रिंकी को माल में बिना कच्ची के घुमाया

Rinki ko mall me bina kacchi ke ghumaya

रिंकी को माल में बिना कच्ची के घुमाया

सुबह जब रिंकी को कॉल किया तो पता चला की आज उसका भाई जयपुर एग्जाम देने गया हुआ हे और आज लाइन बिलकुल क्लियर हे! मेने रिंकी से कहा की क्या में फिर आ जाऊ आज तुम्हारे पास जिसको सुन कर वो इतरा कर बोली
“”क्यों मेरे बिना मैं नहीं लगता क्या !
मेने कहा “”नही””
तो वो बोली “”फिर आ जाओ ना””
में उसके घर 11 बजे पहुँच गया था और 2-3 बार चुदाई के बाद, हम नंगे ही एक दूसरे से चिपट कर सो गए थे

थोड़ी देर बाद जब उठे तो मेने रिंकी से कहा की चलो बाहर कुछ खा कर आते हे
रिंकी एक दम मन गई थी
मेने उससे मिनी स्कर्ट जो की गिफ्ट में दी थी पहनने को कहा
पहले तो एक दो बार उसने मना किया फिर मान गई थी

रिंकी ने मिनी स्कर्ट और टीशर्ट पहन ली थी और घर से बहार निकलने के लिए उसने लॉन्गस्कर्ट उसके उप्पर दाल ली थी
मेने जब देखा तो पूछा ये क्या
तो वो बोली पागल हो
गली के सब लोग देखेंगे अच्छा नहीं लगेगा आगे जा कर उत्तर दूंगी लॉन्ग स्कर्ट
में समझ गया था और चुप रहा था
5 मिनट बाद हम आउटिंग के लिए निकल पड़े थे

दोपहर के २-३ बजे होंगे जब वो मेरी बाइक पर पीछे बेथ गई थी
करीब २-३ कम चलने के बाद एक जगह मुझे रेस्टॉरणट दिखा था !
मेने अपनी बाइक वहां रोकी और जब हम दोनों उस रेस्ट्रॉन्ट में गए तो वो एक दम खली था
हमने कुछ स्नैक्स ऑर्डर किये और मेने रिंकी से कहा की अपनी लॉन्ग स्कर्ट उतार क्र आओ
वो मान गई थी और टॉयलेट में जा कर अपनी लॉन्ग स्कर्ट उतार आई थी और आ कर मेरे बगल में बेथ गई थी मुझसे चिपक कर
मेने भी उसकी थाईस पर हाथ फेरना शुरू कर दिया था
रिंकी के बैठने से मिनी स्कर्ट खिंच कर उसकी जांघो के बिलकुल उप्पर तक आ गई थी
आप इसको ऐसे भी बोल सकते हे की स्कर्ट और उसके हिप्स लाइन वाली जगह तक स्कर्ट आ गई थी
या इसको ऐसे भी बोल सकते हे की रिंकी निचे से एक दम नंगी ही थी

मेरे हाथ फेरने से रिंकी गर्म हो गई थी और क्यूंकि रेस्टोरेंट में इस समय कोई नहीं था तो में मौका देख कर उसके लिप्स किसिंग भी कर देता था

और जांघ पर हाथ फेरते फेरते एक दो बार ऊँगली उसकी कच्ची के उप्पर से चुत पर भी फेरी थी
रिंकी ने जो कच्ची पहन हुई थी उसकी साइड्स में एलास्टिक्स मुलायम वाली थी इसलिए साइड्स में से ऊँगली आराम से उसकी चुत पर फेर पाता था
रिंकी को उस रेस्टोरेंट में लिप्स किसिंग करवाना और चुत पर हाथ फिरवाना अच्छा लग रहा था क्यूंकि एक बार भी उसने मुझे नहीं टोका था और न ही उसने आपने लेग्स को एक के उप्पर एक रखा था
रिंकी गर्म हो गई थी क्यूंकि उसकी कच्ची गीली थी ! और जब भी में उसकी कच्ची के पास ऊँगली ले क्र जाता था तो मेरी ऊँगली बड़े आराम से उसकी चुत में आपने आप घुस जाती थी
हां दोस्तों एक बात बताना भूल गया जब भी मेरी ऊँगली उसकी चुत में जाती थी तो मेरी उंगलियों को बहुत गर्म गर्म लगता था
और रिंकी मेरे बाजुओं को जोर से पकड़ भी लिया करती थी और मुझसे बिलकुल चिपक भी गई थी !

