पोस्ट ऑफिस में मरवाई गांड

Post office me marwai gaand

मैं एक पंजाब का मद मस्त लौंडा हूँ और यहाँ पर लोग मुझे बड़े पाजी के नाम से जानते हैं।

यूँ तो लाइफ मैं कई हसीनाओं की चूत और गांड फाड़ी है, पर एक दिन ऐसा हुआ जो मैंने कभी नहीं सोचा था।

मुझे एक पैंतीस साल के आदमी की गांड फाड़ने का मौका मिला।

अब ज्यादा नहीं बोर करूँगा आपको, सीधे कहानी पर आते हैं।

मैं जालंधर में अपने परिवार के साथ रहता था।

गर्मियों की छुट्टी का समय था तो मुझे पासपोर्ट बनवाने की सूझी, पापा ने मुझसे कहा कि एक दिन पोस्ट ऑफिस जा कर अपने लिए पासपोर्ट का फॉर्म ले आना।

दोपहर करीब एक बजे का टाइम था, मैं पोस्ट ऑफिस पहुँचा।

वहाँ एक पैंतीस साल का आदमी बैठा था।

उसने मुझसे पूछा – बोलो पाजी, कैसे आना हुआ?

मैंने कहा – मुझे पासपोर्ट फॉर्म चाहिये।

उसने बताया कि फॉर्म तो खत्म हो गए है, अंदर शायद कोई फॉर्म पड़ा हो।

वो फॉर्म देखने अंदर चला गया।

वहाँ पहुँच कर उसने मुझे आवाज़ लगाई और कहा कि जूते उतार कर पीछे की तरफ आओ।

मैंने अपने जूते उतारे और उसकी तरफ जाने लगा।

वो पीछे एक छोटे से कमरे मे फॉर्म ढूंढने की कोशिश कर रहा था, कमरा बहुत छोटा था।

मैं दरवाजे से अंदर आने की कोशिश करने लगा तो उसकी छुई-मुई सी गांड मेरे लंड से टकरा गयी।

मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया और अंदर चला गया।

मेरे जाते ही वो आधा सीधा और आधा झुका हुआ खड़ा हो गया।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Chachi ka Gandu Beta

वो बार-बार जान बुझ कर अपनी गांड मेरे लंड से लगा रहा था।

मेरी साँसे थम चुकी थी, और मुँह सूख गया था और लंड भी खड़ा हो चूका था।

इतने में उसने अपना हाथ मेरी जीन्स पर से लंड पर रख दिया था और धीरे-धीरे सहलाने लग गया था।

मैं अपने आपे से बाहर हो रहा था।

मन तो कर रहा था की पूरा लंड उसके मुँह मै डाल दूँ।

तभी उसने मेरी जीन्स का हुक खोल दिया और मेरी चड्डी पर से लंड को पकड़ लिया।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर उसने मेरी और देखा और कहने लगा कि बहुत मस्त लंड है मेरा।

मैं कुछ नहीं बोला और वो फिर से अपने काम पर लग गया।

अब वो नीचे जमीन पर बैठ कर चड्डी के ऊपर से मेरे टटटे मुँह में ले रहा था।

मेरे से और बर्दाश्त नहीं हुआ और मैंने अपनी चड्डी नीचे करके लंड उसके मुँह में दे दिया।

वो पूरे शौक से पूरा लंड मुँह में ले गया।

कभी वो लंड को मुँह में ऊपर नीचे हिलाता कभी लंड को बाहर निकाल कर हाथ से मुठ मरता और टटटे को मुँह में भर लेता।

अब मैं भी चरम पर था।

मैंने उसके बाल पकड़ लिए और उसका चेहरा लंड की ओर कर दिया।

फिर जोर-जोर से लंड को अंदर-बाहर करने लगा।

उसने भी अपने दोनों हाथ मेरे कुल्हों पर रख दिए और मुझे जोर से जकड लिया।

मैंने कहा – तुम्हारे मुँह में निकल जायेगा।

वो कुछ नहीं बोला और बस मेरे लंड को मुँह में आगे-पीछे करता रहा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  असली गांडू हूं मैं

उसके बाद उसने अपनी पैंट उतारी और पीछे से मेरे लंड को पकड़ कर अपनी गांड पर सेट करने लगा।

मैंने भी बिना देर किये पूरा लंड उसकी गांड मै डाल दिया।

उसके मुँह से आह आह एह एह ई ई ओह सी की आवाज़ निकलने लगी।

मैं भी जोर-जोर से धक्के मरने लगा और पीछे से हाथ आगे लाकर मैंने उसके छोटे से लंड को पकड़ लिया फिर उसका लंड भी हिलाता रहा और झटके भी मरता रहा।

अब हम दोनों एक साथ झड चुके थे।

उसने वीर्य साफ़ किया और वहाँ से बाहर आ गया।

मैंने भी अपनी पैंट उप्पर की और उसके पीछे ही बाहर आ गया।

उसने मेरा नंबर लिया और मैंने उसका।

फिर मैं फॉर्म लेकर वहाँ से चला गया और मुलाकातें तो अभी भी जारी है।

अपनी राय मुझे अवश्य बताएं –

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!