Bhabhi Sexपड़ोसी की चुदाई

पड़ोस कि भाभी को चोद कर बच्चा पैदा किया

Mohallewali Bhabhi ko chod kar bachha paida kiya

हे दोस्तो, मेरा नाम Humraaaz है। मैं अहमदाबाद के एक ऊपरी मध्यम वर्ग परिवार से हूँ। मेरी उम्र 36 साल है। हमारे मोहल्ले में Rafiq और Farida रहते थे। उन दोनों की शादी 19 साल हो चुकी थी, लेकिन उनके घर बच्चा नहीं हुआ था। मेरे पास एक प्यारी, खूबसूरत लड़की Razia थी जिसे मैंने छोड़ दिया था और उससे एक बेटी Muskana हुई थी। Rafiq और उसकी पत्नी Farid ने Muskana को गोद लिया था। अब वो 5 साल की है। Razia के माँ ने 7 लाख रुपए लेकर सऊदी अरब में किसी धनी अरब से उसकी ज़बरदस्ती शादी करवा दी थी। उसकी शादी के 4 दिन पहले ही मैंने उसे फिर से अपनी मर्ज़ी से गर्भवती कर दिया था। उसने सऊदी अरब में उस अरब के साथ आरामदायक जीवन जीना शुरू कर दिया था। वहाँ 9 महीने बाद उसने मेरे बेटे Fayaz को जन्म दिया।

यह कहानी 15 साल पहले की है। Razia के सऊदी अरब जाने के 2 महीने बाद एक दिन Rafiq की पत्नी Farid, जो उस समय 28 साल की थी, ने मुझे दोपहर को अपने घर पर बुलाया। वह बहुत खूबसूरत, गोरी और हॉट थी। वो दिखने में बिलकुल फिल्मों वाली Vidya Balan जैसी ही Sexy hot लगती थी। उसने मुझे कहा, “तुम मुझे भी छोड़ छोड़ कर गर्भवती कर दो, एक बच्चा मेरे पेट में डाल दो।” फिर वो मुझसे चिपक गई। हम दोनों को हावस छा गई। हम दोनों नंगे होकर बिस्तर पर चुंबन चुंबन कर रहे थे। तभी Rafik (उसका पति) घर पर आया। Rafik ने हमें नंगे लिपटे हुए देखा और बोला, “तुम मेरी पत्नी Farid को जितना चाहो उससे करो लेकिन बस मेरी ये शर्त है कि तुम दोनों एक बेटा पैदा करो और मुझे दे दो। मुझे एक वारिस बेटा चाहिए।” फिर उसने कहा, “अगर लड़की पैदा होगी तो मैं उसे नहीं रखूंगा और Farid से तलाक दूंगा और तुम्हें बहुत सारे पैसे वापस लूंगा।”

मैंने कहा, “मैं कल तक सोच कर आता हूँ।” तो उसने कहा, “ठीक है। तुम दोनों अगर मान गए हो तो कल आ जाओ। मैं एक स्टांप पेपर पर यह सब लिखवाकर लाऊंगा। हम तीनों उस पर दो गवाह और वकीलों की उपस्थिति में उस कागज पर साइन करेंगे।”

Farida ने सेक्सी आवाज़ में कहा, “अब तो मुझे पूरी तरह चुदा कर जाओ।” Rafik बोला, “तुम दोनों चुदा कर लो लेकिन इसका विर्य आज तुम्हारे पेट में मत डालना।” फिर Rafiq किचन में खाना खाने चला गया।

हम बातें करते हुए बाहर बाजार चले गए। फिर मैं वहाँ से अपने घर चला गया।

मैंने बहुत सोचा। फिर Farid की प्यारी और हॉट सेक्सी चुदाई ने मुझे बेताब कर दिया।

दूसरे दिन दोपहर को मैं उसके घर गया तो वहाँ पर Farid सिर्फ ब्रा और पैंट पहनकर बैठी थी। Rafik एक स्टांप पेपर लेकर बैठा था। मुझसे लिपटकर Farid ने मुझे चुंबन चुंबन करना शुरू कर दिया। मैं भी उसे मेरा लंड निकालकर उसके मुंह में चुसाना शुरू कर दिया। Rafik ने दो वकीलों को फोन करके बुलाया। 5 मिनट के बाद मैंने और Farid ने अपने-अपने कपड़े पहन लिए।