मेने उसको कहा की कुछ न्य करने का विचार हे
रिंकी : क्या
में : जिससे की कुछ मजा आये और बहुत बहुत अच्छा लगे
रिंकी : में समझी नहीं
में : कोई भी ऐसी रोमांचित चीज जिससे तुमको और मुझको बहुत सेक्सी लगे और अंदर से गर्मी बढे
रिंकी : बताओ ना अब
में : तुम इस समय कैसा फील कर रही हो
रिंकी : अच्छा लग रहा हे
में : कितना अच्छा
रिंकी : बस अच्छा
में : तो फिर अच्छा को बहुत अच्छा में कन्वर्ट करना होगा और उसके लिए तुम्हे मेरी बात माननी होगी
रिंकी : ओके मानूंगी
में : पक्का या कच्चा
रिंकी : पक्का
में : फिर अपनी कच्ची उतारो
रिंकी : पागल हो गए हो क्या
में : इसमें पागल वाली क्या बात हे, तुमने कच्ची उतारी हे ये सिर्फ तुम या में ही जान सकते हैं किसी दूसरे को कोई न मालूम चलेगा की तुमने स्कर्ट के अंदर कच्ची नहीं पहनी हुई हे
फिर थोड़ा जिद्द करने पर वो मां गई थी
रिंकी : पहले एक दो बार तो बहस करती रही , फिर उसकी शायद समझ में आ गया था और वो इधर उधर देखना शुरू कर दिया था
में : क्या हुआ
रिंकी : कोई देख लेगा
में : फिर टॉयलेट में जा कर उतार कर आओ
रिंकी उठी और टॉयलेटचली गई थी
और जब वो टॉयलेट से निकली तो शर्माती सी और बल कहती सी आई जैसे सच मच सब को दिख रहा हो की उसने कच्ची नहीं पहनी हुई हे
आई तो मेने पूछा की कच्छी कहाँ रखीतो वो बोली बालो में लगा ली हे हेयर बंद की तरह
मेने उससे बोलै वो मुझे दो में आपने जेब में रख लूंगा और तुम आपने बाल फैला लो ताकि बिलकुल हीरोइन सी लगो

रिंकी मुस्करा दी थी और मुझे कच्ची दे दी थी और मेने उसकी कच्ची को ले कर पहले किश किया फिर सुंघा और फिर जेब में रख लिया था
रिंकी शर्मा गई थी

दोस्तों एक बात यद् रखना : लड़की का दिल जीत लो उसके बाद वो वही करेगी जो आप चाहोगे
विश्वास नहीं होता तो आजमा कर देखो

मेरे दिमाग ने शरारत जन्म ले चुकी थी
और में आज रिंकी को नंगा घूमने वाला था
और उसकी चुत का रस मार्किट घूमते घूमते उसके पेरो तक निकलने वाला था और रिंकी को आगे के लिए भी नंगा घूमने के लिए तैयार करने वाला था

दोस्तों बास आप पढ़ते जाना कैसे कैसे क्या क्या हुआ

फिर में रिंकी से बोलै आओ चले आगे एक माल हे उसमे घुम्म कर आते हैं
रिंकी उठ गई थी और अब थोड़ा शर्मा कर चल रही थी
उसने मेरे बांहो को जोर से पकड़ रखा था जो शो कर रहा था उसके अनकम्फर्टेबलेपन का

में उसको ले कर अपनी बाइक तक आया इतनी देर में रिंकी कई बार मुझसे चिपकी थी
फिर में उसको बाइक में बैठने से पहले उसका लॉन्ग स्कर्ट को बाइक की डिक्की में रख दिए था
और रिंकी दोनों टांगो को एक तरफ कर के बेथ गई थी
उसकी स्कर्ट आधी जांघो से उप्पर आ गई थी
रिंकी मेरे कान में बोली अटटूल शर्म आ रही हे
मेने बाइक रोकी और अप्पना दुपटा जो में बाइक पर मुंह पर बांधता हु उसको दिया की इसको मुंह पर बांध लो
रिंकी ने एकदम से बांध लिया था
और फिर मुझसे चिपक कर बेथ गई थी
मेने उसका हाथ पकड़ कर आपने लंड के उप्पर रखवा लिया था
अब्ब रिंकी का पुर वजन पीछे से मेरी उप्पर था और उसकी छुछिआ मेरे कमर के बीच में आ कर पीस रही थी

