ऑफिस सेक्स टूर की हिंदी कहानी

Office tour sex story in hindi, हेलो दोस्तो मेरा नाम सुमित है और मैं देल्ही से हू.मैं 22 साल का हू और दिखने में हेल्ती हू और नॉनवेज स्टोरी का रेग्युलर रीडर हू. ये मेरी पहली कहानी है जो 2 महीने पहले की है जो विसखापट्नम में हुई.मैं चेन्नई से विसखापट्नम ऑफीस के काम से गया था 9 दिन क लिए. पहले 2-3 दिन तो ऑफीस क काम में निकल गये. मैं एक दिन अपनी ऑफीस से लौट रहा था ऑटो से. वो शेरिंग ऑटो थी. एक लड़की ऑटो में आई दिखने में कुछ ख़ास न्ही थी. थोड़ी देर बाद जब ऑटो में मैं और वो ही बैठे थे तो उसने ऑटो ड्राइवर से र.क.बीच क बारे में पूछा. उसके बात करने क तरीके से मुझे लगा क वो बिंगाली है. मैने सोचा की उससे बात करू पर दर्र लग रहा था. फिर मैने उससे दर्र क उससे पूछा मे : क्या आप बिंगाली हो ? वो : हा मे : मैं भी बिंगाली हू मे : कहा से हो आप ? वो : खरगपुर वो : आप कहा से हो ? मे : देल्ही फिर उसने अपना नाम श्रेया बताया और उसने बताया की वो रेलवे में जॉब करती है. वो विसखापट्नम घूमने आई है.

कुछ देर हुँने बात न्ही की. फिर हम दोनो र.क.बीच पहुचे. तब मैने उससे पूछा मे : क्या मैं आपके साथ घूम सकता हू ? तो उसने कुछ देर सोचा और कहा ठीक है. फिर ह्म वाहा एक मंदिर में गये. उसके बाद तोड़ा चलने क बाद ह्म वाहा बीच पर बैठे तब उसने बताया की वो यहा 4 दिन और है. तो मैने उससे पूछा की क्या ह्म साथ में विसखापट्नम घूम सकते है तो उसने हा कहा फिर हुँने और थोड़ी देर बात की टाइम का पता ही न्ही चला 9 बाज गये. उसको अपने होटेल जाना था तब मैने उससे पूछा क कल कही घूमे चले तो उसने कहा कल बतौँगी तब मैने उसका नंबर माँगा तो उसने माना किया. मैने दोबारा उससे माँगा तो उसने मेरा नंबर माँगा जो मैने उसे दे दिया. कुछ देर बाद ही मुझे अननोन नंबर से कॉल आया. मैने कॉल रिसीव तो पता चला क श्रेया है. फिर हुमारी बात हुई. उसके बाद दो दिन घूमे फिर शाम को र.क.बीच में बैठे बात कर रहे थे तब मैने उसे प्रपोज़ किया तो उसने कहा सोच क बतौँगी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बॉस के साथ ऑफिस मैंने सेक्स किया मैंने-2

फिर रात को जब मैने उसे कॉल किया तो उसने हा कहा फिर रात हुमारी बात हुई और मैने उसे अगले दिन गेस्ट हाउस आने को कहा और वो मान गयी. मैं अगले दिन उसका वेट कर रहा था. उसका कॉल आया क वो आ रही है . फिर 10मीं बाद वो आई. मैने उसे अंदर बुलाया और दरवाज़ा लॉक किया. और उसे गले लगाया. उसने भी मेरा साथ दिया. थोड़ी देर बाद हम अलग हुए और त.व देखने लगे.फिर त.वमें एक किस सीन आया तो मैने भी उसे कहा की मुझे एक किस दो. तो उसने कहा आँखें बंद करो मैने किया तो उसने मेरे लिप्स पे किस किया. मैं तो हैरान हो गया क्यूकी मैने सोचा था क वो मेरे गाल पर किस करेगी. फिर मैने भी उसे बहो में भर लिया और स्मूच करने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी. हुमारा स्मूच कुछ देर चला मुझे बहुत मज़ा आया उसके होत चूसने में. फिर मैं उसे बेड रूम में ले गया और उसको फिर से चूमने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी. मैं उसके गले को कंधे को चूमने लगा और वो अजीब सी आवाज़े निकालने लगी.