10 मिनट के बाद वकील और दो गवाह Rafik के घर आ गए। “सब तैयार है?” वकील बोला। तब उस स्टांप पेपर पर सबसे पहले Farid ने, फिर मैंने और फिर Rafik ने साइन किया। इसके बाद हम सबने चाय नाश्ता किया। Farid मुझसे चिपक कर ही बैठी थी।

कुछ देर के बाद Rafik वो स्टांप पेपर लेकर उन दो वकीलों के साथ घर से चला गया। अगले दिन उसने Muskana को गर्ल्स हॉस्टल स्कूल में भेज दिया। अब मैं और Farid पूरी तरह नंगे होकर चुंबन चुंबन करने लगे। वो मुझसे “ज़ोर से मुझे चुदा करो, मेरी चूत को फाड़ दो, प्रेम रस से भर दे। अब तुम मेरा मर्द हो और मैं तुम्हारी स्त्री हूँ।” बोली। उसने कहा, “Razia और तुम और मैं कुत्ता कुत्ती बन कर चुदा करते थे। Razia ने मुझे बताया था। बस तब से ही मुझे तुम्हारे साथ बहुत चुदाई करने की चाहत है।”

मैंने कहा, “तो चल आओ, मेरी कुतिया भौ भौ” बोला। उसने कहा, “आ जा मेरे कुत्ते मुझे पकड़कर चुदा करो, भौ भौ कोव्व कौं।” फिर वो पूरी नंगी कुतिया की तरह 4 पैरों पर पूरे घर में दौड़ती हुई कोव्व कौं भौ भौ करते हुए भाग रही थी। मैं भाई कुत्ता बनकर 4 पैरों से उसे पीछे से पकड़कर उसके कूल्हों पर चढ़कर चुदाई करने के लिए भौ भौ करते हुए कुत्ते की तरह दौड़ रहा था। 5 मिनट की भागमभाग के बाद वो मेरी पकड़ में आ गई।

Hindi Sex Story :  मेरी भाभी की चुदास-1

मैं उसके पीछे से उसके कूल्हों पर चढ़ गया। वो मुझे ऊपर उठाकर भौ भौ कौं कौं करते हुए इधर-उधर भाग रही थी। मैं उसे पीछे उस पर चढ़ा हुआ था भौ भौ करते हुए। मेरा पूरा लंड उसके चूत में पीछे से ज़ोर से घुसा दिया। वो खुशी और दर्द से कुतिया की तरह कौं कौं करते हुए चुदाई कर रही थी। मैंने उसके दोनों स्तन को निप्पल्स से पकड़कर मुंह में लेकर डबा डबा कर चूम कर चुसा। वो मेरे मुंह को चूम रही थी। मेरा लंड पूरी तरह उसके चूत में ज़ोर से चुदाई करने लगा। वो कौं कौं करते हुए चुदाई करवाती हुई कुतिया की तरह भाग रही थी। मैं भौ भौ करते हुए उसे कुत्ता बनाकर उसके चूत को चुदाई कर रहा था। तुम्हारी चूत से गरम चिकना पानी और लुढ़कने लगा। वो थक कर चुदाई कर रही थी कौं कौं करते हुए कुतिया की तरह एक जगह 4 पैरों पर खड़ी रह गई। मैंने इस तरह से कुत्ता बनाकर भौ भौ उसे ज़ोर से चुदाई करके उसकी चूत को फाड़ दिया अब चूत से बहुत सारा प्रेम रस और चिकना पानी निकल रहा था। 3 घंटे इस तरह चुदाई कर के मैंने Farid की चूत में अपना चिकना विर्य डाल दिया। वो बहुत खुशी से चीखकर कुतिया की तरह कोव्व कौं कौं कौं करते हुए रो रही थी। मैं उसके चेहरे को चूमने लगा। मेरा लंड उसके मुंह में ले कर कोव्व कौं कौं चुसा।

30 मिनट तक ऐसा करके हम दोनों फिर से कुत्ता और कुतिया बनकर भौ भौ कौं कौं चुदाई करने लगे। मैंने उसे और 3 घंटे तक कुतिया बनाकर उसके पीछे भाग कर चुदाई की। उसकी चूत से बहुत सारा चिकना पानी और प्रेम रस निकल रहा था। 3 घंटे बाद मेरा पूरा विर्य उसकी प्रेम रस भरी चूत में डाल दिया। वो खुशी से मुझे चूमने लगी। मेरा लंड उसके मुंह में ले कर कोव्व कौं कौं चुसा। मैं भी उससे कुतिया की तरह चुदाई कर रहा था।

