दोस्त ने बीबी को जमकर चोदा-5

 Dost Ne Biwi Ko Jamkar Choda-5

दोनों ने एक दूसरे को देखा और मुस्कुराने लगे, उस्मान ने बोला – मालिनी क्या कॉम्बिनेशन्स है तुम्हारे और मेरे कपड़े दोनों बिलकुल सैम तो सैम है, उस्मान ने पहली बार इस तरह मालिनी को लगभग नंगी देखा था वो कभी उसकी चुत तो कभी उसकी चूचिया देख रहा था, उसका लंड अब धीरे धीरे तनने लगा था और थोड़ी ही देर में वो चड्डी फाड़ के बहार आने को बेताब हो गया

फिर उस्मान उठ कर बाथरूम में चला गया और उसने आप शर्ट्स और टी शर्ट उतार कर फ्रेंची पहन कर आ गया इधर मीनू ने भी अपनी मैक्सी उतार कर रख दी मालिनी की पेंटी जालीदार थी, मालिनी की गांड के हिसाब से पेंटी छोटी लग रही थी जो बमुश्किल उसकी चुत को ढके हुए थी यहाँ तक की उसकी चुत के बाल हलके हलके बहार दिख रहे थे और एक पतली डोरी पीछे गांड के अंदर से गई थी जिससे मालिनी की गांड पूरी नंगी दिख रही थी उधर उस्मान की फ्रेंची भी उसके गांड के बिच फासी थी और लंड ही बमुश्किल ढका हुआ था.

अब फ़ाइनल का समय आ गया था उस्मान ने मालिनी के चुत के ओठों को थोड़ा सा फैला कर अपना सुपाड़ा थोड़ा सा फसाया मालिनी के मुँह से सससससस ऐसी सिसकारी निकल गए जैसा की मैं पहले ही बता चूका हूँ की उस्मान का लंड काफी बड़ा है और तनने पर करीब ११ इंच लम्बा और ३.५ इंच चौड़ा हो जाता है, सेब के जैसे मोटे बड़े सुपाड़े से मालिनी की चुत पूरी ढक गयी थी, ये तो गनीमत था की मालिनी की चुत भरपूर पानी छोड़ रही थी इसलिए उस्मान को चुत मारने के लिए कोई लुब्रीकेंट की जरुरत नहीं थी, अब उस्मान पहले अपने लंड को मालिनी की चुत पर हल्का सा ऊपर निचे रब करने लगा.

मालिनी के मुँह से अब सिसकारियां निकल रही थी मालिनी – आआआह उउउउउह उफ्फ्फफ्फ्फ़ ईईईईई इस्स्स्सस्स, उस्मान का जोश मालिनी की सिसकारियों से और बढ़ गया उसने अब उसने मालिनी के दोनों कूल्हों को जोरो से पकड़ कर अपना लंड चुत के छेद पर लगाया, उसने अपनी गांड को पीछे करते हुए एक शानदार मारा, उसके लंड का सुपाड़ा मालिनी की चुत को चीरते हुए अंदर प्रवेश कर गया।

मालिनी के मुँह से जोरदार चीख निकल गयी उस्मान ने तुरंत मालिनी के मुँह पर हाथ रख दिया और बोला- क्या हुआ जान ज्यादा दर्द तो नहीं हो रहा.
थोडा सा पर तुम अपना काम चालू रखो मई ये दर्द सहन कर सकती हूँ मालिनी बोली
उस्मान ने ये सुनकर मालिनी के ओठों को चुम लिया अब उसने अपने को थोड़ा सा पीछे किया और एक जोरदार शॉट लगाया।
उस्मान के इस शॉट से मालिनी की आँखों के आँखों में आंसू आ गए लेकिन उसने इस बार अपने आप को काबू में रखा, इस धक्के से उस्मान का लंड मालिनी की चुत को ओठों को फैलाते हुए एक चौथाई अंदर चला गया, चुत के ओठों ने लंड को जकड़ लिया था, मालिनी अपने दोनों ओठों को मुँह में दबाकर दर्द सहन कर रही थी, उस्मान ने फिर लगातार दो धक्के लगाए और उसका लगभग १ फिट लम्बा लंड मालिनी की चुत की गहराइयों में समा गया अब उस्मान मालिनी को जोर जोर से चोदने लगा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी का बुखार उतारा

