एकदम गुलाबी चूत

Ekdum Gulabi Chudt

हाय दोस्तो, मेरा नाम अभय है।

मैं थोड़ा शर्मिला हूँ और राजस्थान के जोधपुर में रहता हूँ।

मैं बीए फाइनल का स्टुडेंट हूँ।

तो अब मैं अपनी कहानी पर आता हूँ।

बात तब की है जब मैं बाहरवीं में था, उस समय मेरी चाचा की बेटीयों की शादी थी।

हम सब गाँव 8-10 दिन पहले गए थे। घर में काम करने के लिये औरतें कम थी, इसलिए मेरी चाची अपने गाँव से अपनी किसी रिश्तेदार की लड़की को लाईं थी।

दिखने में वो एकदम सिंपल सी थी, किसी तरह के फैशन में कोई इंटरेस्ट नहीं था पर इतनी तेज निकलेगी पता नहीं था।

हमारी बातों का सिलसिला पहले दिन से शुरू हो गया था। धीरे-धीरे हम काफी खुल गए थे। कोई भी बात हो, हम शेयर करते थे।

एक बार हम अकेले छत के कमरे में बैठे बात कर रहे थे कि पता नहीं मुझे क्या हुआ कि मेरा लण्ड खड़ा हो गया।

और उसकी नजर ना जाने, कब मेरे लण्ड पर पड़ी मुझे पता ही नहीं चला। बोलते-बोलते जैसे ही मेरी नजर उस पर पड़ी तो मैंने देखा उसका ध्यान कहीं और है, वो मेरे हथियार को देख रही थी।

मुझे थोड़ी शर्म आ गई और मैंने अपने लण्ड पर हाथ रख लिया।

मेरे हाथ रखते ही वो मेरे पास आकर बोली – मुझे ये देखना है। अब मेरी हालत देखने लायक थी, मेरा चहरा लाल हो चूका था।

मैं खड़ा हो कर जाने लगा तो उसने मेरा हाथ पकड कर अपने करीब खींच लिया और मेरी आँखों में ना जाने क्या तलाश करने लगी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  एक कमसिन लड़की के साथ सेक्स

मैं कभी ऊपर देखता कभी नीचे, मैं उससे नजर नहीं मिला पा रहा था कि तभी उसने मेरे होंठों पर किस करना शुरु कर दिया।

कुछ देर बाद मुझे होश आया, उसके बाद तो न जाने मेरी शरम कहाँ चली गई और मैं भी उसका साथ देने लगा।

अब तक हम दोनों काफी गर्म हो चुके थे।

कुछ ही देर मैं उसके सारे कपड़े निकाल चूका था, केवल पैंटी को छोड़ कर। वो इस रूप में क्या लग रही थी, मैं क्या बताऊँ?

मन तो कर रहा था बस उसे ऐसे ही देखता रहूं, कयोंकि मैंने पहली बार किसी लड़की को इस हालत में देखा था।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने उसे बेड पर लेटाया और मैं उसके बूब्स को सहलाने और चूसने लगा।

वो भी अपने एक हाथ से मेरे लण्ड को हिला रही थी और फिर मुँह में ले कर चूसने लगी।

थोड़ी ही देर में मैं और वो दोनों एक साथ झड गए।

कुछ देर बाद मेरा लण्ड फिर 7 इंच का हो गया।

जैसे ही मैं उसकी चूत में अपना लण्ड डालने लगा तो वो बोली – मैंने भी तो आपका लण्ड मुँह में लिया था, तो क्या आप मेरी चूत को नहीं चाटोगे?

अब मैं सोचने लगा कि यार अभय ये जहाँ से सुसु करती है उस जगह को कैसे चाट सकते है, मुझे मन ही मन में घिन आ रही थी।

मैंने हाँ तो कर दी पर मैं आंख बंद करके अपना मुँह उसकी चूत पर ले गया, और जैसे ही आँख खोली तो उसकी चूत को देखता ही रह गया एक तो अनछुई चूत और ऊपर से उस पर एक भी बाल नहीं।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  शादी का मंडप और चुदाई-2

एकदम गुलाबी चूत।

अब मैं उसकी चूत को जीभ से चोदने लगा, मुझे इतना मजा आ रहा था कि क्या बताऊँ, बहुत देर की चूमा-चाटी के बाद मैंने उसकी चूत पर लण्ड रख कर धक्का मारा, तो वो चिल्ला पड़ी और कहा – थोडा तेल लगाओ और फिर करो।

फिर मैने उसकी चूत और अपने लण्ड पर तेल लगाया और एक जोर का धक्का मारा। लेकिन इस बार मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए थे जिससे उसकी आवाज बाहर नहीं जा सकी।

उसे बहुत दर्द हो रहा था और आँख से आंसू भी निकल रहे थे। थोड़ी देर मैं उसके ऊपर ऐसे ही लेटा रहा, मेरा लण्ड उसकी चूत में ही था।

कुछ देर बाद उसका दर्द कम हुआ, इस बार मैंने थोडा और ज्यादा जोर लगा के धक्का मारा तो मेरा पूरा का पूरा लण्ड उसकी चूत में जा चूका था।

थोड़ी देर बाद उसे भी मजा आने लगा था और वो मेरा पूरा साथ दे रही थी। करीब 20 मिनट बाद मैं उसकी चूत में ही झड गया और इस बीच वो 2 बार झड चुकी थी।

फिर हम दोनों ने एक दुसरे को चूमा और अलग हो गये।

उसके बाद तो मेरा लण्ड एक दम छिल गया था। 2-3 दिन तक तो अंडरवेयर भी नहीं पहनी।

तो फ्रेंड्स कैसी लगी मेरी कहानी जरुर लिखे –

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!