ से चाट चाटकर साफ करने लगी। फिर कुछ देर के बाद ज्योति जाकर हमारे लिए चाय बनाकर ले आई, हम लोग वहीं पर बैठकर चाय पीने लगे। दोस्तों उस समय हम सभी पूरे नंगे ही थे और फिर बातों ही बातों में ज्योति ने बोला कि बेटा आज तक तुमने सबसे अच्छी चूत किसकी मारी है? मैंने बोला कि तेरी, मेरे मुहं से यह बात सुनकर वो हंसने लगी।
“Lund Ki Garam Malai”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब ज्योति बोली कि बेटा तेरा लंड सच में बहुत अच्छा है, में तेरे इस लंड और तेरी इस जीभ की दीवानी हो चुकी हूँ। फिर गरिमा कहने लगी कि सच में अब तुम जब भी चाहो हम दोनों को चोद सकते हो और फिर में उनकी वो बातें अपने काम की तारीफ को सुनकर खुशी खुशी अपने घर पर आ गया। अगले दिन जब में प्रमोद को मिलने उसके घर गया और प्रमोद से में बातें करने लगा, तभी गरिमा आंटी वहां पर आ गई। अब हम दोनों की आंखे मिली उसमे अब भी शरारत थी, वो मुझसे बोली कि बेटा तुम बहुत दिनों से आए नहीं हो क्यों एसी क्या बात है? मैंने कहा कि आंटी में किसी काम में बड़ा व्यस्त था इसलिए मुझे आपके घर पर आने का समय नहीं मिला। फिर वो मेरा यह जवाब सुनकर मेरी तरफ मुस्कुराकर वहां से रसोई में चली गई। तभी प्रमोद का फोन बज गया और वो फोन पर बात करने में व्यस्त हो गया, में चुपचाप उठकर रसोई में चला गया और मैंने देखा कि गरिमा वहां पर काम कर रही थी। अब मैंने पीछे से जाकर उसकी गांड पर अपना एक हाथ फेर दिया और वो बिना मुड़े, देखे बिना तुरंत समझ गई कि वो में हूँ। फिर वो मुझसे कहने लगी कि इस समय प्रमोद घर पर है, मैंने उसको कहा कि मेरा लंड अब खड़ा हो गया है इसको आज अभी तेरी गांड मारनी है। “Lund Ki Garam Malai”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  प्यासी आंटी को चोद कर लखपति बना-2

अब वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर बहुत घबराते हुए डरकर कहने लगी कि नहीं इस समय यह सब करना ठीक नहीं होगा, प्रमोद को पता चल जाएगा और वो हम दोनों के लिए बहुत गलत होगा। फिर मैंने उसको कहा कि प्रमोद को कुछ भी पता नहीं चलेगा और फिर मैंने उसी समय उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और अब में उसकी पेंटी को उतारने लगा। दोस्तों मुझे अच्छी तरह से पता था कि गरिमा भी मुझसे अपनी गांड तो मरवाना चाहती थी, लेकिन उसको प्रमोद का डर भी लग रहा था। अब मैंने अपना लंड पेंट से बाहर निकाला और एक ज़ोर का धक्का लगाते हुए उसकी गांड के छेद में डाल दिया और उसकी गांड में धक्के देने शुरू कर दिए। फिर उधर प्रमोद अपने फोन पर अपने किसी दोस्त से बहुत हंस हंसकर बातें कर रहा था और इधर में उसकी माँ की गांड को धक्के मारने में लगा हुआ था। फिर कुछ देर के बाद मैंने गांड में धक्के देने के बाद उसकी चूत में भी अपना लंड डाल दिया और अपनी चूत में लंड जाने के बाद अब गरिमा बहुत खुश हो गई, वो मुझसे बोली कि आज तू जल्दी से अपना पानी निकाल दे नहीं तो प्रमोद आ जाएगा। फिर मैंने उसको बोला कि चुपकर साली, कुतिया, रंडी और मैंने अपने धक्कों की गति को पहले से तेज कर दिया और कुछ देर बाद मैंने उसको नीचे बैठा दिया और में उसके मुहं पर मुठ मारने लगा। “Lund Ki Garam Malai”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मौसी की कुँवारी चूत की चुदाई

अब गरिमा अपना पूरा मुहं खोलकर वहीं पर नीचे बैठ गई और उसकी नजर दरवाज़े पर भी थी, वो चुदाई के मज़े लेने के साथ साथ घबरा भी रही थी। फिर मैंने अपने हाथ से अपने लंड को हिलाना शुरू कर दिया और अपने पानी से उसका पूरा मुहं भर गया, जिसको गरिमा चाटने लगी और लंड को चूसकर पीने भी लगी थी। फिर मैंने अपनी पेंट को ऊपर किया और में रसोई से बाहर आ गया और तब मैंने देखा कि प्रमोद अभी भी फोन पर अपने किसी दोस्त से बातें करने में लगा हुआ था और कुछ देर बाद प्रमोद ने अपना फोन रखा और वो सीधा रसोई के अंदर चला गया।
“Lund Ki Garam Malai”

दोस्तों तब तक गरिमा ने अपने कपड़े ठीक कर लिए थे, लेकिन उसके चेहरे के कुछ हिस्से पर अब भी मेरे लंड का पानी लगा हुआ था, जिसको देखकर प्रमोद अपनी माँ से कहने लगा कि मम्मी आपके चेहरे पर यह क्या लगा हुआ है? तब वो उसको बोली कि बेटा मैंने अपने चेहरे पर मलाई लगाई हुई है। दोस्तों उस दिन के बाद में हर हर जब भी मुझे कोई अच्छा मौका मिलता है, में गरिमा आंटी और उनकी दोस्त ज्योति आंटी को उनके घर में जाकर उनकी मस्त जमकर चुदाई करता हूँ। दोस्तों यह बात आज तक उनके घर में किसी को भी पता नहीं चली और हम तीनों मिलकर मस्त चुदाई के मज़े लेते रहे, मैंने उन दोनों को हर एक तरह से चोदा उनकी चूत, गांड, मुहं में अपना लंड डालकर उन दोनों को हमेशा अपनी चुदाई से पूरी तरह से संतुष्ट किया और वो दोनों भी मेरी इस चुदाई से हमेशा बहुत ज्यादा खुश रही । “Lund Ki Garam Malai”

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!