मेरी सास को चोदा कॉलेज के जवान लंड ने-1

Meri saas ko choda college ke jawan lund ne-1

Saas Chudai, मेरी विधवा सास की चुदाई कहानी में पढ़ें कि एक रात मैंने सोते हुए कुछ आवाज सुनी तो मैं उठी. मेरी सास के कमरे की लाइट जली हुई थी और हमारे किरायेदार लड़के …

लेखक की पिछली कहानी थी: कॉलेज गर्ल की जवानी का आनन्द
सभी दोस्तों को मेरा हैलो। मेरा नाम अमिता सिंह है. मेरी उम्र 25 साल है. मेरी शादी तीन साल पहले हुई थी और अभी तक मुझे कोई बच्चा नहीं हुआ है. अभी बस केवल चूत चुदवाने का समय चल रहा है.

मेरे पति भी सेक्स के मामले में ठीक ही हैं. अगर घर में रहते हैं तो हफ्ते तीन बार तो चोद ही देते हैं. कुल मिलाकर अभी तक मेरी जिन्दगी अच्छी बीत रही थी.

अब मैं अपनी सास की चुदाई कहानी सुनाने से पहले आपको बता दूं कि मेरे घर में मेरी सास, ननद और हम पति-पत्नी ही हैं. मेरे ससुर का 13 साल पहले ही देहांत हो गया था. उसके बाद से मेरी सास अकेली हो गयी थी. मेरी ननद सुमन हॉस्टल में रह कर पढ़ाई कर रही है. उसकी उम्र 22 साल है और वो कभी कभी ही घर आती है.

मेरे पति भी ऐसी जॉब करते हैं कि कई बार तो 15 दिन तक भी बाहर ही रहते हैं. ऐसे में उनके जाने के बाद घर में मेरे और मेरी सास के अलावा कोई नहीं रहता है.

हमारा अपना घर है और ज्यादा लोग हम हैं नहीं इसलिए ऊपर के एक कमरे और किचन को हम किराये पर रखते हैं. उसका रास्ता भी बाहर से ही बना हुआ है इसलिए किरायदारों से ज्यादा मतलब भी नहीं रहता है.

ऐसे ही एक बार कुछ महीने पहले हमने अपने ऊपर वाले कमरे को किराये पर दिया हुआ था. उस वक्त उसमें दो लड़के रहते थे जो कॉलेज जाया करते थे. उनमें से एक का नाम शेखर था जो कि 23 साल का था. दूसरे का नाम आकाश था जो 24 साल का था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Train mein Nayi Dulhan ki Chudai

उन दिनों मेरी ननद सुमन हॉस्टल से घर आई हुई थी. मैं अपनी ननद के बारे में बताऊं तो वो एकदम से मस्त माल लगती है. उसकी चूची 34 की हैं और बदन भी भरा हुआ है. हम ननद भाभी आपस में खूब मजाक किया करती हैं.

अपनी बात करूं तो मैं भी पटाखा माल हूं और शादी के बाद तो मेरी जवानी और ज्यादा निखर गयी है. मगर उस समय तक पति के अलावा मेरे मन में किसी गैर मर्द से चुदवाने का खयाल कभी आया ही नहीं था.

तो सुमन आयी हुई थी और हम तीनों लोग अलग अलग कमरों में सोते थे क्योंकि नीचे तीन कमरे बने हुए हैं. एक में सासू मां, एक में मैं और मेरे पति और तीसरे में मेरी ननद रहती थी. पति काम से बाहर गये हुए थे.

एक दिन जब मेरी नींद खुली तो सुबह सुबह मेरी सास की तेज आवाज सुनाई दे रही थी. मैं उठ कर आंगन में गयी तो देखा कि मेरी सास सुमन को डांट रही थी. वो उसे तुरंत ही आज हॉस्टल जाने के लिए कह रही थी.

उस वक्त तो मुझे कुछ समझ ही नहीं आया कि हुआ क्या है ऐसा जो मेरी सास अपनी बेटी को ऐसे जाने के लिए कह रही है. जब सुमन हॉस्टल चली गयी तो बाद में मैंने सास से पूछा कि क्या बात हुई थी?

मेरी सास ने बताया कि सुमन कई दिनों से उन किरायदार लड़कों से बातें कर रही थी. मेरी सास सुमन पर रोज नजर रख रही थी. उस दिन सुबह मेरी सास ने उसको उन लड़कों से बात करते हुए पकड़ लिया था.