मैं उसके बूब्स को सहलाने लगा और धीरे धीरे दबाने लगा. फिर मैने उसको बेड पर लेटया और उसके उपर चाड क एक दूसरे को प्यार करने लगे. मुझे उसके सलवार में हाथ डालने में तकलीफ़ हो रही थी क्यूकी उसके सलवार बहुत टाइट था तो मैं पीछे से उसके सलवार का चैन खोला तो वो मुझे धक्का देने लगी पर दे न्ही पाई और मैने सलवार खोल दिया और ब्रा क उपर से उसके बूब्स दबाने लगा तो वो धीरे धीरे सिसकिया लेने लगी. उसने वाइट ब्रा पहनी थी मैने वो वाइट ब्रा भी निकल दी तो वो अपने हाथ से छुपाने लगी. मैने उसका हाथ हटाया और एक बूब्स को चूसने लगा और दूसरे को हाथ से दबाने लगा. फिर उसका हाथ अपने लंड पे रखा जो पहले से खड़ा था . मैं अपना बॉक्सर निकाला और उसका हाथ अपने लंड पे रख दिया जिसे वो बड़े प्यार से सहलाने लगी क्यूकी उसका पहली बार था तो उसको समझ में न्ही आ रहा था क क्या करे. मैने कभी साइज़ न्ही मापा पर एक लड़की को सॅटिस्फाइड करने में हुमेशा सफल रहा है. खैर कहानी पे आता हू मैने उसे कहा क वो मेरा लंड उपर नीचे करके हिलाए तो वो हिलने लागी और मैं उसके बूब्स चूसने और दबाने लगा और ऐसे मैने दोनो बूब्स को चूसा और धीरे धीरे नीचे जाने लगा और उसके सलवार का नडा खोल दिया उसने वाइट पनटी पहनी थी. मैने पनटी क अंदर हाथ डालके उसकी छूट को हाथ लगाया तो वो तड़प उठी. मैं पहले उसकी छूट को सहलाने लगा तो वो मुझे स्मूच करने लगी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  सर की ऑफिस में गार्गी की चूत

फिर मैने उसके छूट में उंगली डाली तो मुझे पता चला की वो वर्जिन है. मैने पहले भी सेक्स कर चुका हू कई लड़कियो क साथ पर आज पहली बार वर्जिन लड़की को छोड़ने वाला था. तो मैं खुश हुआ और उसके बाद उसकी छूट चाटने लगा वो पहले माना करने लगी उसने कहा की ये गंदा है पर मैं न्ही माना और छूट चाटने लगा. वो मेरे बालो में हाथ घूमने लगी फिर मुझे लगा की सही वक़्त है छोड़ने का तो मैं उसके उपर आया और लंड घिसने लगा तो वो समझ गयी अब वो चूड़ने वाली है. उसने मुझे रोका और कॉंडम लगाने क लिए कहा मेर पास कॉंडम न्ही था तो मैने कहा की ऐसे ही करते है मज़ा आएगा पर वो न्ही मानी. फिर मैने भी ज़बरदस्ती करना सही न्ही समझा . मैं उसके छूट को फिर से उंगली से छोड़ने लगा और वो मेरा लंड हिलाने लगी थोड़ी देर बाद उसकी सिसकिया बड़ाने लगी और उसकी बॉडी कापने लगी और वो झाड़ गयी. मैं अभी भी न्ही झाड़ा न्ही था.

थोड़ी देर लेते रहने क बाद जब वो ठीक हुई तो मैने उससे लंड मु में लेने को कहा तो वो माना करने लगी और कहने लगी की ये गंदा है. फिर मैने उसे समझाया की सेक्स करने में सबसे ज़्यादा मज़ा आता है एक दूसरे क प्राइवेट पार्ट्स को चूसने में तो वो मान गयी और लंड हाथ में लेके पहले तो किस किया बाद में धीरे धीरे चूसने लगी. मैंभी उसका सर पकड़के उसके मु को छोड़ने लगा करीब 10 मीं मु छोड़ने क बाद मैं झाड़ गया उसके मु में तोड़ा वो पी गयी और तोड़ा उसके फेस पे लगा था. थोड़ी देर लेतेरएहने क बाद हम एक साथ फ्रेश हुए और एक दूसरे को कपड़े पहने और घूमने निकल गये. मैने उसे अगले दिन कैसे छोड़ा वो अगले पार्ट में बतौँगा. जैसे की मैने पहले ही बताया क मैं पहले भी कई लड़कियो को छोड़ चुका हू तो अगर कोई भाभी, आंटी या कोई भी लड़की मुझसे सेक्स करना चाहती हो या सॅटिस्फाइड होना चाहती हो तो मुझे मैल करें चिल्लीमिल्ली[email protected]गमाल.कॉम ये मेरी गमाल और फ़ेसबुक ईद दोनो है. प्ल्ज़ मेरे कहानी पे कॉमेंट दे और सेक्स करने क लिए कॉंटॅक्ट करें आपकी ईद कॉन्फिडेन्षियल रहेगी.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!