अब में सोच रहा था की रिंकी की की ब्रा कैसे उतरवाऊँ ये ही सोच रहा था की इतनी देर में माल आ गया

हम्म पार्किंग में बाइक लगाने गए तो मॉल की पार्किगं बेसमेंट में थी और वहां थोड़ा अँधेरा था !
मेने मोके का पूरा फायदा उठाया और पार्किगं में बाइक लगाने के बाद मेने रिंकी की चुत पर हाथ लगा दिया
रिंकी को इसकी बिलकुल भी उम्मीद नहीं थी
वो एक दम से शर्मा गई और चारो और देखने लगी की किसी ने देख तो नहीं लिया
जब वो आश्वस्त हो गई की आसपास कोई नहीं हे और मेने भी उसके दिमाग को भांप लिया था
मेने फिर रिंकी को हग किया और उसकी लिप्स स्मूचिंग करने लगा था
करीब 1 मिनट तक स्मूचिंगकरते करते मेने कई दफा उसकी चूचियों को ब्रा के अंदर हाथ दाल क्र निप्पल्स को मसला था और चुत पर भी हाथ को रगड़ता रहा था और रिंकी पागल सी हो गई थी और उसकी चुत ने पानी छोड़ना शुरू कर भी दिया था
रिंकी फुल गरम हो गई थी !
मेने आव देखा न ताव मेने रिंकी का टीशर्ट थोड़ी सी उप्पर करि और उसके ब्रा में से चूची निकल कर पीने लगा था और रिंकी उफ़ उफ़
बस करो न,
बस करो न करने लगी थी
में समझ गया था की अब रिंकी बिलकुल हॉट हे मेने पीछे हाथ कर के उसकी ब्रा का हक्क खोल दिया था
रिंकी एक दम से मचली और हल्का सा गुस्सा करती हुई बोली
ये क्या आकर रहे हो अतुल
मेने कहा कुछ नही कबूतरों /परिंदो को आजाद कर रहा हूँ , इनको भी आजादी चाहिए होती हे मेरी जान
रिंकी मुस्करा दी थी और बोली : सब हे यहाँ पर
में बोला तो क्या सबब तुमको ही देखने आये हे यहां पर, तुमको तो सिर्फ में ही देखूंगा मेरी जान और ये बोलते बोलते मेने उसकी ब्रा टीशर्ट की बाजुओं से निकलना शुरू कर दिया था और मेने जबरदस्ती एक ब्रा की स्टेप्स उसकी टीशर्ट की बाजुओं में से उसके हाथ में से निकलवा दी थी और फिर दूसरी उसने आपने आप निकल कर ब्रा टीशर्ट में से बाहर निकाल दिया था और मेरा दूसरा हाथ उसकी चुत पर ऊँगली फेर रहा था

रिंकी बिलकुल गर्म थी और उसकी चुत का पानी उसकी टांगो तक आ गया था क्यूंकि उसने स्कर्ट से अपनी चुत को पूछा था
फिर मेने उसकी ब्रा को भी अपनी दूसरी जेब के हवाले किया और
अब रिंकी सिर्फ स्कर्ट और टीशर्ट मे थी
न निचे कच्छी
न उप्पर ब्रा

कसम से बिना ब्रा के, उसके निप्पल खड़े हुए टीशर्ट में से बहार निकलने को तैयार थे और टेंट का अकार बना रहे थे
में : रिंकी यू आरर लुकिंग वैरी वैरी हॉट , ऐसा लग रहा हे की अप्सरा आज जंमीन पर आ गई हो
रिंकी को तारीफ़ सुन्ना बहुत पसंद था
वो अपनी तारीफ़ सुन्न सुन कर बहुत खुश हो रही थी और इतरा भी रही थी

अब हमारा ज्यादा देर वह रुकना सही न था इसलिए में रिंकी को लेकर अब उप्पर की और चल दिया था
रस्ते में सिक्योरिटी गॉर्ड मिला वो रिंकी को घूर रहा था
रिंकी बोली देखा तुमने वो कैसे देख रहा था
में बॉल : मेरी जान सुंदर चीज को सब देखते हे , बदसूरत को कौन देखता हे , तुम हो ही इतनी सुंदर, तुमको तो एक दिन सारा संसार देखेगा और ये बोलते बोलते मेने उसकी कमर के साइड से हाथ ले जाकर उसकी चूचियों को दबा दिया था ! कसम से मजा आ गया था बिना ब्रा की चुचिओ को दबाने में

