पड़ोसी टीचर की चुदाई

Padosi teacher ki chudai

पड़ोसी टीचर की चुदाई
हेलो दोस्तो में मोहित है फिर से आप के सामने मजेदार स्टोरी लेकर हाजिर हु।
दोस्तो मेरे घर के सामने एक टीचर रहती थी उसका नाम आरती था वो 30 साल की एक सुंदर महिला रहती थी उसका पति दुबई में काम करता है। और इस मेम के कोई बच्चे नहीं थे और मुझे पता था कि मैम इस बारे में काफी नाखुश है। आरती काफी आकर्षक महिला थीं,
आरती की शादी होने के एक महीने के बाद ही उसका पति काम के सिलसिले में दुबई चला गया था तो आप समझ ही सकते है नई-नई शादी के बाद सेक्स का रोमांस कैसे रहता है। मेने उसे पटाने का सोचा एक मेरा दोस्त उसके यहां कोचिंग जाता था तो मैने उसके द्वारा मेम का नंबर हासिल कर लिया मेने उसे whatapps पर हाय लिखकर मैसेज किया मगर उसका 2से 3 दिन तो कुछ रिप्लाय ही नही आया मगर 4 दिन उसका रिप्लाय आया कोन हो मेने कहा आप का एक दोस्त जो आप से दोस्ती करना चाहता हु उसने कहा में तो आप को पहचानती भी नही तो दोस्ती क्यो करू मेने कहा हम बात करे तो एक दूसरे से पहचान भी हो जाएगी।

उसने ठीक है कहा में उससे रोज घंटे बात करता और उसकी तारीफ के पुल बांध देता जिससे वो भी मुझ में इंटरेस्ट लेने लगी कभी में मैसेज करना भूल जाता तो उसका मैसेज आजाता वो मुझे देखना चाहती थी मुझसे मिलना चाहती थी तो एक दिन मेने उसके घर पर ही मिलने को कहा अगले दिन वो स्कूल भी नही गई और मेरा घर पर ही इंतजार कर रही थी। में जब उससे घर पर मिला तो मुझे देखकर चोक गई मोहित तुम मेने कहा यस मेमे में आप से बहुत प्यार करता हु आप इतनी सुंदर हो कि स्वर्ग की परी भी आप से कम है ये कहर में चुप होगया उसने मुझे घर के अंदर भुलाया और कहा क्या लोगे मेने कहा मुझे तो सिर्फ आप का प्यार चाहिए और कुछ नही मेरे ऐसा कहते ही वो मेरी गोद मे आकर बैठ गई और मुझे किश करने लगी और कहा मोहित में भी प्यार की भूखी हु आज मुझे इतना प्यार करो कि दुनिया का प्यार कम पर जाए क्यो की पति देव तो पैसा कमाने दुबई चले गए और में यहां अपनी चुद की खुजली से परेशान हु आज मेरे अंदर की आग को ठंडा कर दो मोहित। हम एक-दूसरे के होंठ चूमने लगे और चूमते-चूमते बिस्तर पर आ गए।

मैंने मेम की सलवार में हाथ डाल उनकी चुत में उंगली डाल दी, मेम की कामुक सिसकी निकल पड़ी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… सीई..
मैं होंठ चूसते हुए उनकी चुत में उंगली करने लगा। थोड़ी देर बाद मैंने मेम को बिल्कुल नंगा कर दिया और कुत्ते की तरह उनकी चुत चाटने लगा। मेम ‘आहह.. ऊऊहह..’ कर रही थीं।
फिर वो कहने लगीं- चाट आऊह्ह्ह.. खा ले चूत को.. आह..
मुझे भी चुत चाटने की लत लग गई है।
मैंने मेम की चुत चाटना बंद कर दिया और अपनी पैंट उतार दी। फिर अंडरवियर भी उतार दी और लंड को आजाद कर दिया।
मैंने कहा- मेरी रंडी.. लंड को भी प्यार कर ले थोड़ा!
इतना कहते ही मेम ने मेरे लंड को मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगीं।

वाह.. लंड चुसाई में क्या मजा आ रहा था, मैं मेम के मुँह को चोदने लगा।
मैंने कुछ ही देर में मेम को मुँह से लंड निकालने का इशारा कर दिया। मेम ने लंड निकाल दिया।
फिर मेम बोलीं- तुम लेटो अब मेरी बारी है मैं लेट गया।
मेम मेरे ऊपर चढ़ गईं और लंड को पकड़ कर अपनी चुत पर टिका कर लंड पर बैठने लगीं। मेरी दिल की तमन्ना पूरी हो रही थी।
कुछ ही पलों में मेरा पूरा लंड मेम की चुत में था, मैं भी नीचे से झटके लगाने लगा।
मेम भी पूरे जोश से हिल रही थीं और ‘आआहहह..’ कर रही थीं।
थोड़ी देर बाद मैंने पोज बदल दिया और मेम को एक करवट होने को कहा। मेम ने एक ओर करवट की और मैं पीछे से लंड डाल मेम को चोदने लगा।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

चुत और लंड का घमासान मचा हुआ था, मेम तो चुदाई की पूरी मस्ती में थीं, वो ‘आआहह..’ कर रही थीं- मोहित ऐसे ही चोदो.. पूरा लौड़ा डाल आहहह.. ईई.. हाँ और अन्दर डाल..
कुछ देर की चुदाई के बाद मेम झड़ने लगीं, उन्होंने अपनी पूरी गांड मेरी तरफ उठा दी। मेरे लंड का थोड़ा माल भी बाहर नहीं निकलने दिया।
मेरा लंड भी सिकुड़ कर बाहर निकल गया।
मैं मेम के होंठ चूसने लगा। फिर मेम बोली- मोहित, अब मुझसे कभी दूर ना होना। मेने कहा मेम ये तो आप का दीवाना है जो आप को छोड़ कर नही जा सकता।

फिर हम एक-दूसरे को दूसरी बार की चुदाई के लिए तैयार करने लगे। मगर अब आरती मेम यहां नही रहती कुछ सालों बाद ही उनका पति उनको दुबई ले गया अपने साथ मगर कभी-कभी उनसे फ़ोन पर बात हो जाती है अब तो प्लेबॉय बन गया हूँ। इसलिए उन मेम की कमी पूरी तो हो जाती है मगर सेक्स से बढ़ कर है आप के साथी का आप के साथ प्यार जो बहुत कम लोगो को मिलता है। में मेरे पाठको को अछि से अछि कहानी भेजने की कोशिश करता हु मगर यदि मुझसे कहानी में कोई गलती हो तो माफ कर देना और ये कहानी केसी लगी मेरे फ्रेंड फ्रीडब्रेक जरूर देना।
[email protected] com