30 मिनट तक ऐसा करने के बाद वो मुझसे बोली, “अब मैं गर्भवती हो जाऊंगी और मेरे पेट में आपका बच्चा रहेगा। वो बेटा ही होगा देखना।” मैंने हंसते हुए फिर से उसको कुतिया बनाकर भाग कर उसके पीछे 2 घंटे तक चुदाई की। हम दोनों फिर से कुत्ता और कुतिया बनकर भौ भौ कौं कौं चुदाई करते हुए 2 घंटे चुदाई करी। मेरा पूरा विर्य उसकी प्रेम रस भरी चूत में डाल दिया।
अब हम दोनों थके हुए थे। हम दोनों एक दूसरे को चिपकाकर बिस्तर पर लेट कर TV देख रहे थे।

कुछ देर बाद Rafik आया।
मैंने होटल से खाना मंगवा लिया था। हम तीनों ने खाना खाया। फिर 30 मिनट के बाद Rafik भी पूरी नंगी हो गया। मैंने और Farid ने उसके साथ चुदाई करनी शुरू की. ” वो खुशी से चीख रही थी” हए रे मर जाऊँगा मर जाऊँगा आहह्ह्ह्ह्ह्ह्ह बाप रे ओwww “. मैं और Rafik साथ में ही उसको ज़ोर से चुदाई करते हुए आगे बढ़े। वो बहुत खुशी से ज़ोर से चीख रही थी”आह. आहआह आह ओwww”. 30 मिनट के बाद Rafik ने उसकी चूत से लंड निकाल कर उसके मुंह में विर्य डाला। वो थक चुकी थी। Farid भी उसको और मुझे चुम्बन कर रही थी। फेयरा ने Rafik का लंड 10 मिनट तक चूस दिया। Rafik बोला “मैं अब सो जा रहा हूँ” वो कुछ देर बाद सॉफे पर लेट कर सो गया। मैं और Farid ज़ोर से चुदाई करते रहे।

हम दोनों अब लिपट कर सो गए। सुबह 9 बजे उठकर रफीक और मैंने हमारे दोनों लिंग फरीदा के अंदर जोर-जोर से घुसा दिए। हम दोनों एक साथ उसकी गांड को फैलाते हुए उसके चिकने पानी को निकालने लगे। वह खुशी से रोते हुए “आह आह आह” कर रही थी। 45 मिनट बाद रफीक थक गया, उसने फारिदा के मुंह में लिंग डालकर अपना पूरा वीर्य डाल दिया। फारिदा ने 10 मिनट तक रफीक का लिंग चूसता रहा। मैंने फारिदा की छाती और निप्पल को चूसकर चूम-चूम कर उसकी प्रेम रस से भरी गांड को चुड़ा-छुड़ा कर रखा। रफीक नहाने चला गया, फिर वह दुकान पर चला गया।

Hindi Sex Story :  दोस्त की रंडी भाभी चुदाई की प्यासी है-3

मैं और फारिदा फिर कुत्ता और कूटी बनकर भागते-भागते “भौ भौ भौ” करते हुए 4 घंटे तक चुदाई करते रहे। दोपहर 1 बजे तक मेरा सारा चिकना वीर्य उसकी प्रेम रस से भरी गांड में डाल दिया। अब हम दोनों बाथरूम में जाकर चुंबन-चुंबन करते हुए एक साथ नहा लिए।

1.30 बजे रफीक घर पर आया। वह बाहर से खाना लेकर आया था। हम तीनों ने पूरी तरह से नंगी होकर लिपट कर खाना खाया। फिर रफीक हंसते हुए फारिदा को बोला, “तुम अब डबल चुदाई का मजा ले ही रही हो। यह तुम्हें बहुत ज़ोर से 3 या 4 घंटे तक चोड़ेगा। तुम अब गर्भवती हो जाओगी।” फारिदा ने कहा, “मुझे इस साथ चुदाई करके बच्चा पैदा करना है बस।”

हम तीनों फिर एक साथ चुदाई करने लगे। 45 मिनट बाद रफीक ने उसका वीर्य फारिदा के मुंह में डालकर चूसकर उतारा गया। वह नहाने चला गया। 10 मिनट के बाद रफीक उसकी दुकान पर चला गया। मैं और फारिदा फिर कुत्ता और कूटी बनकर “भौ भौ भौ” करते हुए ज़ोर-ज़ोर से चुदाई करते रहे। शाम के 6 बजे तक मैंने उसे कुत्ता बनाकर भागते-भागते उसकी गांड को चोड़कर उससे चिकना पानी निकाल रहा था। मैंने अपना सारा चिकना वीर्य उसकी गांड में डाल दिया। वह खुशी से मेरे लिंग को चूसती रही। मैं उसे चुदाई करते हुए उसकी छाती को चूसता और उसके निप्पल को चूमकर खुशी के आंसू बहाने लगा। उसने कहा, “अब मुझे तुम ही असली मर्द लगते हो। तुम्हें बहुत बहुत प्यार करने लगी हूं। तेरा बच्चा पैदा करके पालूंगी।”