रिंकी बिलकुल मुझसे चिपक कर चल रही थी
मॉल में ज्यादा गाथेरिंग नहीं थी

हमने जब बेसमेंट से लिफ्ट ली तो लिफ्ट वाला सिक्योरिटी गॉर्ड भी रिंकी को घूरने लगा था
रिंकी सिम्त गई थी
ग्राउंड फ्लोर से कुछ और लोग चढ़े
तो रिंकी कोने में हो गई थी और में उसके साथ और मेरे आगे बाकि लोग
रिंकी बिलकुल ओट सी में हो गई थी
मेने मोके का फायदा उठाया और उसकी टीशर्ट में हाथ दाल कर उसकी चुचिओ को पकड़ ली थी और उसकेनिप्पल्स को मसलने लगा था ! रिंकी पूरी की पूरी मेरी ओट में थी और में इस बात का पूरा फायदा उठा रहा था
रिंकी ने मेरा हाथ पकड़ लिया था
लिफ्ट अब ३ फ्लोर पर जा कर रुकी थी फर्स्ट फ्लोर से ३ फ्लोर तक मेने रिंकी की चूचियों के निप्पल्स को मसलता रहा था और शायद रिंकी को भी कही न कही अच्छा लग रहा था क्यूंकि उसने सिर्फ हाथ पकड़ा था मेरा, छुड़ाने की या हटाने की कोशिश नहीं करि थी

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

जब हम ३ फ्लोर से बहार निकले तब रिंकी मुझसे और चिपक गई थी
में उसकी कमर के पीछे से हाथ दाल कर घूमने लगा था और बीच बीच में मौका देख कर उसकी चुचिओ को भी मसल देता था
एक बात तो मेने आगे पीछे देख कर उसकी पीछे से गांड पर भी हाथ फेर दिया था और उस समय रिंकी माल में पीछे से पूरी नंगी ही थी क्युकी जब मेने स्कर्ट के अंदर हाथ डाला था तो पीछे से स्कर्ट पूरी उठ गई थी क्युकी टाइट फिटतैं वाली स्कर्ट थी वो और उसकी पूरी गांड पीछे से चमक रही थी
उफ्फफ्फ्फ़ उफ्फ्फफ्फ्फ़ कयामत घूम रही थी उस दिन मॉल में
रिंकी गर्म हो चुकी थी और बार बार धीरे से मुझसे बोल रही थी
अतुल बस करो ना प्लीज्
में अब किसी मोके के इन्तजार में था

इतनी देर में प्रभु ने मुझे एक मौका दिया
मुझे टॉयलेट का बोर्ड नजर आया
में उसको ले कर उस तरफ चला तो मुझे टेरेस की सीढिया टॉयलेट की बगल से जाती हुई नजर आई

में जानता था की टेरेस पर लोग नहीं आते हे
में रिंकी को ले कर जैसे ही सीढ़ियों के घुमावदार काट पर पहुंचा, मेने रिंकी को पीछे से जोर से पकड़ लिया था और उसकी तहसिरत के अंदर हाथ दाल कर दोनों चूचियों को पीछे से जोर से पकड़ लिया था और पूरी टीशर्ट उप्पर कर के जोर जोर से उसके चूचियों को मसल रहा था
रिंकी गर्म तो पहले से ही थी अब और गर्म हो गई थी और कुछ भी रिएक्शन नहीं कर रही थी

मेने अपनी जीन्स की चैन खोल कर उसमे से लंड निकला और रिंकी को थोड़ा झुका कर उसकी छूट में आपने लंड दाल दिया था
जिससे रिंकी ने एक दम से निगल लिया था
दोस्तों मेरा इरादा रिंकी को चोदना नहीं था सिर्फ आग लगाना था
मेने रिंकी की छूट में लंड दाल कर सिर्फ उसके चूचिया मसल रहा था और रिंकी बिलकुल बेसुध सी मुर्दो की तरह मेरे लंड को अपनी छूट पर और मेरे हाथो को अपनी चुचिओ पर मसलने का आन्नद ले रही थी
जैसे ही रिंकी ने हिलना शुरू किया मेने आपने लंड निकल लिया था

