बैंक में सेक्स किया कैशियर के साथ

(Bank Mein Sex Kiya Sexy Cashier Ke Sath)

मेरा AXIS बैंक में अकाउंट है तो इसी सिलसिले में मेरा काफी बार बैंक में आनाजाना होता है. काफी बार आने जाने की वजह से बैंक का स्टाफ मुझे पहचानता है और अच्छी बनती है मेरी. उसी बैंक में एक लेडी कैशियर है जिसका नाम नम्रता है. वो करीब 30-32 साल की है. और उसका बदन ऐसा है की जो भी उसे देखे तो देखता ही रह जाए ! Bank Mein Sex Kiya Sexy Cashier Ke Sath.

नम्रता का फिगर 34 30 36 के करीब होगा और वो दिखने में बॉलीवुड के हसीन माल माधुरी दिक्षीत के जैसी ही लगती है. मैं जब भी नम्रता के पास जाता तो उसको देख के मेरा तो लंड ही खड़ा हो जाता था. आप यह हॉट हिंदी सेक्सी कहानी HotSexStory.xyz पर पढ़ रहे है |  दिल करता था को उसको बैंक के अंदर ही नंगा नाच करवा के  सब के सामने उसकी चूत चाट के चोद लूँ |  मेरे साथ वो हाई हल्लो करती थी जब भी मैं उसके पास जाता तो. और मैं उसकी तारीफ़ करने का एक भी मौका अपने हाथ से जाने नहीं देना चाहता था. वो भी मुझसे स्माइल दे के बात करती थी.

ये चुदाई होने से पहले मैं नम्रता के पास गया. और उस दिन भी मैंने उसकी तारीफ़ की. इस बार वो कुछ ज्यादा ही अच्छे मूड में थी. वो भी अच्छी तरह से मेरे बातों का जवाब दे रही थी. उसने बातो बातो में ही बोल दिया की शिखर आप सिर्फ तारीफ तारीफ़ ही करोगे या!

बस इतना ही बोल के वो चुप हो गई.  मैं भी स्मार्ट लौंडा हूँ और उसका मतलब मैंने झट से पकड लिया. मैंने उसे फटाक से कहा अरे मेडम जी कभी हमें मौका दे के तो देखो, जो करेंगे वो तारीफ़ से लाख गुना बहतर होगा. वो हंस पड़ी. मैंने कहा मुझे तो कब से आप की सेवा करनी है वैसे.                                                          “Bank Mein Sex Kiya”

उसने मेरा मोबाइल नम्बर माँगा और उसने भी अपना मोबाइल नम्बर मेरे को दे दिया. बैंक का काम निपटा के नम्रता को बाय कह के मैं चला गया. उसके चहरे से टी लगता था की वो भी अट्रेकट थी और शायद लंड लेने की जुगाड़ में थी.

उस दिन उसका कॉल नहीं आया तो मैंने रात को पोर्न मूवी देखी एक बिग बूब्स वाली लेडी की और नम्रता के नाम का ही जर्क ऑफ कर लिया. फिर 2 दिन के बाद शनिवार था. किसी अनजान नम्बर से कॉल आया. मैंने उठाया तो लेडी की आवाज थी. मैंने कहा हाँ कौन चाहिए?

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Maahwaari Problem wali Ladki ko Choad kar Rakhel banayi

वो बोली अरे शिखर जी मैं नम्रता AXIS बैंक से? मैंने कहा सोरी आप का नम्बर एड नहीं ये वाला इसलिए. वो बोली क्या आज शाम को आप फ्री हो? क्या आप मेरे घर पर  आ सकते हो एक पालिसी के बारे में आप से बात करनी थी कुछ? मैंने भी झट से हाँ बोल दिया और उसका एड्रेस ले लिया. नम्रता ने मुझे अपना एड्रेस टेक्स्ट किया था और उसने मुझे शाम को 7 बजे के बाद उसके घर पर आने के लिए कहा था.