सास बोली- मैं जब सुबह उठी तो सुमन को मैंने ऊपर से आते हुए देखा. उसके कपड़े एकदम से अस्त व्यस्त थे. मुझे नहीं पता उसने उन लड़कों के साथ क्या कांड किया है या नहीं किया है लेकिन मैंने उसको तुरंत हॉस्टल भेज दिया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाई की रखैल संग शालिनी की याद-1

मैं बोली- मां जी, आपको उन लड़कों को डांटना चाहिए था और उनको मकान खाली करने के लिए कहना चाहिए था.
वो बोली- हां बहू, उनको भी निकाल देती हूं.
मेरे कहने पर मेरी सास ने उन लड़कों को नीचे बुला कर डांटा और मकान खाली करने की बात कहने लगी.

वो दोनों लड़के माफी मांगते हुए बोले- आंटी, हमें एक सप्ताह का टाइम दे दो. हम लोग मकान खाली करके चले जायेंगे.
उस दिन पहली बार मैंने उन लड़कों को ध्यान से देखा था. वो दोनों के दोनों लम्बे और देखने में स्मार्ट थे. दोनों ही शरीर के तगड़े भी थे.

मगर मुझे उनसे ज्यादा मतलब नहीं था इसलिए मैंने उस बारे में ज्यादा सोचा नहीं, मगर एक बार के लिए तो मेरी नजर उनके शरीर पर जैसे स्कैन कर गयी थी. ऊपर से नीचे तक मैंने उनका सारा माप ले लिया था.

फिर दो दिन ऐसे ही गुजर गये. तीसरे दिन रात की बात है. मेरी नींद रात को अचानक खुल गयी. मैं कमरे से बाहर आयी और पानी पीने लगी. मैंने देखा कि मेरी सास के रूम की लाइट जल रही थी.

इससे पहले मैंने कभी उनको इतनी रात को जागते हुए नहीं देखा था. मैंने सोचा कि कहीं तबियत खराब न हो रही हो इसलिए एक बार देख लेती हूं. मैं उनके रूम की ओर गयी.

नजदीक जाते जाते मुझे कुछ आवाजें सुनाई देने लगीं. मैंने खिड़की से अंदर झांका तो मेरे होश ही उड़ गये. अंदर का नजारा सन्न कर देने वाला था. मैंने पाया कि दोनों लड़के बेड पर नंगे होकर चढ़े हुए थे.

मेरी सास भी नंगी थी. शेखर ने अपना लंड माँ जी के मुंह में दे रखा था जिसे वो खूब मस्ती से चूसे जा रही थी। आकाश माँ जी की चूत को चाट रहा था। दोनों के लन्ड काफी लंबे और मोटे थे।

मैं हतप्रभ थी कि अभी 2 दिन पहले तो माँ जी ने उन दोनों को डाँटा था और आज पूरी नंगी होकर मजे ले रही है? फिर मेरा ध्यान मां जी की जिन्दगी पर गया. मुझे पता था कि उनको पति का सुख मिले 13 साल से ऊपर हो चुके हैं.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  डॉक्टरनी के साथ पंचतारा होटल में मस्ती-1

हर औरत की इच्छा तो होती ही है. इसलिए मैंने सोचा कि उनकी चूत में चुदाई की आग लगी होगी. वरना वो इन जवान लड़कों के सामने ऐसे बेशर्म होकर उनका लंड नहीं चूस रही होती.

एक बात ये भी थी कि मेरी सास का शरीर ठीक ठाक था. देखने में ज्यादा उम्र की नहीं लगती थी. उनको चोदने के लिए कोई भी मर्द आसानी से तैयार हो सकता था.

तभी शेखर ने अपना लन्ड मुँह से निकाला और मां जी की चूचियों पर टूट पड़ा। वो उसकी 34 डी की एक चूची को पी रहा था और दूसरी को मसल रहा था.

इतने में आकाश बोला- कल रात तो बहुत नाटक कर रही थी।
सास बोली- कल तुम दोनों जबरदस्ती कर रहे थे तो गुस्सा आ रहा था इसलिए भगा दिया तुम्हें. मगर तुम दोनों की हरकतों ने 13 साल से मेरी सोई प्यास को जगा दिया इसलिए खुद को रोक नहीं पाई और खुद तुम दोनों को बुला लिया। अब तुम दोनों मेरी 13 साल की प्यास बुझाओ। मुझे जी भर कर चोदो।

मेरी सास की ये कामुक बातें सुन कर मेरी भी हालत खराब हो रही थी. मेरी चूचियों में तनाव आ गया था. निप्पल उठ गये थे. मेरी चूत भी गीली हो गयी थी.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!