फिर वह पूरी नंगी रसोई में जाकर खाना बनाने लगी। उसने 45 मिनट तक खाना बनाया। तब तक मैं उसकी गांड में पीछे से लिंग घुसाकर उसकी छाती को मुंह से चूसते हुए ज़ोर-ज़ोर से खड़ा होकर उसे चुदाई करते रहा। उसके बाद मुझे रसोई में बुलाया। फिर से हम दोनों कुत्ता और कूटी बनकर “भौ भौ भौ” करते हुए चुदाई करने लगे। 8 बजे तक उसे भागते-भागते उसकी गांड को चोदने के बाद मेरा सारा चिकना वीर्य उसकी गांड में डाल दिया।

फिर 10 मिनट तक हम दोनों एक दूसरे को लिपट कर चूमते रहे। वह मेरे लिंग को चूसती रही। मैं उसकी छाती को चूसता और उसकी गांड को चाट-चाट कर साफ़ करता रहा।

फिर हम थककर टीवी देखने लगे। 8.30 बजे रफीक दुकान से आया। हम तीनों पूरी तरह से नंगे लिपट कर खाना खाया। फारिदा खाते समय हमारे दोनों लिंग को बार-बार चूसती रही।

9 बजे फारिदा को बिस्तर पर सुलाकर मैं और रफीक दोनों उसके ऊपर चढ़ गए। हम दोनों एक साथ अपने लिंग को उसकी गांड में घुसा दिया और ज़ोर-ज़ोर से चुदाई करते हुए प्रेम रस निकालते रहे। 30 मिनट बाद रफीक थक गया और उसने फारिदा के मुंह में लिंग डालकर उसका पूरा वीर्य मुंह में डाल दिया। फारिदा ने 15 मिनट तक रफीक का लिंग चूसता रहा। मैंने फारिदा की छाती और निप्पल को चूम-चूम कर दबा-दबा कर मुंह में चूसते हुए ज़ोर-ज़ोर से उसकी प्रेम रस भरी गांड को चुदाई करते रहे। रफीक उठकर सामने सोफे पर सो गया। 3 घंटे तक चुदाई करने के बाद मैं और फारिदा भी लिपट कर सो गए।

सुबह 9 बजे रफीक ने हमें दोनों जागया। चाय नाश्ता करके मैंने कहा, “चलो रफीक, तीनों चुदाई करते हैं।” रफीक हंसते हुए बोला, “मैंने 6 बजे जाग गया था। फारिदा ने 40 मिनट तक चुदाई करके वीर्य पिला दिया है उसके मुंह में।” फारिदा मेरे पास लिपट गई। फिर रफीक उठकर दुकान पर चला गया।

यह कहानी आप Hotsexstory.xyz में पढ़ रहे।

मैं और फारिदा 1 घंटे तक कुत्ता-कूटी बनकर चुदाई करते रहे। फिर पूरी तरह से नंगी होकर साथ में नहा लिए। फिर फारिदा पूरी नंगी रसोई में जाकर खाना बनाने लगी। 45 मिनट के बाद उसने मुझे रसोई में बुलाया। मैं वहाँ गया तो वह कुत्ते की तरह भागते हुए चारों पैरों से भागने लगी। मैं भी कुत्ता बनकर उसके पीछे चारों पैरों पर दौड़कर उसके कूल्हों पर चढ़ गया और अपना पूरा लिंग उसकी गांड में पीछे से घुसा दिया। वह कुत्ते की तरह “भौ भौ भौ” करते हुए चुदाई कर रही थी। मैं कुत्ता बनकर भौ भौ भौ करते हुए उसके छाती को मुंह में ले कर चूसता और निप्पल को चूम-चूम कर उसे खुशी के आंसू बहा रहा था। उसे ज़ोर-ज़ोर से उसकी प्रेम रस निकालते हुए गांड को चुदाई कर रहा था। 3 घंटे की चुदाई के बाद मेरा सारा वीर्य उसकी गांड में डाल दिया। फिर वह मेरे लिंग को चूसती रही। मैंने उसकी गांड को चाट-चाट कर साफ कर दिया।