मैं समझ चूका था की आज मेडम का पक्का मूड बना हुआ था मेरा लंड लेने का इसलिए ही बुलाया है मुझे. शाम को उसके बताये हुए टाइम पर मैं उसके घर जा पहुंचा और वो भी मेरी ही वेट कर रही थी.

मैंने घर के सामने से उसे कॉल किया और बताया की मैं बाहर खड़ा हूँ. तो वो बाहर आई और मेरे को अन्दर बुलाया. वो वहां पर किराए के मकान में रहती थी. उसका हसबंड भी सरकारी जॉब करता था और वो किसी दुसरे जिल्ले में पोस्टेड था. वो हर शनिवार को नम्रता के पास आता था. लेकिन इस बार किसी सरकारी काम में उलझे होने की वजह से वो नहीं आनेवाला था.                       “Bank Mein Sex Kiya”

उनका कोई बच्चा नहीं था और उनकी शादी को 7 साल हो गए थे. मैं वही सोफे पर बैठ गया. नम्रता कोफ़ी लेकर आ गई और उसने अपनी पालिसी के बारे में बात करना चालू कर दिया. बातो बातो में वो अपने बारे में भी सब कुछ शेयर कर रही थी.  और उसने मुझे बोला की उसका हसबंड उसे बच्चा नहीं दे सकता है और ये कह के वो रोने लगी. मेरे को भी अच्छा नहीं लगा मैं अपनी जगह से उठा और उसके सोफे पर जा के उसके एकदम करीब बैठ गया. और उसके कंधे पर हाथ रख के नम्रता के आंसू पोंछ दिया मैंने.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

नम्रता ने अब अपना सर मेरी गोदी में रख दिया. मेरा भी होश्ला बढ़ चूका था. और उसके सर पर हाथ फेरते फेरते मैने उसका कंधे के ऊपर किस कर दिया. वो कुछ नहीं बोली और मेरी हिम्मत को और गति मिल गई. अब मैं उसके बालों को ठीक करते हुए उसे किस करने लगा. वो भी रिस्पोंस देने लगी थी. मैंने उसको उठा कर अपनी गोदी में बिठा लिया और उसकी चूची को स्यूट के ऊपर से ही दबाने लगा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी के देवर की हवस मिटाई चूत चुदवा कर

मैंने ऐसे ही कुछ देर तल उसे लिप किसिंग की और उसकी चूची को दबाता रहा. मैंने अब उसे अपने कंधे के ऊपर उठा लिया और उसे बेडरूम में ले के चला गया. वो भी मेरे गले  में हाथ डाले हुए थी और मेरे होंठो को चूस रही थी. मैंने उसके बेड के ऊपर उतारा और वो झट से गई और उसने दरवाजा लोक कर लिया. और फिर मेरे पास आकर खड़ी हो गा. वो कुछ शर्माने लगी. मैंने फिर से लिप किसिंग चालू कर दी. और उसके पेट के ऊपर हाथ फेरना भी चालू कर दिया. वो थोड़ी थोड़ी गरम होने लगी. मैंने खड़े खड़े उसके स्यूट को ऊपर उठाया और सलवार का नाडा खोल दिया. और उसके कंधे पर  किस करता रहा.                                      “Bank Mein Sex Kiya”

और फिर मैं धीरे धीरे निचे की तरफ बढ़ने लगा. मैंने एक हाथ उसकी चूत के ऊपर रख दिया और पेंटी के ऊपर से ही उसकी गीली चूत को सहलाने लगा. और दुसरे हाथ से उसके चुचियों को दबाने लगा. वो सिस्कारियां ले रही थी अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह प्लीज शिखर प्यार से मेरी जान्न्न अह्ह्ह्ह अह्ह्ह. मुझे भी बड़ा मज़ा आ रहा था. पांच सात मिनिट के बाद मैंने उसके स्यूट को ऊपर उठा के निकाल दिया. अब वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी. उसकी पेंटी गीली हो गई थी. मैंने भी अपने कपडे उतारना चालू कर दिया. और मैं सिर्फ अंडरवियर में हो गया.