हर धक्के के साथ मालिनी आनंद के सागर में गोते लगा रही थी पुरे कमरे में मालिनी की सिसकारियों की आवाजे और चुत और लन्ड के टकराने से टप – टप, पट-पट की आवाजों से कमरा गूंजने लगा, मालिनी की सांसे धोकनी के समान चलने लगी साथ ही अब वो जोर जोर से आवाजे भी निकल रही थी आआआआह उफ्फ्फफ्फ्फ़ आइइइइइइ एससससस उईईईईई साथ ही अब उस्मान के धक्के भी काफी तेज हो गए थे मालिनी ने उस्मान को एकदम से जोरो से पकड़ लिया और वो जोर जोर आअह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह करते करते हुए फिर से झड़ने लगी.
परन्तु उस्मान के धक्को में कोई कमी नहीं आयी उसका लंड अभी भी मालिनी की चुत को बुरी तरह चोदे जा रहा था, मालिनी के झड़ने के कारण अब कमरे में पट पट की जगह फच फच की आवाजे आ रही थी, करीब १० मिनट बाद मालिनी के चेहरे पर फिर से उत्तेजना के भाव आ गए वो फिर चुदने का मजा लेने लगी, उस्मान के लंड का हर धक्का मालिनी की बच्चेदानी तक चोट कर रहा था.

अचानक उस्मान ने अपनी स्पीड बड़ा दी अब उसने मालिनी को अपनी गोद में बिठाकर धक्के देने लगा मालिनी ने अपने पैर उस्मान की कमर में लपेट लिया मालिनी अब उस्मान की गोद में ऊपर निचे होने, उस्मान मालिनी की चूची चूसने लगा वो उसके दूद पर इधर उधर चूमने काटने लगा मालिनी इन धक्को को बर्दाश्त नहीं कर और दूसरी बार भरभरा कर झड़ने लगी, मनू फिर भी नहीं रुका और वो मालिनी को जोर जोर से चोदने लगा, लगातार दो बार झड़ने के कारन मालिनी की चुत से अब काफी लसलसा, चिपचिपा पानी बहार आ रहा था।
मालिनी की चुत ने उस्मान के लंड को कस कर जकड़ा हुआ था और जब उस्मान जोर से धक्का देकर लंड बहार खींचता था तो कुछ पानी बहार आकर बिस्तर पर टपक गया था.

उस्मान मालिनी को करीब एक घंटे से चोद रहा था और मालिनी इस बिच २ बार झड़ गयी थी, पर उस्मान अभी भी झड़ने का नाम नहीं ले रहा था लगता था की ये दोनों कोई रेस में हिस्सा ले रहे हो और दोनों ही अपने फिल्ड के माहिर खिलाडी थे मालिनी झड़कर फिर से ५ मिनट में तैयार हो जाती थी तो उस्मान बिना झड़े मालिनी को कस कस के चोद रहा था. उस्मान ने अब मालिनी को पलंग के किनारे में लिटा दिया और उसकी गांड के निचे एक तकिया रख कर उसे फिर से चोदने लगा, मालिनी आह्ह्ह्हह्ह उससस ईईई इस तरह की आवाजे कर रही थी चुत भरपूर गीली होने के कारण उस्मान का १ फिट लम्बा और ३ इंच चौड़ा लवड़ा अब आसानी से अंदर बहार हो रहा था शायद उस्मान ने अपनी स्पीड को अब और तेज कर दिया शायद इंतजार की घडी अब ख़त्म होने वाली थी।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  Bhabhi Ki Mast Chudai sex

उस्मान भी अब कांपने लगा उसने मालिनी अपने से जोरो से चिपका लिया और वो अंट शंट बकने लगा जब की मालिनी भी फिर से अपने चरमोत्कर्ष पर थी वो जोर जोर से आआअह्ह्ह्हह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ आईआआआआआ इस तरह से चीखने लगी पुरे कमरे में उस्मान के धक्के जो मालिनी की चुत पर पड़ रहे थे उसके कारण फच फच फच फच, पच पच पच पच की आवाजे आने लगी और उस्मान ने भी मालिनी को माल निकलने का संकेत दे दिया और वो मालिनी की चुत में झड़ने लगा साथ ही साथ मालिनी ने भी उस्मान को जोरो से पकड़ लिया और अपने नाखुनो से उस्मान की नंगी पीठ पर खरोंच कर निशान बनाते हुए झड़ने लगी.