और रिंकी को बोलै की चलो कोई आ जायेगा
रिंकी : कोई नहीं आएगा
में : कोई आ गया न तो फंस जायेगे
रिंकी : कोई नहीं आएगा
में : लंड निकल कर रिंकी को बोलै की जरा इसको चुसो
रिंकी फट से उसी लंड को बड़े चाव से चूसने लगी थी जो अभी थोड़ी देर पहले उसकी गीली छूट में घूम कर आया था

1 मिनट बाद में उसको ले कर वहां से चल दिया था
रिंकी गैलेरी में चलते चलते अपनी स्कर्ट से अपनी छूट को बार बार पूछ रही थी

मेने पूछा क्या हुआ
रिंकी यार गीली हो गई हे
में बोलै में हेल्प करू
रिंकी मुस्करा दी थी
मेने अपनी जेब से रिंकी की ब्रा निकली और उसको दी तो उसने फट से अपनी टैंगो को निच्चे तक पूछा
में समझ गया था की छूट ने बहुत पानी छोड़ा हे
फिर मेने दुबारा उससे ब्रा ले आपने जेब में रख लिया था
अब हम लिफ्ट से निचे आ गए थे और अपनी बाइक के तरफ चल रहे थे
इस समय रात के 7 बज गए थे
और जब हम बाइक के पास पहुंचे तो वह पर एक सिक्योरिटी गॉर्ड घूम रहा था
सो हम कुछ नहीं कर पाए
में रिंकी को बोलै की क्या तुम टैंगो को फैला कर बेथ सकती हो
रिंकी बोली की ट्राई करती हु
रिंकी ने मुंह पर कपडा बंधा अरु बाइक पर टांग फैला कर बैठने की कोशिश करने लगी तो उसकी स्कर्ट बिलकुल उप्पर तक हो गई थी
वो बोली नहीं अच्छा नहीं लगेगा तो मेने उसको उसकी दूसरी वाले स्कर्ट जो डिक्की में थी दे दी थी वो उसको उसी के उप्पर पहन कर टैंगो को फैला कर मुझसे चिपक गई थी

दोस्तों आप समझे मेने उसको टांग फैला कर बैठने को क्यों बोला

क्यूंकि जिससे उसकी चुत सीट से लगे और जब बाइक चले तो उसकी वाइब्रेशन से वो गर्म रहे
मेने उसका हाथ आपने पैंट की चेन के अंदर रखवा लिया था
और रिंकी बिलकुल पीछे से मुझसे चिपक कर बेथ गई थी
मेने पूछा रेडी चले
वो बोली यस रेडी
हम जब मॉल के पार्किगं पयामेंट कर रहे थे तो वह के सभी लोग रिंकी को ही घर रहे थे !

रस्ते में रिंकी ने मेरे लंड को बहुत जोर से दबा कर पकड़ा हुआ था और मुझे भी मजा आ रहा था
फिर मेने रिंकी को घर के पास ड्राप किया और आपने घर आ गया था

थोड़ी देर बाद रिंकी का कॉल आया था
की भैया अभी तक नहीं आये हे
मेने पूछा था की क्या में आ जाऊ आज तुम्हरे पास सोने के लिए
वो शर्मा गई थी और बोली नहीं बहिया आने ही वाले होंगे

मेने फिर से सेक्सी बाते शुरू कर दी थी और बातो बातो में पूछा की आज कैसा लगा तो वो बोली बहुत अच्छा
बहुत पानी गया आज मेरा
मेने कहा कहा गया मेने तो निकला ही नहीं और सुनो आज मेरी जगह तुम खुद निकलना आपने पानी मुझे समझ कर

तो वो बोली धत्त सुबह मॉल जाने से पहले तो ३ बाल निकाल कर गए थे
मेने कहा पर मॉल के बाद तो नहीं निकला न
वो बोली फिरर
मेने कहा अब तुमको निकलना हे और बताना की कैसे निकला

रिंकी बोली : आते ही सबसे पहले पानी ही निकाला था क्यूंकि जब में बाइक से उत्तरी थी तो मुझे निचे बहुत गुदगुदी हो रही थी और में सीधे घर के टॉयलेट में जा कर जैसे ही इसको मसलने लगी तो मुझसे अच्छा लगने लगा और फिर थोड़ी देर में अप्पने आप ही पानी निकल गया था
फिर बाई बोल क्र रख दिया था
आपको मेरी ये किस्सा कैसा लगा
अपनी राय जरूर दे

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!