मेरे लंड ने अंडरवियर को तम्बू के जैसे ऊपर किया था था. नम्रता ने खड़े खड़े अंडरवियर के ऊपर से मेरा लंड पकड़ा और वो हाथ फेरने लगी. और वो बोली जानू आप का तो लंड काफी सेक्सी और लम्बा है. और उसने बताया की उसके हसबंड का लंड मेरे से ऑलमोस्ट आधा ही था. और फिर उसने अंडरवियर को खोल के लंड को देखा और खुश होते हुए बोली, आज मेरी पुसी को असली लंड का मज़ा आएगा मेरी जान!

मैंने उसके कंधे पर थोडा धक्का दे के उसे घुटनों पर बिठा दिया. नम्रता ने मेरे सुपाडे को हलके से किस किया. उसने पूरा अंडरवियर निकाल दिया और वो लंड को मस्ती से चूसने लगी. मेरे को तो इतना मजा आ गया की बस क्या कहूँ आप लोगो को! 15 मिनिट तक वो कभी लंड को तो कभी अंड को चुस्ती थी. और अब मैं झड़ने की कगार पर आ चूका था. आप यह हॉट हिंदी सेक्सी कहानी HotSexStory.xyz पर पढ़ रहे है | मैंने उसको बोला की नम्रता मेरे लंड का पानी निकलने को है. लेकिन उसने कोई ध्यान नहीं दिया और मेरा माल उसके मुहं में ही छुट गया. वो मेरा पूरा माल पी गई और मेरी तरफ देख के मुस्कुराने लगी.                                “Bank Mein Sex Kiya”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  BABITA ji (TV serial wali) ki Chudai kari.

मैंने उसे निचे से उठाया और उसकी ब्रा खोल दी और पेंटी भी उतार दी. और उसको एक टांग पर खड़े कर के दूसरी टांग को बेड पर रख दी. और मैं निचे बैठ कर उसकी चूत को लिक करने लगा. क्या मस्त चूत थी बिलकुल बाहर को निकली हुई. मैंने पहला उसकी चूत के दाने पर किस किया और फिर दाने को होंठो से पकड़ के चूसने लगा. नम्रता बहोत ज्यादा गरम हो गई थी. उसने बताया की मेरे पति ने कभी मेरी चूत को ऐसे प्यार नहीं दिया.

मैं उसको पूरा मजा दे रहा था और जोर जोर से उसकी चूत को स्लर्प साउंड के साथ चाटने में बीजी था. मैंने चूत की लिप्स को एक साथ पकड कर अपनी जबान अन्दर डाली और पूरा अन्दर तक चूसने लगा. नम्रता अब तो पूरी पागल ही हो उठी थी. और वो मेरे सर को पकड कर अपनी चूत पर रगड़ रही थी. और कुछ ही देर में उसकी चूत को चाट चाट के मैंने उसे झडवा दिया. मैंने भी उसके नमकीन बटर के टेस्ट वाले चूत के पानी को पी लिया. और उसको देखा तो वो एकदम खुश नजर आ रही थी मेरे को.                               “Bank Mein Sex Kiya”

अब हम दोनों बेड पर लेट गए और सेक्सी बातें करने लगे. उसने बताया की मेरा पति 15 दिन बाहर रहेगा इसलिए इन 15 दिनों में तुम मुझे डेली आ के चोदना. और मेरे लंड की तरफ इशारे से वो बोली, मैं जानती हूँ की मुझे प्रेग्नेंट करने के लिए यही पेनिस काम में आएगा!


tage- bank sex, bank chudai, sex in bank, bank girl sex, bank ladki chudai, sex ki rani, indian bank sex, desi bank sex, axis bank sex, sbi bank sex, hdfc bank sex, hot sex bank, chut bank, ass bank, pussy bank, nude bank, aunty sex bank, sex in the bank, boobs bank, chudai bank, sexy bank

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!