दोनों साथ साथ झड़ रहे थे उस्मान के झटके अब धीमे हो गए थे करीब १०-१२ झटके मारते हुए अपने वीर्य की पिचकारी पूरी की पूरी मालिनी की बच्चेदानी में उड़ेल दिया मालिनी की चुत उस्मान के वीर्य से लबालब भर गयी और ओवरफ्लो होकर मालिनी के रस के साथ मिश्रित होकर चुत से बहार उसकी जांघो तक बह रहा था, झड़ने के बाद उस्मान धम से मालिनी के ऊपर गिर गया दोनों इस जोरदार चुदाई से बुरी तरह थक गए थे।

करीब १५ मिनट दोनों ऐसे ही पड़े रहे, फिर उस्मान ने मालिनी के ओठों को चुम लिया और बोला – सच में जान तुम हर मामले में परफेक्ट हो, आज जिंदगी में पहली बार किसी औरत ने पानी निकलते हुए सहन किया बल्कि मुझे भी बुरी तरह थका दिया.
मालिनी ये सुनकर मुस्कुरा दी दोस्तों उन दोनों ने उस रात करीब ७ बार चुदाई की और करीब ९ बजे एक दूसरे की बांहो में बांहे डाल कर सो गए.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी के बर्थ-डे पर अनोखी चुदाई-3

तो दोस्तों इस तरह इस कहानी का अंत नहीं शुरुवात हुयी मैं जानबूझकर अपने काम को १० दिनों तक खीच लिया ताकि ये दोनों फुल मस्ती कर सके और इन दस दिनों में उस्मान ने भी बहाना करके ऑफिस से १० दिन की छुट्टी ले लिए, बेटी के स्कूल जाने के उस्मान और मालिनी दोनों घर में नंगे ही रहते थे, सुबह से लेकर शाम तक और रात से लेकर फिर सुबह तक दोनों बस चुदाई ही चुदाई करते थे उस्मान ने मालिनी को मनुज भाई से भी ज्यादा चोदा था.

उस्मान ने मालिनी को कम से कम ७० – ८० चोदा होगा और १०-१५ बार उसकी गांड मारी उसने मेरी बीबी को घर के हर कोने में चोदा था चाहे वो किचन हो या बेडरूम या फिर हॉल हो या बाथरूम, १० दिनों के बाद मै घर लौटा तो मालिनी बहुत ज्यादा खुश थी साथ उसका सारा यौवन खिल गया था, चुदाई आदमी के लिए कितनी जरुरी है ये मुझे अब पता चली थी मैंने अपनी कंपनी में १ माह के लिए नाईट शिफ्ट लगवा ली और मैंने उस्मान को मालिनी के साथ खुल के खेलने का मौका दिया, उधर मै कंपनी में नाईट शिफ्ट करता था और इधर उस्मान मेरी बीबी की चुत मारने की शिफ्ट करता था. मै जब रात में कंपनी चला जाता तो उस्मान मेरे फ्लैट पर आ जाता था फिर उस्मान मेरी बीबी को पकड़ कर रात भर चोदता था. इन दिनों मालिनी एक बार गर्भवती भी हो गई थी लेकिन दोनों ने मुझे बताये बिना ही बच्चा गिरा दिया.

पिछले एक महीने से मेरी शिफ्ट दिन की हो गई तो उस्मान ने अपनी शिफ्ट नाईट की करवा ली और अब वो दिन भर मेरे घर आने तक मेरी बीबी को चोदता है, यहाँ तक की जब मै दिन में ऑफिस में कहानी लिखता हूँ तो भी वो मेरी बीबी की चुदाई में व्यस्त रहता है.
दोस्तों कहानी ज्यादा लम्बी ना हो जाये इसीलिए मैं “मालिनी के उस्मान के द्वारा गांड मराने की दास्ताँ”बाद में प्रेषित करूँगा.
तो दोस्तों आपको मेरी बीबी और मेरे दोस्त के बिच चुदाई की ये सच्ची कहानी कैसे लगी ये कहानी पढ़कर मेरी माताए, बहने, भाभी, चाची आदि महिलाये और साथ ही मेरे भाई, बांधव, दोस्त आदि कितने बार झड़े मुझे लिखकर जरूर बताया मेरा मेल आईडी है – [email protected]
आपका
जगत

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!