Hindi Sex Story :  सामने वाली भाभी की चूत का कचूमर-1

1.30 बजे रफीक आया। हम तीनों पूरी तरह से नंगी होकर लिपट कर खाना खाया। फिर हम तीनों एक साथ चुदाई करने लगे।

इस प्रकार एक महीने की चुदाई के बाद फारिदा को गर्भ नहीं हुआ तो उसके परीक्षण किया गया। रिपोर्ट आई कि फारिदा एक महीने से गर्भवती है। हम तीनों बहुत खुश थे। फारिदा बहुत खुशी से मुझसे लिपट कर बच्चे को दूध पिला रही थी और मैं उसे गांड में लिंग डालकर ज़ोर-ज़ोर से चुदाई करते रहता था। रफीक बहुत खुश था और घमंड से अब अपने बेटे को लेकर पूरे शहर में घूमता था। उसका नाम “रियाज” रखा गया।

मैं और फारिदा फिर से चुदाई करने लगे। रफीक ने कहा कि “अगर इस बार भी लड़का हुआ तो मैं ही रखूंगा। लड़की हुई तो तुम रख लो। मैं तुम्हारे पास से सब खर्च के लिए पैसे लूंगा।” मैंने कहा “ठीक है यार।” रफीक ने फिर से एक स्टांप पेपर पर मेरा साइन करवाया और फिर फारिदा का साइन करवाया। फिर उसने उस स्टांप पेपर को किसी वकील को दे दिया। हम तीनों फिर से एक साथ चुदाई करते रहे। फारिदा रियाज को दूध पिलाती थी तो मैं और रफीक दोनों लिंग उसके गांड में घुसाकर चुदाई करते थे। रफीक उसका मुंह में वीर्य डालता था और मैं उसकी गांड में अपना वीर्य डालता। 3 महीने बाद फिर से फारिदा की गर्भधारण हो गई।

फिर से बहुत खुशी से फारिदा मेरे साथ रोज़ा रोज़ 10-10 घंटे तक चुदाई करती थी। रफीक और मैं दोपहर में 1 घंटे एक साथ दोनों लिंग उसके गांड में घुसाकर चुदाई करते थे। रात को भी मैं और रफीक दोनों लिंग उसके गांड में घुसाकर चुदाई करते थे। फारिदा खुशी से रोती हुई “आह आह आह” कर चुदाई कर रही थी। रफीक 40 या 45 मिनट तक चुदाई करके फारिदा के मुंह में वीर्य डालता था। मैं 4-4 घंटे तक फारिदा की प्रेम रस भरी गांड को फैलाकर चुदाई करता रहता और फिर उसमें अपना चिकना वीर्य डाल देता।

इस प्रकार से अगले 8 महीने तक हम तीनों चुदाई करते रहे। अब फारिदा रफीक को “legal husband” और मुझे “real husband” मानती थी। वह बोलती “मैं कि मैं बहुत खुश हूँ की मेरा लुए दो husband है। रफीक और मैं हंसते थे। फारिदा का पेट बढ़ता जा रहा था। एक दिन मैं फारिदा को कुत्ता बनाकर भागता-भागता हुआ और चुदाई कर रहा था। तभी अचानक फारिदा में बच्चा पैदा हुआ। रफीक ने तुरंत फोन किया तो उसने पूरे मोहल्ले में मिठाई बांट दी। मोलले के लोग फारिद और रफीक को बधाई देते रहे। रफीक बहुत खुश था। उसके घर में वारिस लड़का पैदा हो चुका था। असल में वह मेरे और फारिदा का लड़का था पर पूरे समाज के लिए रफीक ही पिता थे।

रफीक ने पूरे मोहल्ले को दावत दी। दूसरा लडके का नाम रखा “फैज”। दोनों लडके फारिदा जैसा गोरे-गोरे और खूबसूरत है। रफीक की पूरे शहर में इज्ज बढ़ गया। उसने मुझे और फारिदा को बोला कि तुम जब जब मन करे तो चुदाई करते रहो बस अब फारिदा गर्भ नहीं करो बच्चा न पैदा न करो। फारिदा दिन भर नंगी होकर लडके को दूध पिलाती रही। मैं उसे “No pregnancy” की गोली खिलाता रहा। रोज़ में और रफीक के साथ फारिदा की गांड में चुदाई करता हूँ।

11 साल बीत गए है। अब 17 साल की हो गयी है। मैं और फारिदा से चुदाई कर रहा हूँ। यह कहानी अगली सच्ची कहानी में बताऊंगा।

धन्यवाद।